Category: रोमांटिक कहानियां

रोमांटिक कहानियां, love story, हिंदी लव स्टोरी, प्यार की कहानी, रियल लव स्टोरी, hindi font love story, new hindi kahaniyan, mastara hindi kahani, रोमांस की कहानी, रोमांटिक लव स्टोरी

बॉयफ्रेंड के साथ सेक्स इन टाइमपास

उसने मेरे टॉप को निकाल दिया और ब्रा के उपर से ही मेरे मम्मों को मसकने लगा तो मेरे मुंह से भी आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | वो मेरे मम्मों को जोर जोर से मसक कर चूस रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा करते हुए मजे ले रही थी | उसके बाद उसने मेरी पेट की नाभि पर जीभ फेरा और मुझे लेटा कर मेरी जीन्स को उतार दिया तो मैंने अपने पैर सिकोड़ लिए

शादी में नशे में लिया डबल सेक्स का मजा

मैं जैसे ही उसके घर गया तो उसने मुझे बाहों में भर लिया और मुझे चूमने लगी | उसके बाद मैंने भी उसको चूमना चालु कर दिया | वो मुझे सीने पर और मेरे होंठों को चूम रही थो और मैं उसके दूध दबाते हुए उसको चूम रहा था | कुछ देर ऐसा करने के बाद हम दोनों डिस्टर पर लेट गए और एक दुसरे को सहलाने लगे

अनजाने में चुदाई का मज़ा

अब मेरा लण्ड पुरा खडा हो गया था उस सेक्सी लड़की की आवाज से मुझे मूठ मारने का मन हो रहा था मैं नंगा होकर अपना लंड हिलाने लगा मुझे बहुत मज़ा आ रहा था ठंड का टाइम था रात के करीब 11 बज रहा था मैंने बैग से तेल निकला और लंड पे लगा लिया और जोर जोर लण्ड हिलाने लगा लंड हिलाने से उसमे से आवाज आने लगी तेल की वजह से ऐसा लग रहा था कि मैं किसी को चोद रहा हु

टीचर को ठोक उसका भोसड़ा भर दिया

हमने साथ में बहुत सारी ब्लूफिल्म भी देखी और फिर एक महीने बाद मेडम ने मुझसे कहा कि वो गर्भवती है और बहुत जल्दी तुम्हारे बच्चे की माँ बनने वाली है में उनकी यह बात सुनकर बहुत खुश हुआ, क्योंकि अब में बाप बनने वाला था और इसकी खुशी में मैंने उस दिन उनको दो बार चोदा

आंटी इतनी प्यारी लगी की शादी कर चोद दिया

अब उसकी सिसकी निकलने लगी थी और उधर मेरा लंड भी पजामे में खड़ा हो चुका था और उसकी गांड में घुसने की कोशिश कर रहा था। फिर मैंने धीरे-धीरे उसकी साड़ी उतार दी और अब उसके बड़े बूब्स का साईज़ उसके ब्लाउज से मस्त नज़र आ रहा था

दूसरो के सामने भी लंड लेती मेरी बीवी

सलोनी की पीठ से लेकर चूतड़ों तक… सब गीला… 5-6 पिचकारियों के बाद सलोनी ने खुद घूम कर मेरे लंड को हाथ से पकड़ा और उसने कमाल कर दिया, दरवाज़े की तरफ़ देखते हुये सलोनी ने मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और उसे साफ करने लगी

दुसरे की गर्लफ्रेंड को चोदने में ज्यादा मजा

मैंने उत्तेजित होकर उसके मम्मों को पकड़ कर उसे ज़ोर से चुम्बन कर लिया उसके होंठों का रस चूस कर मुझे तो मज़ा ही आ गया.. पहले उसने थोड़ा ना-नुकुर किया.. फिर वो मेरा साथ देने लगी ऐसा लग रहा था कि वो केवल अपनी प्यास बुझाना चाहती थी उसने मुझसे कहा- रंजीत, मैं तुम्हारा लंड देखना चाहती हूँ

चूत में जेली लगवा लगवा पेली

मैंने अपनी टांगों को फैला कर अपनी चूत की अत्यंत छोटे, संकरे छेद को अंकल के भयंकर सुपारे पर रख कर बैठने का प्रयास करने लगी मेरे चूत में अंकल का मोटा सुपारा नहीं घुस पा रहा था ऐसा देखकर अंकल मेरी कमर को पकड़ कर उसे जोर लगाकर नीचे की ओर दबाने लगे, जेली के कमाल से लिंग धीरे-धीरे मेरी चूत में घुसना शुरू हो गया था

लंड को अपना हमसफ़र बना लिया

जितनी देर मैं ध्रुव से चिपकी रही उतनी देर वो मेरी गांड को सहलाता रहा फिर मैं नीचे बैठी और उसके लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी ध्रुव की सिसकारियाँ बढ़ने लगी वो बड़बड़ाये जा रहा था- जानू, तुम मेरा माल अपने मुँह में ले लो पर गटकना नहीं! कहकर वो झड़ने लगा और उसका वीर्य से मेरा मुँह भर गया और कुछ हिस्सा मेरे मुँह से बाहर आ गया

एक लड़की को देखा तो

मैंने मेरी उंगलियों को उसकी चुत के ऊपर घुमाना शुरू किया. जैसे जैसे उंगलियां उसकी चुत के अन्दर जातीं, वो मुझे कसके अपने सीने से दबाने लगती. फिर मैंने मेरी दो उंगलियां उसकी चुत में घुसा दीं… उसके मुँह से कराह भरी आवाज़ निकल गई. कुछ देर तक उंगलियों को उसकी चूत में अन्दर बाहर करने के बाद उसका पानी निकल गया