Category: सामूहिक चुदाई

दो से अधिक स्त्री पुरुषों लड़के लड़कियों के एक साथ मिल कर एक स्थान पर सामूहिक चुदाई या सेक्स का मजा लेने की कहानियाँ

Do se jyada ladke ladkiyon ke ek sath mil kar chut chudai ki kahaniyan

Sex Stories about Group Sex among many girls and boys or couples

बहन की चुदाई की अनोखी कहानी- 1

एक उंगली उसकी चूत में डाल दी। वो मछली की तरह छटपटाने लगी और अपने हाथों से कार्तिक का लण्ड को टटोलने लगी। कार्तिक का लण्ड पूरे जोश में आ गया था और पूरा तरह खड़ा हो कर लोहे जैसा सख्त हो गया था।

चौकीदार के साथ मैंने भी मम्मी को चोद दिया

मम्मी की चुत मे अपनी ऊँगली आगे पीछे करने लगा थोड़ी देर मे ही मम्मी गरम हो गयी और उसके मुंह से सिसकारी निकलने लगी. इधर सूरजपाल ने मम्मी की चुत से मेरा हाथ हटा कर अपना मुंह मम्मी की चुत पर लगा दिया. अब वह मम्मी की चुत को मलाई की तरह चाटने लगा मम्मी की शरम ख़त्म हो चुकी थी.

मेरी मैनेजर ही मेरी कस्टमर निकली

मैंने मन में ठान लिया कि आज तो पलंग तोड़ परफॉरमेंस दूंगा और इसकी चूत फाड़ दूंगा. मेरे पास जोश बढ़ाने वाली गोली रखी थी तो मैंने वो गोली खा ली. अब मैं उसके पास गया और उसको बिस्तर पर धक्का दे दिया. वह बिस्तर पर जा गिरी और मैं अपने कपड़े उतारने लगा पर मेरी बॉस ने मुझे बीच में ही रोक दिया.

पति के दोस्तो से ग्रुप मे चुदी

पति के दोस्तो से ग्रुप मे चुदी मयंक ने अब मुझे सीधे लिटा दिया और मेरी टांगों को अपने कंधे पर रख कर मेरी चूत में लण्ड डाल कर चूचिओं को दबाने लगा. मयंक ने जब ज़ोर-ज़ोर से चूत में धक्के मारे तो उसका लण्ड चूत को अंदर से रगड़ रहा था और उसके आंड मेरी गांड पर टकरा रहे थे मुझे मयंक ज़न्नत की सैर करा रहा था.. अब मै भी झड़ने वाली थी

घर की औरतों की चुदास जाग उठी- 2

उसने मेरी चूत के दाने को मसलते हुए पूछा- भाभी यहाँ सब लोग रंडियां लेकर आते हैं, आप गुस्सा तो नहीं हो इस गंदे हाल में आकर? मुझे इस समय बहुत आनन्द आ रहा था, बोली- गुस्सा क्यों होऊँगी? यहाँ मुझे कौन जानता है, सब लोग यही समझ रहे हैं कि मैं रंडी हूँ ! यह सोचकर गुदगुदी और हो रही है। अब तुम भी जल्दी से अपनी भाभी रांड को चोद दो और हाल में कोई पूछे तो रंडी ही बताना। अब चोदो, देर न करो !

दोनों कुतिया चुदने के लिए तैयार थी

मेरा लण्ड तना हुआ था, मैंने देर किये बिना अपना लण्ड श्यामली की चूत में पेल दिया। अब श्यामली के दोनों छेदों में लण्ड घुसे थे, शिवशंकर और मैं दोनों श्यामली को एक साथ चूत और गाण्ड में चोद रहे थे। श्यामली दर्द से चिल्ला रही थी, माधवी सिगरेट पीते हुए बोल रही थी- श्यामली, ऐसा मज़ा घरेलू औरतों को बार बार नहीं मिलता ! चुदने के मज़े ले ले !

घर की औरतों की चुदास जाग उठी- 1

मैंने अपना कुरता ऊपर उठाया और बोली- सिर्फ एक-एक बार दोनों चुचूक चूस लो और काटना नहीं। मेरे दोनों चूतड़ों को दबाते हुए विशाल ने दोनों चुचूक एक एक करके मुँह में लिए और लॉलीपोप की तरह एक एक बार चूसे। इस बीच विशाल झड़ गया। मेरी बुर भी पूरी गीली हो गई थी, मेरा देवर के साथ यह पहला सुंदर कामुक अनुभव था।

इस कमीनी चुत को घोड़े का लंड चाहिए- 1

अब अपना लण्ड इस कमीनी चूत में डालो ना ! इसको फाड़ो और चोदो ! अब इसे और मत तड़फाओ। मैंने रितू की जाँघों के बीच घुटने के बल बैठकर अपने हाथों से उसकी दोनों चूचियां कस कस के पकड़ ली और उन्हें तेजी से दबाने लगा। मेरा लण्ड का सुपाड़ा रितू की चूत से टकरा रहा था। मैं चोदने का माहिर था और २०० से जयादा औरतों की चूत चोद चुका था इसलिए मैं रितू को चोदने से पहले थोड़ा और गरम करना चाहता था।

लंड चुसवाने के आदि हो गए पति

इंग्लिश टॉयलेट पर बैठकर भैया ने अपने लौड़े पर भाभी को बिठा लिया और कस कस कर उनकी चूचियों को मसलने लगे। भाभी धीरे धीरे चिल्ला रही थी- कुत्ते! चूत में डाल इस लौड़े को!

शादी के बाद भी हब्शी लौड़े से चुदना चाहती

कुलदीप ने मेरे स्तनों का रसपान करना शुरू किया तो वह मुझे कहने लगा भाभी आपके स्तन बड़े टाइट है। मैंने उसे कहा मुझे तो तुम्हारे लंड को अपनी चूत में लेना है मैंने आज तक तुम्हारे जितना मोटा और लंबा लंड नहीं देखा। उसने कहा क्यों नहीं भाभी मैं आपको पूरे मजे दूंगा वह मुझसे पूछने लगा आपका फेवरेट पोज कौन सा है। मैंने उसे कहा मुझे तो मेरे पति घोड़ी बनाकर चोदते हैं उसने भी मुझे घोड़ी बना दिया।