Category: रहस्य और रोमांच

इस विभाग में भूत, प्रेत, तंत्र, मन्त्र, कापालिक, अघोरी, अतीन्द्रिय, परालौकिक विषयों आदि से सम्बंधित कहानियों , लेखों और विचारों आदि के लिए सूत्र बनाए जा सकते हैं

फौजी अंकल से रात भर खुब चुदी

एक दूसरे की चुत, गांड और लंड को चूस रहे थे. जिसे देख कर मेरी चुत गीली होने लग गई. मैने अपना हाथ अपनी पेंटी मे डॉल लिया और अपनी छूट को मसलने लग गई थी. मेरी चूत पहले से ही अपना काफ़ी पानी निकाल दिया था

पड़ोसन की चुत बड़ी सुहावन लागे

बहुत प्यार से चुदाई के मजे लेने लगे. वो मेरी तोंद पर बैठ कर मेरे लंड पे कूद रही थी. उसकी बड़ी बड़ी चुचियां ‘थप थप’ उछल उछल कर टकरा रही थीं. मधुर चुदाई का समा बन गया था। मजा आ गया. मैं गीतांजली को वैसे ही गोद में उठा कर खड़ा हो गया और उसे ऊपर नीचे करने लगा. उसकी चुचियां मेरी छाती के बालों से रगड़ खा कर और टाइट हो गईं. मैं भी मसल मसल कर दूध पी रहा था. मैंने थोड़ी तेजी बढ़ा दी.

इस कमीनी चुत को घोड़े का लंड चाहिए- 2

इस कमीनी चुत को घोड़े का लंड चाहिए- 1 रितू मस्ती में नहा रही थी, पूरा लण्ड उसकी चूत में कस कर घुसा हुआ था। वो बार बार चिल्ला रही थी- भाईसाहब चोदो ! इस कुते को आराम क्यों करा रहे हो ! मैं बोला- तेरे भूत को दबाए हुए है यह ! और मैंने […]

भाभी ने चूत की आग मे चुदवा ली

मेरे लंड को पहले से ज्यादा जोश आ गया और अब में भाभी को बड़ी तेज रफ़्तार के धक्कों के साथ चोदने लगा था। फिर करीब तीस मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपने लंड को भाभी की चूत से बाहर निकाला और उसको अपने सामने घोड़ी बनाकर मैंने पीछे से उसकी चूत में एक ही तेज झटके में अपना पूरा लंड अंदर डाल दिया।

अंडरवियर उतरते ही मेरा लंड फनफना उठा

उनकी पेंटी पर से ही चूत को चूमा, तो वो एकदम से चुदासी हो उठीं. फिर आंटी की पिंडलियों, नरम नरम जांघों को चूसते चाटते हुए मैंने उनकी पेंटी उतार दी. गोरी गुलाबी मस्त पॉव रोटी की तरह फूली हुई चूत गीली होकर रस बहा रही थी. मैं उनके पैरों के बीच आ गया और उनकी चूत के दाने को जीभ से सहलाने लगा

मैडम की सेवा में मेवा

उन्होंने मुझे कहा कि क्या हुआ अक्श तब मुझे होश आया इससे मेरा लौड़ा खड़ा हो गया था मैम ने शायद यह देख लिया था क्योंकि वह मुस्करा रही थी.. फिर मैं उनके रूम से बाहर निकल आया फिर वो तैयार हो कर बाहर आ गई

मेरी चुत चोद चोद के उसके लंड छील गए

मुझे वह बड़ी तेज गति से चोदने लगे मेरे लिए यह बडा अच्छा अनुभव था। वह मुझे कहने लगे मैंने कभी सोचा नहीं था मैं तुम्हारे साथ सेक्स करूंगा लेकिन आज तुमने मेरे अंदर कि सेक्स भावना को जगा दिया मैं भी अपने आपको तुमसे दूर नहीं रख पाया यह कहते हुए उन्होंने मेरी चूत बडी तेज गति से मारी

शालू आंटी की चुत मे मोटा लंड

शालू आंटी को मुझसे अपनी गांड मरवाने की लालसा पैदा हो गई। जब वह मुझे अंदर ले गए तो अंकल की गांड जल रही थी। वह बिल्कुल नहीं चाहते थे पर मैं भी यह सोचकर आया था मैं आंटी की गांड मारकर ही रहूंगा

भाई की बेगम की चुत खूब चोदा

मैंने पीछे से उसकी चूत पर अपना लंड सटाकर एक हल्का सा धक्का मार दिया। अब उसकी चूत गीली तो पहले से ही हो चुकी थी, मेरे एक धक्के में ही मेरे लंड के आगे का टोपा अंदर घुस गया। अब एक बच्चा होने के बाद भी उसकी चूत बहुत टाईट थी, वो दर्द से आआहह कर उठी थी फिर में कुछ देर के लिए उसी पोजिशन में शांत खड़ा रहा, कुछ देर के बाद जब उसका दर्द कम हुआ तब आयरा ने ही अपनी गांड को पीछे धकेला ताकि मेरा लंड पूरा अंदर चला जाए

खूबसूरत चूत ने पहले किसी लंड का मज़ा नहीं चखा

उसकी उंगली तेज़ी से गांड के छेद में अंदर बाहर हो रही थी और मैं सनसनाहट से कांप रहा था. किरण मेरे पीठ पर लगातार रगड़े लगा रही थी. एक पल को दिमाग़ में ख़याल आया कि ये गांव तो स्वर्ग है, इसे छोड़ कर कहीं जाना बेवकूफी है. बिजली की उंगली लगातार मेरी गांड के छेद में अंदर बाहर हो रही थी