Category: रोमांटिक कहानियां

रोमांटिक कहानियां, love story, हिंदी लव स्टोरी, प्यार की कहानी, रियल लव स्टोरी, hindi font love story, new hindi kahaniyan, mastara hindi kahani, रोमांस की कहानी, रोमांटिक लव स्टोरी

मेरी बीवी की चुत की चुदाई

आदमी मेरी बीवी की गांड को शहला रहा था और कह रहा था तुम्हारी गांड बहुत-बहुत मस्त है गांड में डलवा दो मेरी बीवी कहने लगी गांड नहीं मरवानी वह कहने लगा प्लीज एक बार थोड़ा सा ही डालूंगा पर मेरी बीवी मना कर करती रही।

गाँव की देसी भाभी की सेक्स लाइफ- 2

मैंने उन्हें लिटाकर उनकी टांगें अपने कन्धों पर रखी और गीला लण्ड उनकी चूत में उतार दिया।
फिर उनकी ठुकाई शुरू हो गई, पूरा कमरा हम दोनों की आवाजों से गूजने लगा, चूत और लण्ड एक-दूसरे को हराने में लगे हुए थे।

गाँव की देसी भाभी की सेक्स लाइफ- 1

अब मेरा लौड़ा भी जवाब देने लग गया, मेरा भी होने वाला था- भाभी मेरा होने वाला है.. बोलो कहाँ गिराऊँ। यह कहानी आप मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है। मैंने धक्के तेज कर दिए।

चुदाई के लिए चुत मिल गई

अचानक ज़ोर का झटका मारा तो आधा लंड चुत मे घुस गया. महिका ज़ोर ज़ोर से रोने लगी. आह आह आह मर गयी प्लीज़ जल्दी बाहर निकालो. बहोत दर्द हो रहा है.

मस्ती मे सराबोर होकर चुदाई करवाई

बिनोद मेरे उरोज सहलाता, फिर कभी हिप को सहलाता, १० मिनट तक ऐसे ही पड़े पड़े मैंने उसे बहुत गालियाँ दी फिर भी वो बेचारा चुपचाप मुझे प्यार से सहलाता रहा ! फिर धीरे धीरे उसने अपना लंड हिलाना शुरू किया, जब मुझे मज़ा आना शुरू हुआ.

चुत मे फिंगरींग कर चुदने के लिए राजी किया

उसने वो सारा पी लिया |फिर वो बेड पर मुझे ले गई | और टांग फैला कर बैठ गई और मेरे सर को अपनी चूत में दबाने लगी | उसकी चूत बिलकुल चिकनी थी | थोड़े से बाल थे जरुर उस पे | फिर मैं उसकी चूत को अच्छे से लिक कर रहा था और टंग फक भी |

प्रैंक करते हुये लड़की पट गई चुदने के लिए

मैं उसकी चूत में दो ऊँगली डाल के अन्दर बाहर कर रहा था | फिर मैंने उसके पैर फैलाये और अपने लंड पर थूक लगाया और उसकी चूत में डाल दिया और उसको चोदने लगा | मैं बड़े मज़े से उसको चोद रहा था लेकिन उसकी चूत मारने में मज़ा नहीं आ रहा था, तो मैंने उससे कहा मैं और पैसे दूंगा लेकिन मैं गांड मारना चाहता हूँ |

नरम चुत मे कडक लंड से चुदाई

मैंने अपने लोड़े का टोपा उसकी योनि में प्रवेश करवा ही दिया जैसे जैसे वह धीरे-धीरे अंदर जा रहा था वहां से खून निकलने लगा था। वैदिता बहुत तेज चिल्लाने लगी थी मुझे लगा कहीं बेहोश ना हो जाए किंतु मैंने उसे दबोच कर रखा।

ग्रुप मे दो बहने हम दोस्तो से चुदी

मेरा लंड पूरी तरीके से छिल चुका था मैं उसे तेज गति से धक्का देता। जैसे ही मेरा वीर्य पतन हुआ तो मैंने सुमंती की योनि से लंड को बाहर निकाला उसकी योनि से मेरा वीर्य अब भी टपक रहा था।

चोद चोद गांड पर वीर्य गिराते जाता

मोनीका के बदन के मजे लिए जब उसकी चूत से पानी बाहर छूटने लगा तो मैं भी झडने वाला था मैंने अपने वीर्य को मोनीका की गोरी गांड पर गिरा दिया। हम दोनों ने अपने कपड़े पहन लिए हम लोग काफी देर तक बात करते रहे