Category: इंडियन बीवी की चुदाई

बीवी की चुदाई, देसी बीवी इंडियन वाइफ की हिंदी सेक्स कहानियाँ

biwi ki chudai, Indian Wife Ki Hindi Sex Kahaniyan

Hindi Sex Stories About Indian Wife

कविता भाभी की कामान्ध वासना की तृप्ति

मैंने लंड अंदर बाहर करना शुरू किया और वो आह ऊह् की सेक्सी आवाज करने लगी और जिससे मेरी स्पीड और तेज हो गयी वो कहने लगी चोदो मुझे, हहहाहा और तेज और तेज और में बहुत तेज-तेज चोद रहा था और करीब आधे घंटे के बाद में झड़ने वाला था तो उन्होंने कहा कि मेरी चूत में ही झड़ जाओ

भाभी ननद दोनों की चुदक्कड़ चुत

उसके बाद कई बार मैंने सारिका को उसके घर में चोदा, पर नाज़ और सारिका दोनों सखियों की चुदाई एक साथ नहीं हो पाई।अगली बार बताऊंगा कैसे मैंने नाज़ को अपने घर में ले कर उसको चोद चोद कर बेहाल कर दिया

शादीशुदा माल की गांड को चोदा

मैं उसके होठों को बड़े जोश में चूसने लगा मैंने उसे नीचे लेटा दिया जब उसने मेरे लंड को अपने हाथों से पकड़ा तो उसे भी अच्छा महसूस होने लगा। वह मेरे लंड को अपने हाथों से हिलाने लगी काफी समय बाद किसी ने मेरे लंड को अपने हाथ में लिया था, जब उसने मेरे लंड को अपने मुंह में लेने की बात की तो मैंने भी उसके मुंह में अपने को डाल दिया वह अच्छे से मेरे लंड को सकिंग करने लगी।

दूसरे की बीवी की चुदाई की कामुत्तेजना

वो कहने लगी कि चलो अब तुम मुझे पीछे से चोदो. वैसे करने में हमे बड़ा मज़ा आएगा और मुझे यह बात कहते हुए जस्टीना तुरंत उल्टा हो गई और मैंने उसके पीछे से मेरा लंड उसकी चूत में डालने के लिए एक ज़ोर का झटका मारा तो जस्टीना ने दर्द की वजह से कहा कि ऊईईईईइ माँ में मर गई प्लीज थोड़ा धीरे से धक्के मारो ऊउईईईईईईई ना. फिर मैंने उसके सर के बालों को पकड़कर अपने लंड को अंदर डालने का काम लगातार ज़ारी रखा.

नौकरानी ने मुझे चुदाई मे एक्स्पर्ट बनाया

मैं भी कुतिया, रंडी, साली, रंडी की औलाद, तेरी भोंसरी की मारूँ, लोंडी बकता हुआ हसीना को चोदने में लगा हुआ था। 5 मिनट की चुदाई के बाद मैं निढाल होकर लेट गया, हसीना भी मुझसे चिपक गई। चिपके चिपके हम एक दूसरे की चूची, चूत चुचकों और लण्ड से खेल रहे थे।

दोनों कुतिया चुदने के लिए तैयार थी

मेरा लण्ड तना हुआ था, मैंने देर किये बिना अपना लण्ड श्यामली की चूत में पेल दिया। अब श्यामली के दोनों छेदों में लण्ड घुसे थे, शिवशंकर और मैं दोनों श्यामली को एक साथ चूत और गाण्ड में चोद रहे थे। श्यामली दर्द से चिल्ला रही थी, माधवी सिगरेट पीते हुए बोल रही थी- श्यामली, ऐसा मज़ा घरेलू औरतों को बार बार नहीं मिलता ! चुदने के मज़े ले ले !

लंड चुसवाने के आदि हो गए पति

इंग्लिश टॉयलेट पर बैठकर भैया ने अपने लौड़े पर भाभी को बिठा लिया और कस कस कर उनकी चूचियों को मसलने लगे। भाभी धीरे धीरे चिल्ला रही थी- कुत्ते! चूत में डाल इस लौड़े को!

मेरे कारनामे देख आंटी भी शर्मा गई

इस बहुत ही तीव्र गति की चुदाई से आंटी भी बहुत उत्तेजित हो गई और अत्याधिक ऊँचे स्वर में सिसकारियाँ लेने लगी तथा मेरा साथ देते हुए आगे-पीछे भी हिलने लगी। उनकी इस गतिविधि से हम दोनों को उस चुदाई का बहुत ही आनन्द आने लगा था। तभी आंटी का शरीर अकड़ गया और उनकी चूत बहुत ही जोर से सिकुड़ गई तथा मेरे लण्ड को अन्दर की ओर खींचने लगी।

गैर मर्द से पति ने मुझे चुदवा खुश हुआ

जैसे ही उसने मेरी चूत में लंड को थोड़ा सा अंदर सरकाया तो मेरी हालत बहुत खराब हो गई क्योंकि इतना मोटा, सख्त लंड मेरे पति का भी नहीं था और ज़ोर से चीख पड़ी और कहने लगी कि प्लीज धीरे करो में मर गई। तो वो वहीं पर रुक गया और मेरे बूब्स को सहलाने लगा और जब उसे लगा कि मेरा दर्द थोड़ा कम हुआ तो वो धीरे धीरे अपने लंड को आगे पीछे करने लगा।

चुदने के बाद वो मेरी गुलाम बन गई

उसने बड़े प्यार से कंडोम मुझे पहनाया और टाँगें ऊपर करके मेरे लंड डालने का इंतजार करने लगी. मैंने धीरे धीरे लंड उसकी चूत की गहराई में डालने लगा. उसके मुँह से सी.. सीई.. सीई की आवाज आने लगी, जो मुझे अलग ही जोश दिला रही थी.