Category: हिंदी सेक्स कहानियाँ

चूत फुद्दी लंड की सामान्य हिंदी सेक्स कहानियाँ
Chut Fuddi Lund ki samanya sex kahaniyan
General Sex Stories in hindi

पत्नी ने दिलवाया नामुमकिन खजाना- 9

यह कहानी एक ऐसे परिवार की चुदाई की ही जिसमे परिवार के हर सदस्य बाप बेटी, भाई बहन, माँ बेटा किसी को किसी से चुदवाने मे कोई शर्म नहीं आती।

पत्नी ने दिलवाया नामुमकिन खजाना- 5

लवली पापा और मै रात भर चुदाई का मज़ा ले रहे थे. पापा आज तो मेरेे सामने ही लवली को उठा कर अपने रूम में चले गए. दिन में ही चोदने लगे मेरा लन्ड भी खड़ा हो गया.

बगल मे सोयी चाची की चुदाई

अपने लंड को उनके गंड के छेद पर रखा और जोर से धक्का  मारा इसके साथ मेरा आधा लंड चाची के गंड में चला गया और वह चिलाने लगी. फिर में एक और धक्का मारा और पूरा लैंड गंड में चल गया.

माँ के झाँट काटकर चुदाई

उनके झाँट से भरी हुई चूत के दर्शन हो जाते क्या नज़ारा था. दोस्तों मेरा तो माल निकलने वाला था. उनकी झाँटो में साबुन का झाग लगा.

जीजा ने अपने सेठों से मुझे चुदवाया- 8

मैं इतनी बदनाम हूं लोग मेरे बारे में उल्टी पुल्टी बातें करते हैं पर तेरे जैसा तो मैंने भी कभी नहीं की, इतनी छोटी है और 3, 3 मर्दों से एक साथ, तू लड़की है कि क्या है किसी दिन मर जाएगी।

टीना ऑन्टी बनी मेरी रांड -3

मैं कुतिया बनी ऑन्टी के पीछे आया ओर चुत रस से भीगी ऑन्टी की चुत ओर गांड को अपनी जीभ से चाटने लगा। साली की गांड का छल्ला भी क्या मस्त था गोल गुलाबी रंग का।

जीजा ने अपने सेठों से मुझे चुदवाया- 5

दोनों हथेली से मेरी चूंत की छेंद को और चूंत की क्लिंट को जोर से दबाया और अंगुलियों से रगड़ने लगा, मैंने विवेक के बालों को पकड़ लिए तभी विवेक जोर से अपना अंगूठा मेरी चूंत में डाला कि मेरे मुंह से सी सी उंहह उंहह की आवाज निकल पड़ी.

जीजा ने अपने सेठों से मुझे चुदवाया- 3

मैं अब तड़पने लगी मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूं और ना किसी काम में मन लग रहा था बस यही मन में आए की कैसे कोई मुझे चोद दे बहुत अंगड़ाई आ रही थी मुझे ऐसा पहले कभी नहीं लगा था। हर 15 से 20 मिनट में मेरी पेंटी गीली हो जा रही थी चूंत से अपने आप पानी निकल रहा था.

दूसरा पड़ोसी चोदू -2

काजल को सीधा लेटा कर वो उसकी चुत मारने लगे। काजल पुरे मस्ती में चीख चीला रही थी मैं भी अपनी चूति काजल से चुस्वा रही थी और अपनी जीभ से उसकी चुत के दाने को छेड़ रही थी वो बर्दास्त नही कर सकी मेरी चूति को दांतों से पकड़ मममम करते झड़ने लगी।

ममेरी भाभी ज्योति की चुदाई

मैंने भाभी को घोड़ी बनाया तो उनकी खूबसूरत और चौड़ी गांड ऊपर को उठ आई और उनके चूचे किसी आम की तरह लटकने लगे। मैंने भाभी की गांड पर हाथ फेरते हुये लण्ड उनकी चूत में डाल दिया और उनके चूचे पकड़ कर ज़ोर ज़ोर से झटके लगाने लगा।