Category: रिश्तों में चुदाई

चाचा-भतीजी, चाची-भतीजा, मौसी, बुआ सास, ससुर जैसे रिश्तों में, परिवार में, रिश्तेदारी में चुदाई की कहानियाँ जिसे वर्जित माना जाता है |
Incest Sex Stories in Hindi of Bhai-Bahan, Rishton mein chudai, Jija Sali and Devar-Bhabhi
Aunty Sex Stories, Brother in Law Sex Stories, Sister Sex Stories, Relative Sex Stories

चौकीदार के साथ मैंने भी मम्मी को चोद दिया

मम्मी की चुत मे अपनी ऊँगली आगे पीछे करने लगा थोड़ी देर मे ही मम्मी गरम हो गयी और उसके मुंह से सिसकारी निकलने लगी. इधर सूरजपाल ने मम्मी की चुत से मेरा हाथ हटा कर अपना मुंह मम्मी की चुत पर लगा दिया. अब वह मम्मी की चुत को मलाई की तरह चाटने लगा मम्मी की शरम ख़त्म हो चुकी थी.

शराफत की देवी मेरी बहन- 4

पापा मम्मी की चूचियां को बहुत देर तक पीते थे और मां उनके लंड को चूसती थी और इसके बाद पापा मम्मी की चूूत में कभी कभी सहद खूब चाटते थे मां अपने चूतड को उछाल उछाल कर तुम्हारी तरह पाापा के मुंह पर रगड़ती थी. तुम और मां के चुदाई करने में कोई अंतर नहीं है बहन बोली मुझे भी मम्मी पापा की चुदाई का* वीडियो देखनी है

बीवी से रसीली साली की चुत मिल गई- 2

बीवी से रसीली साली की चुत मिल गई- 1 अगली सुबह बीवी और साली की बातों का मज़ा लेने के लिए मेने फिर से किचन की खिड़की से कान लगा दिया आँचल ने बुलबुल को छेडते हुए कहा क्यों बन्नो जीजू से चूत चटाई मे मज़ा आया या नही? बुलबुल : दीदी आपका एहसान मे […]

बीवी से रसीली साली की चुत मिल गई- 1

टाँगों के बीच आ कर गर्म होंठ चूत पर रख दिए उतेज्ना से बुलबुल ने चेहरा एक साइड मे कर लिया मे उसके चूत के लहसुन को जीभ से गिटार के तार की तरह छेदने लगा फिर लहसुन को होंठों के बीच दबा कर चूसने लगा क्लिट तन कर सख्त हो गया मुझे ऐसा लगा की बुलबुल की हल्की सी सिसकारी निकल गयी.

शराफत की देवी मेरी बहन- 3

बहन बोली कि तुम मुझे अब बिना कंडोम के चुदाई नहीं किया करो अभी मैं बच्चा नहीं। चाहती हूं मैं बहन से कहा तुम 4 साल मुझसे प्यार किया एक दूसरे को हम दोनों समझे चााहे जैसे हमरा मिलन हुआ लेकिन हम एक दूसरे को समझे और हमारा रिश्ता जैसे पति पत्नी का होता है उसी तरह घर समाज से छिपाकर 4 साल तक हम लोग लगातार चलाएं

शराफत की देवी मेरी बहन -2

अपनी उंगली बहन की चूत में डालकर हिलाने लगा लगभग 7-8 मिनट उंगली डाल कर हिलाता रहा बहन और तेज आवाज निकालने लगी. अपना लंड बहन के मुंह में डाल दिया लंड को लाॉलीपॉप की तरह चूसने लगी वह नशे में सब भूल चुकी थी क्या हो जाएगा अगर कोई आ गया तो लेकिन मैं सब देखते हुए सीचुवेशन संभालता हुआ.

चाची को वासना की तृप्ति के लिए चोदा

मैंने उन्हें अपने दोनों हाथों में उठा कर बैड पर सीधा लिटा दिया और उनकी चौड़ी करी हुई टाँगों के बीच बैठ कर उनकी चूत चाटने लगा। शुरू में तो चूत का नमकीन स्वाद थोड़ा अजीब लगा था लेकिन कुछ देर के बाद जब मैं उस स्वाद से अभ्यस्त हो गया तब मैंने मैंने उनकी चूत के होंटों को चाटने लगा। उसके बाद मैंने अपनी जीभ से उनके भगनासा को मसला और अपनी जीभ को उनकी चूत के अंदर बाहर करके उनके जी-स्पॉट को रगड़ा तब मुझे सब कुछ बहुत अच्छा लगा।

अपनी बहन के सामने भाभी की चुत चुदाई

में पूरा गर्म था और मेरा लंड पूरा तन गया था. अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था इसलिए मैंने उससे कहा कि चलो अब मुझे तुम्हारी चूत मारनी है. तो उसने कहा कि मैंने कब मना किया? मेरी चूत कई दिनों से प्यासी है, तुम्हारे भैया इसको चोदते ही नहीं है और जब चोदते है तो जल्दी से पानी छोड़ देते है और में प्यासी ही रह जाती हूँ.

शराफत की देवी मेरी बहन

अरे रानी तू  इतना दिन अपने भाई से क्योंं दूर रही चूत 20 मिनट चाटनेेे के बाद लंड को**निकाला बहन की चूत** में डाल दिया फिर धीरे धीरे झटके मारने लगा बहन को झुका कर अपना लंड**पीछे से उसकेेे चूत** में*डाल दिया और झटके देने लगा और अपने दोनों हाथों से पीछे से दोनों चुचियों को पकड़कर पीछे सेेे झटके मार रहा था.

जीवन साथी बनी मां- 2

मैं भी मां के मुंह में पेशाब करने लगा मटक मटक कर सारा पानी पी रही थी और कुछ पानी उसके मुंह और सूचियों पर टपक रहे थे. इसके बाद मां मेरे लंड** को चुत** में डाल दिया जोर जोर से चोदने लगी मैं नीचे रस्सी में बंधा हुआ नीचे से हल्का हल्का अपने लंड* को उछाल मार रहा था ऊपर से मां जोर जोर से अपने चूतड को हिला रही थी.