Category: सबसे लोक़प्रिय कहानियाँ

पिछले महीने की सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली कहानियाँ

Sabase jyada pasand ki jane vali kahniyan

Best and Most popular stories published in previous month

चोद चोद गांड पर वीर्य गिराते जाता

मोनीका के बदन के मजे लिए जब उसकी चूत से पानी बाहर छूटने लगा तो मैं भी झडने वाला था मैंने अपने वीर्य को मोनीका की गोरी गांड पर गिरा दिया। हम दोनों ने अपने कपड़े पहन लिए हम लोग काफी देर तक बात करते रहे

उसने चुत की छेद मे जीभ घुसवाई

मेरे चूतड़ उछलने लगे और विमला के चूतड़ भी मचले और वो भी मेरी चूत में चिल्लाने लगी- आइना ! चूसो अ आमा अर्रर्रर्रे रीईईए आआ ! और मुझे ऐसा लगा जैसे चूत से झरना बह निकला हो !

शादीशुदा माल की गांड को चोदा

मैं उसके होठों को बड़े जोश में चूसने लगा मैंने उसे नीचे लेटा दिया जब उसने मेरे लंड को अपने हाथों से पकड़ा तो उसे भी अच्छा महसूस होने लगा। वह मेरे लंड को अपने हाथों से हिलाने लगी काफी समय बाद किसी ने मेरे लंड को अपने हाथ में लिया था, जब उसने मेरे लंड को अपने मुंह में लेने की बात की तो मैंने भी उसके मुंह में अपने को डाल दिया वह अच्छे से मेरे लंड को सकिंग करने लगी।

पड़ोसन की चुत बड़ी सुहावन लागे

बहुत प्यार से चुदाई के मजे लेने लगे. वो मेरी तोंद पर बैठ कर मेरे लंड पे कूद रही थी. उसकी बड़ी बड़ी चुचियां ‘थप थप’ उछल उछल कर टकरा रही थीं. मधुर चुदाई का समा बन गया था। मजा आ गया. मैं गीतांजली को वैसे ही गोद में उठा कर खड़ा हो गया और उसे ऊपर नीचे करने लगा. उसकी चुचियां मेरी छाती के बालों से रगड़ खा कर और टाइट हो गईं. मैं भी मसल मसल कर दूध पी रहा था. मैंने थोड़ी तेजी बढ़ा दी.

इस कमीनी चुत को घोड़े का लंड चाहिए- 1

अब अपना लण्ड इस कमीनी चूत में डालो ना ! इसको फाड़ो और चोदो ! अब इसे और मत तड़फाओ। मैंने रितू की जाँघों के बीच घुटने के बल बैठकर अपने हाथों से उसकी दोनों चूचियां कस कस के पकड़ ली और उन्हें तेजी से दबाने लगा। मेरा लण्ड का सुपाड़ा रितू की चूत से टकरा रहा था। मैं चोदने का माहिर था और २०० से जयादा औरतों की चूत चोद चुका था इसलिए मैं रितू को चोदने से पहले थोड़ा और गरम करना चाहता था।

मैडम मेरा लंड पकड़ चुत मे घुसवा ली

मैंने अपने लंड को बाहर खीचना शुरू किया और लंड का टोपा बाहर लाकर मैंने सही मौका देखकर एक ज़ोर का धक्का मारते हुए अपना पूरा लंड मेडम की चूत में जड़ तक डाल दिया। फिर मेडम मेरे उस धक्के की वजह से एक बार फिर से तड़प गयी और वो कहने लगी कि बस कर अब तू इसको निकाल ले बाहर, लेकिन में नहीं माना और में हल्के-हल्के धक्के लगाता रहा

वीर्य पतन होने तक गांड मारा

मुझे भी उन्हें चोदने में ज्यादा मजा नहीं आ रहा था लेकिन उन्होंने मुझे पैसे दिए थे इसलिए मैंने उन्हें काफी देर तक चोदा, मेरा माल भी गिरने का नाम नहीं ले रहा था लेकिन जैसे ही कुछ मिनट बाद मेरा वीर्य पतन हुआ तो वह मुझे कहने लगी तुम्हारा वीर्य बड़ा ही गरमा गरम है मेरी चूत में जाते ही मेरे अंदर एक ताजगी आ गई

कैसे नंगा कर इसके यौवन का रसपान करू

काफी फूली हुई थी उसकी चूत, एकदम डबलरोटी की तरह! दूसरे संतरे को मुंह में लेकर चूसने लगा तो वो मेरे गर्दन और पीठ पर जोरों से हाथ रगड़ने लगी। फिर मैंने साये का नाड़ा खोलकर जैसे ही शरीर से उसे अलग किया तो उसकी चिकनी, बेदाग, दूधिया गठी हुई जांघों को देखकर तो मैं अपने होश ही खो बैठा, लगा कि इसकी चुत मारने से पहले ही लंड वीर्य की पिचकारी मार देगा

अक्टूबर 2018 की बेस्ट लोकप्रिय कहानियाँ

प्रिय मस्ताराम डॉट नेट के पाठको | अक्टूबर 2018 प्रकाशित हिंदी सेक्स स्टोरीज में से पाठकों की पसंद की पांच बेस्ट सेक्स कहानियाँ आपके समक्ष प्रस्तुत हैं | बेस्ट स्टोरी आफ अक्टूबर २०१८, best stories of October 2018, अक्टूबर 2018 मे प्रकाशित मस्ताराम डॉट नेट की सबसे लोकप्रिय कहानियाँ |

वीर्य की आखिरी बूंद भी नौकर ने मेरी बहन की बुर मे झाड़ दी -2

मेरी चुत अब उसके लंड के आकार की खुल गयी थी। मैं अब आराम से उसके लंड पर ऊपर नीचे हो रही थी। उसके बड़े लंड का मेरी चुत से हो रहा घर्षण मेरी उत्तेजना को और बढ़ा रहा था। वह भी अब जोश में आ गया था और नीचे से धक्के देने लगा था। मैं भी अपनी गांड हवा में रखकर उसको धक्के देने के लिए जगह बना के दे रही थी। वीर्य की आखिरी बूंद भी नौकर ने मेरी बहन की बुर मे झाड़ दी