Month: October 2017

आई लव यू माय ब्रदर

मैंने कहा बस नकुल अब चोद दो मुझे पूरा कर लो अपनी हसरत, मैं तुम्हारी हु आज रात के लिए, जो मर्ज़ी कर लो मेरे साथ मैं तुम्हारी हु, डिअर, आई लव यू माय ब्रदर, वो मुझे गोद में उठा लिया और पलंग पे लिटा दिया, मेरे बूर में खुजली हो रही थी

करवाचौथ का उपवास ससुर से चुदाकर तोड़ी

करवाचौथ का उपवास ससुर से चुदाकर तोड़ी अब क्या करू जब कुछ नहीं है तो यही सही मेरी प्यास मिटाने के लिए कोई नहीं है तो मैंने भी सोच लिया मै भी अपने ससुर से सेक्स करुँगी और मेरे ससुर अभी भी बहुत तगड़े है मस्त चुदाई करते है मेरी चुत चाटते है कभी गांड में अंगुली करते है तो कभी चुत में जीभ डालते है |

मेरी माँ और दोनों बहने – 3

मेरी माँ और दोनों बहने – 3, मैं भी कांप उठा मा ने चूत को टाइट कर ली और मैं भी उसे जकड़ता हुआ लंड और भी अंदर डालने की कोशिश की मेरे बॉल्स और जाँघ उसकी चूत से चिपक गये मैं बिल्कुल मा के अंदर था उस से चिपका उस से लीप्टा उसके होंठ चूम रहा था उसकी चुचियाँ मसल रहा था और दोनो लिपटे थे

पहली बार दोस्त की गांड को चोदा

पहली बार दोस्त की गांड को चोदा, छोटे बच्चो की तरह वो मुझे खींच रहा था। बच्चे तो सोने के लिए खींचते है। मै भी थोड़ा दबता था। क्योंकि उसी के घर में फ्री में रहता था हम दोनों ही बनियान और पैजामे में बिस्तर पर बैठे हुए थे। चिन्मय मुझे बहुत ही हवस की नजरों से मेरी तरफ देख रहा था मुझे उसकी गन्दे इशारे करती नजर बिलकुल ही अच्छी नहीं लग रही थी

घूँघट मे बहन के साथ सुहागरात

हम भाई बहन यह देखकर दंग रह गये कि सचमुच ही ये दोनों सुहागरात मना रहे हैं। हमने एकदूसरे की आंखों में देखा और फिर करीब आते चले गये मैंने उसकी साड़ी पकड़ कर खींचकर निकाल दी और बहन को अपनी गोद में बैठकर उसे बूब्ब दबाने लगा।

मेरी माँ और दोनों बहने – 2

मेरी माँ और दोनों बहने – 2, इस कहानी में भी आप एक ऐसी भाई बहन की चुदाई पढ़ने वाली है जिसमे एक ही लड़का अपनी माँ और बहन दोनों की ही चुत मारकर सेक्स के मजे लेता है सेक्स में सबसे बेहतर माँ और बहन की चुत मारना दोनों मर ही बहुत मजा आता है

दोस्त की दीदी को अपनी दीदी बनाकर चोदा

दोस्त की दीदी को अपनी दीदी बनाकर चोदा दोस्तों क्या बताऊ क्या क़यामत माल थी सुस्मिता उसकी चुत के मत पूछो जैसे गुलाब की पंखुडियो जैसी एकदम गुलाबी कलर की जैसे गुलाब हो जैसे ही मैंने सुस्मिता की चुत का दर्शन किया मेरा लंड सलामी देने लगा आप खुद ही पढ़ लीजिये |

गरम-गरम मलाई से भरपूर चूत मुझे अब जन्नत सी लग रही थी

उनके ये करने से मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा। मैने उनकी नशीली चूत को चाट कर अपने थूक से चिकना किया। वैसे उनकी चूत बहुत मक्खन सी मुलायम और मलमल सी चिकनी थी। वो गरम-गरम मलाई से भरपूर चूत मुझे अब जन्नत सी लग रही थी जिसको अब चोदना बहुत ज़रू

मेरी माँ और दोनों बहने – 1

मै मम्मी और मेरी दोनों बहनों का चुदाई वाला खेल रोज होता है दोस्तों तो मैंने भी सोचा क्यों ना अपनी कहानी आप सभी के समक्ष रखु और मुझे मस्ताराम डॉट नेट की सभी कहानियां बहुत पसंद है इसीलिए मैंने मस्ताराम के माध्यम से आप सभी के बिच अपनी कहानी पंहुचा रहा हूँ |

सेक्स का खेल – 8

नीलू से अपने लंड को चुसवाने की बात सुनकर वो दुगनी लगन से उसकी चूत और गांड को अपने हाथ की उंगलियो से चोदने लगा कुछ ही देर मे वो झड़ गयी सुबह से उसके जिस्म में जो सैक्सुअल टेन्षन बन रही थी वो सिर्फ़ एक मिनट में ही निकल गयी |