Category: रहस्य और रोमांच

इस विभाग में भूत, प्रेत, तंत्र, मन्त्र, कापालिक, अघोरी, अतीन्द्रिय, परालौकिक विषयों आदि से सम्बंधित कहानियों , लेखों और विचारों आदि के लिए सूत्र बनाए जा सकते हैं

सुहागरात मे तन्नाए हुए लंड की दास्ता

उस रात मैंने उसे एक बार और खूब चोदा और एक बार फिर उसकी गाण्ड मारी। उसको चोदते- चोदते कब सुबह होने को आई.. पता ही नहीं चला।
हम एक-दूसरे से लिपटे हुए कब सो गए.. कुछ भी पता नहीं चला। सुबह जब उठे.. तब 8 बज चुके थे। मेरी बड़ी साली आ चुकी थी और वो हम दोनों को नंगा एक-दूसरे की बाँहों में नंगा देख चुकी थी। मेरी सास की चूत और गाण्ड सूज कर पकौड़ा बन गई थी

विधवा की सुनी चुत की अनसुनी कहानी

नुतन की चूत को दो उंगलियों से चौड़ा करके उसके अंदर थूकने लगी. दो तीन बार थूक कर वो बोली… “ अब प्रयास करो साब.” मैंने अपना लंड फिर नुतन की चूत पर आड़ा रखा और हलके से धक्का मारा. वाह, ये तो आधे से ज़्यादा लंड अंदर चला गया. नुतन की हलकी सी चीख निकल गई. बिजली ने मेरे कंधों पर हाथ रखा और ज़ोर से दबाया. लंड पूरा नुतन की चूत में घुस गया

बचपन मे ही लिया सेक्स का मजा

बहुत उत्साह और तेजी से ऊपर नीचे हो रहा था मेरी चीख के साथ ही सुनी भी रुक गया और सीधी हो गया और मैंने रोना शुरू कर दिया था सुनी मुझे रोता देखकर डर गया और मुझे चुप कराने की कोशिश करने लगा – मुझे दर्द जो इक करारा झटका लगा था धीरे धीरे उसकी तीव्रता में कमी आने लगी थी और लगभग पांच दस मिनट रोने के बाद शांत हो गई

लंड उसकी गांड को फाड़ फाड़ चोदा

मेरा लंड उसकी गॅंड मे घुस रहा था और उसे अछा लग रहा था मैने उसके नेक पे किस करना स्टार्ट कर दिया वो बोलने लगी अभी बहोत टाइम हैं आराम से कर लेना अभी मुझे काम कर लेने दे मैने उसके बूब्स दबा दिया और उसने मुझे अलग किया और मैं किचन से बाहर आके टीवी देखने लगा फिर आधे घंटे बाद रिया आई और बोली

सेक्स की उत्तेजना मे मुझे यूज किया

गांड ने चिकना पानी निकालना शुरू कर दिया और दोनों उंगलियां आसानी से अन्दर बाहर होने लगीं। तब मैंने अपने सुपारे पर क्रीम लगाई और थोड़ी सी और उसके छेद में लगा दी और तब मैंने उसकी छेद से टिका कर सुपारे को अन्दर ठेला। एक तो क्रीम और पानी की चिकनाहट और उसकी उत्तेजना… टोपी को बहुत ज्यादा जोर नहीं लगाना पड़ा और वो अन्दर उतर कर फंस गई

नया नया लंड घुसवा के चुत चुदवाई

अपनी जीभ से मेरी योनि के दाने को सहलाने चुभलाने लगा और उंगली को गुदा के छेद में चलाता रहा। जब मैं बुरी तरह गरम हो कर सिसकारने, ऐंठने लगी तो वो उठ कर मेरे सर के पास चला आया और अपना मुरझाया हुआ लिंग मेरे होंठों के आगे कर दिया। अब इन्कार की गुंजाईश कहाँ बची थी, मैंने उसे मुँह में ले लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी

ब्लू-फिल्मों की बदौलत मैं चुदासी बन गई

मैंने देखा कि उसका लाल-लाल चमकता हुआ लौड़ा कड़क हो कर बाहर निकला हुआ था। उसके लौड़े का नाप देख कर बेखुदी-सी की हालत में मैंने अपना हाथ बढ़ा कर उसका अज़ीम लौड़ा अपनी मुठ्ठी में ले लिया। मेरी इस हरकत से जैकी झटके मारते हुए मेरी मुठ्ठी में अपना लौड़ा चोदने लगा। लेकिन साथ ही उसने मेरी चूत चाटना बंद कर दिया जो मैं नहीं चाहती थी

मम्मी चुदी दीदी के ससुर के प्यार में

फिर दीना जी ने मम्मी के ब्लाउज के ऊपर से ही उनकी चुचियों को मसलना चालू कर दिया. मम्मी के मुँह से ‘आह.. आह..’ की आवाज निकल रही थी। कुछ ही पलों बाद दीना जी ने मम्मी का ब्लाउज और ब्रा को भी खोल दिया. मम्मी जी की बड़ी चुचियां बाहर फुदकने लगीं. दीना जी बड़ी तेजी से मम्मी जी की चूचियों को अपने मुँह में ले कर चूसने लगे और निप्पलों को दांतों से काटने लगे

पड़ोस में चुदक्कड़ भाभिया बड़ी किस्मत से मिलती

उसके बड़े बड़े स्तन मुझे दिखाई दे गए। जब उसके स्तन मुझे दिखाई दे रहे थे तो मेरे अंदर की उत्तेजना भी बढ़ने लगी। मैंने जैसे ही उसके सूट के गले के अंदर से उसके स्तनों को दबाया तो वह पूरे मूड में आ गई उसने तुरंत ही मेरे पैंट से लंड को बाहर निकालते हुए अपने मुंह के अंदर ले लिया। वह मेरे लंड को बहुत ही अच्छे से चूसने लगी उसने मेरे लंड को इतने अच्छे से चूसा की मुझसे बिल्कुल भी रहा नहीं गया और मैंने भी उसे नंगा कर दिया

दोस्त की वाइफ संग गम भुलाया

उसने पतली सी मेक्सी पहनी हुई थी जिसमें उसके बड़े बड़े स्तन दिखाई दे रहे थे और उसकी गांड का पूरा सेप बाहर आ रखा था। उसने जैसे ही मेरे हाथ पर अपने हाथ को रखा तो मुझे बहुत अच्छा लगने लगा मैं बहुत ही खुश हो गया। मैंने उसके स्तनों को दबा दिया जैसे ही मैंने उसके स्तनों को दबाया तो उसने मुझे तुरंत ही किस कर लिया और उसने मेरे होठों को बहुत अच्छे से चुमना शुरू कर दिया