Category: रोमांटिक कहानियां

रोमांटिक कहानियां, love story, हिंदी लव स्टोरी, प्यार की कहानी, रियल लव स्टोरी, hindi font love story, new hindi kahaniyan, mastara hindi kahani, रोमांस की कहानी, रोमांटिक लव स्टोरी

ताकतवर मर्द के लंड ने मेरी चुत चोदी

मैंने अपने मुहं को खोला और उसने मेरे बाल पकड लिए. वो मेरे मुहं को जोर जोर से चोदते हुए मेरे बालों को खिंच रहा था. मुझे दर्द तो हो रहा था लेकिन पोर्न फिल्मो में जैसे लडकियां चुस्ती हे मैं उसके लंड को वैसे एकदम सेक्स अंदाज से चूसने लगी. पांच मिनिट तक उसके लंड को चूसा और फिर उसने मुझे उठा के बेड में पटक दिया. फिर वो मेरे ऊपर आ गया और मेरे बूब्स को जोर जोर से चूसते हुए उन्हें दबाने भी लगा

बड़े बड़े चूचुक वाली मेरी जेठानी

उनकी मोटी-मोटी उंगलियाँ मेरी चूत में हलचल मचा रही थी, मेरी चूत गीली हो गई थी, मैंने उनके मोटे चुचूक को मुँह में भर कर चूसने लगी और अपनी उंगली को उनकी चूत में घुसेड़ अंदर-बाहर करने लगी। जेठानी जी मस्त हो रही थी, उन्होंने मुझे अपने ऊपर खींच लिया। अब मैं उनके ऊपर और वो मेरे नीचे थी। मैं उनके गालों और चुचों को अपने होंठों से चूसने लगी

पति के सामने ही चुदती रही बीवी- मजेदार कहानी

मारिया जोर जोर से अपनी गांड को मेरी जांघो के ऊपर मार रही थी. और उसकी चूत के अंदर मेरा लोडा जोर जोर से अन्दर बहार होता गया. पांच मिनिट लंड की राइडिंग करने के बाद उसका पानी छुट गया. वो और भी होर्नी हो गई और मेरे लंड को और भी सख्ती से दबा के चुदवाने लगी. एक मिनिट के अंदर अंदर उसने मेरा पानी भी छुडवा दिया. हम दोनों आलिंगन बना के पड़े रहे

बीवी की मौसी की बेरहम चुदाई

मैनें उसे लंड पर बैठने के लिये कहा, मगर वो नकली हैरानी दिखाते हुवे बोली, ” ना ना बाबा ना, इतने लम्बे और मोटे लंड को मेरी कोमल चूत कैसे सहन कर पाएगी, इसे तुम्हारा ये बम्बू जैसा लंड फाड़ देगा,सूजी तो फालतु में नाटक कर रही थी, मैं तो एक बार झड़ चूका था, इसलिए मुझे कोई जल्दीबाजी नहीं थी, मगर सूजी की चूत में आग तब से अब तक उसी तरह लगी हुई थी, वो चुदवाने के लिये बुरी तरह उतावली हो रही थी

टीचर की प्यास बुझाने की चाहत

मैं अपनी जीभ धीरे धीरे से उसकी चूत पर फेर रहा था और अपने दोनों हाथ उसकी गांड पर मुझे बहुत मजा आ रहा था. आज मेरा सपना पूरा हो गया. आज मुझे गांड मिलेगी. नैना की चूत बहुत गर्म हो गयी थी और इसकी गांड टाइट हो गयी. नैना जोरजोर से सिसकिया लिए जा रही थी. इतने में ही नैना कि चूत ने पानी फेंक दिया. सारा पानी मेरे मुंह मे आ गया. उसका पानी बहुत मनकीन था. मैं सारा पानी पी गया और फिर से जीभ फेरने लगा. 

रोजाना रात में लेते थ्रीसम सेक्स का मजा

हम तीनो रोज रात को चुदाई किया करते थे | फिर एक दिन मेरे साथ वाला चौकीदार नहीं सोया था और मुझे या लगा था की वो सो रहा है | मैं फिर उन के कमरे गया और हम तीनो ने चुदाई करना शुरू कर दी फिर एक दम से दरवाजे पर दस्तक हुई और हम तीनो डर गए | और जैसे ही दरवाजा खोला तो देखा कि रामलाल और मालकिन दोनों खड़े हैं | फिर क्या था मुझे नौकरी से लात मार कर निकाल दिया गया और मैं फिर बेरोगार हो गया था मेरे साथ साथ उन दोनों लड़कियों को भी निकाल दिया गया था

मुंबई में मेरे सपनो ने मुझे जिगोलो बना दिया

उसने अपनी जींस को उतारते हुए। मुझे कहा कि तुम्हें मेरी चूत को अच्छे से चाटना है। मैंने उसकी चूत तब तक चाटता गया। जब तक उसने मुझे यह नहीं कहा कि अब बहुत हो गया। मैंने उसकी चूत मे अपने दांत भी मार दिए थे। उसके बाद उसने अपने चूचो को मेरे मुंह पर लगा कर कहने लगी। तुम्हें मेरे चूचो को भी अच्छे से चूसना है। मैं अपने मुंह से उसके बूब्स को चूसना शुरू किया

माँ की चुदाई के बाद बेटी से शादी कर चोदा

मैंने उसे बेड पर लेटाया और उसके चूचो पर टूट पड़ा, मैं एक चुचा दबा रहा था तो दूसरा चूस रहा था. तभी वह बोली आराम से करो ना लेकिन में मैं कहा सुनने वाला था मेरे शरीर में कामदेव आ गये थे. वह बोली अपने पूरे कपड़े उतारो मैं एक मिनट में नंगा हो गया और उसके ऊपर लेट गया मेरा लंड उसकी चूत पर रगड़ रहा था, मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ में उसके चूत पर लंड सेट करने लगा, उसने अपने हाथ से पकड़ के छेद पर लगा दिया

34 के मम्मो दबा दबा के चोदा

उसने मेरी चूत के छेद पर अपना लंड लगाकर जोर का धक्का मार दिया। मेरी चूत में लंड घुसते ही मैं तड़प उठी। मै जोर जोर अम्मी अम्मी सी हा उनहूँ उनहूँ की चीखे निकालने लगीं। उसका पूरा लंड मेरी चूत के अंदर धीरे धीरे समाहित हो गया। पूरे लंड से जोर की चुदाई करते हुए भरपूर मजा लेने लगा। उससे ज्यादा मजा तो मेरे को आ रहा था

जंगल में मनमर्जी भरी चुदाई

सारी उत्तेजना जानें कहाँ हवा हो गई थी। मैं उससे लंड निकालनें की रो-रोकर विनती करनें लगी। लेकिन उसे तरस न आया, वो तो उल्टा मेरी चूचियों को चूसनें और काटनें लगा। उसनें लंड निकाल तो नहीं.. पर कुछ पल के लिए लंड को वहीं रोक दिया उसनें लंड को धीरे-धीरे गति देनी चालू की, अब उसके लंड के धक्के मेरी बुर को फाड़े दे रहे थे