Category: ऑफिस सेक्स

काम करने वालों का ऑफिस सेक्स या बाहर चूत चुदाई बॉस सेक्रेटरी चुदाई

Sath Sath Kaam Karne Valon ki Aapas me Chut Chudai ki Kahani

Office Sex with colleagues & boss secretary sex stories in Hindi

इक दूजे का ख्याल रखे बिन बात बने ना प्यारे

इक दूजे का ख्याल रखे बिन बात बने ना प्यारे | ठोक चले जितना हिंडल पर हाय प्यार से मारे | बोली डालो तेल आह ला मैं मरती हूँ जाती | खूब भिगाओ पहले सुनते क्यों न कही जो आती ..

मजेदार सेक्सी दोहे : मदभर अधर गुलाब पांखुरी

दोस्तों आज मै फिर से लाया हूँ मस्ताराम के मजेदार सेक्सी दोहे जैसे की आप सभी ने पहले भी पढ़ा है आज तो मन खिल उठेगा अगर समझ में आ गया तो दोस्तों शेयर करना ना भूले |

पीछे हट मैदान से या हो जा तैयार ( दोहा )

दोस्तों पीछे हट मैदान से या हो जा तैयार ( दोहा ) यह मस्ताराम के मजेदार दोहे है आप पढ़ कर झूम उठेंगे अगर मज़ा आये तो शेयर करना ना भूले बस आपके लिए है |

लप्प लपालप उठ बैठा चमका बिजुरी सा जाता

लप्प लपालप उठ बैठा चमका बिजुरी सा जाता दोस्तों यह लंडघारी बाबा की गाथा है अगर यह मजेदार दोहा आप सभी को पढ़ कर मज़ा आये तो शेयर भी करे |

चूम कपोल चिकोटी काटे सखि हंस सखि से बोली

चूम कपोल चिकोटी काटे सखि हंस सखि से बोली | छोड़ संग-साथ तूने अब मेरी छुट्टी हो ली | दोनों लेने मरीं जिसे तूने वह पहले पा ली | कह करतब उसका मुझसे सुनने मरती मैं साली

सपाट बुर भरी आह तक लंड न्यौत रह जाती

मित्रो यह कविता मैंने सपाट बुर पर लिखी है जब सपाट बुर में मोटा मुसल जैसा लंड घुसता है तो कैसे चिल्लाती है सपाट बुर आप भी पढ़े अपने दोस्तों को भी शेयर करे |

भिड़े खूब कस उठा पटक बुर लंड फांस धर टांगें

दोस्तों यह कविता लंड चुत की आपस में गुफ्तगू की है लंड चुत की कैसे मरता है और चुत लंड की कैसे मरती है एक लाइन बता देता बाकी यहाँ पर क्लिक कर पढ़ कर अपने दोस्तों को भी शेयर करें | भिड़े खूब कस उठा पटक बुर लंड फांस धर टांगें

हार्मोंस का संतुलन बनाए रखने के लिए सेक्स रोजाना ना करें

हार्मोंस का संतुलन बनाए रखने के लिए सेक्स रोजाना ना करें अगर आप एक तरह से देखे तो यह सही है या एक सर्वे में खुलासा हुआ है की अगर आप रोजाना सेक्स करते है तो

बिना रुके दिन और रात दनादन, भकाभक

दोस्तों जैसा की आप सभी ने मेरी पिछली कहानी रात दिन एसा काम कौन नहीं कर सकता है !  में पढ़ा अब मै अपनी कहानी को आगे बढ़ाते हुए बता रहा हूँ आप लोग अपने लंड और चुत से हाथ दूर कर ले तभी कहानी का असली मज़ा आएगा कही बिच में झड़ गये तो फिर से पढ़ना ना भूले |

फन्नाया उठ लंड कहा ले साली यह मैं आया

लड़ी आँख रह चाबे होठ तन फुरक गनगना आया , फन्नाया उठ लंड कहा ले साली यह मैं आया , ज्यों बोतल लम्बी इक गोल मटोल खड़ा चिकनाया , भारी मुंड ठुनक टटोलता लंड कड़क बुर आया |