Category: रोमांटिक कहानियां

रोमांटिक कहानियां, love story, हिंदी लव स्टोरी, प्यार की कहानी, रियल लव स्टोरी, hindi font love story, new hindi kahaniyan, mastara hindi kahani, रोमांस की कहानी, रोमांटिक लव स्टोरी

ये कैसा इंसाफ – 6

दोस्तों आज फिर से मै अपने इस रोमांचकारी सेक्स और रोमांस से भरपूर कहानी को लिख रहा हु ये कैसा इंसाफ – 6 आशा करता हु आप जरुर पसंद करेगे शेयर करना ना भूले.

ये कैसा इंसाफ – 5

अपनी औलाद से उसकी ऐसी बेरुखी की वजह? वजह मेरे से जबान पर नहीं लायी जाती। कोशिश कीजिये। ये कत्ल का मामला है। पूरी कहानी पढ़ कर मजा ले और शेयर भी करें |

ये कैसा इंसाफ – 4

यह कहानी निम्न शृंखला का एक भाग है: ये कैसा इंसाफ – 3 दोस्तों मेरी कहानी की ये कड़ी थोड़ी देरी से प्रस्तुत कर रहा हूँ क्युकी लिखने में देरी हो गयी थी सो आज लीजिये पढ़िए ये कैसा इंसाफ का भाग 4  | काफी मजेदार कहानी है पूरी कहानी पढ़े | उसने अपने हित में […]

ऐसा माल मुझे आज तक नहीं मिला था

दोस्तों आज की कहानी तो मस्त है. ऐसे तो मस्ताराम डॉट नेट पे हरेक कहानी मस्त होगी है. पर आज जो कहानी सूना रहा हु, ऐसा कम मिलता है. आपने में से कई लोग, बहुत सारे औरतों से रिश्ता बनाया होगा, चोदा होगा, चूत चाटा होगा, या तो आपके उम्र की होगी या आपसे कुछ […]

तलाक के बाद मिला प्यार और सेक्स

प्रेषक किरण, मेरा तलाक हुए करीब 3 साल हो चुके थे। मेरी शादी जब मैं 19 साल की थी तब कर दी गई थी। मेरा पति मुझसे दस साल बड़ा था। उस समय तक मैं चुदाई और सेक्स के खेल से अनभिज्ञ थी। सुहागरात को उसने मेरी चुदाई नहीं की थी पर मुझसे मुख-मैथुन किया […]

हॉलीवुड की एक अभिनेत्री की कहानी

बात उस समय की है जब मैंने एक फ़ाईव स्टार होटल में नई नई नौकरी शुरू की थी। उस समय मै बाईस वर्ष का एक सुन्दर नौजवान था। होटल मेनेजमेन्ट करते समय मैं जिम जाता था उसके फ़लस्वरूप मेरा शरीर बेलेन्स और सुन्दर हो गया था। मेरी लम्बाई भी लगभग छ: फ़ुट और मेरा चेहरा-मोहरा […]

ये कैसा इंसाफ – 3

यह कहानी निम्न शृंखला का एक भाग है: ये कैसा इंसाफ – 2 वह अभी आधे रास्ते में ही था कि एकाएक बिना किसी चेतावनी के पानी बरसने लगा। वह बौखलाया। बारिश एकाएक इस तेजी से होनी शुरू हुई थी कि वह दौड़ कर भी गुप्ता के बंगले तक पहुंचता तो भी पूरी तरह से भीग […]

हार्ड सेक्स करने की इच्छा

मुझे सेक्स में फॉर-प्ले बहुत पसंद है इसमें में नए नए प्रयोग करता रहता हूँ, इसमें कुछ अजीब और हास्यास्पद भी है इसलिए उनका जिक्र यहाँ नहीं कर रहा, उन्हें मैं अपने कुछ ख़ास दोस्तों से शेयर कर भी चुका हूँ। एक दिन मैं नेट पर बंधन और कामुक शारीरिक प्रताड़णा में कामसुख वाली एक […]

मुझे माँ के बदले में माँ चाहिए

देहरादून मैं मेरा एक दोस्त है दीपक वो मेरे साथ ही पढ़ता है. और मेरे साथ ही बी.एफ भी देखता है. एक दिन मैं उसके साथ उसके घर गया और उसकी माँ कावेरी आंटी उम्र 40 (34-30- 36) और उसकी बहन रीता उम्र 19(28-26-32) से मिला दोनो मस्त माल है. मैं कावेरी आंटी को ऊपर […]

ये कैसा इंसाफ – 2

यह कहानी निम्न शृंखला का एक भाग है: ये कैसा इंसाफ – 1 वह वापिस लौटा। ‘अब’—वह बोला—‘नेपाली झांग की जगह विलायती विस्की हो जाये।’ ‘मेरे लिये नहीं।’—राजेश राझना एकाएक उठ खड़ा हुआ—‘मैं चलता हूँ।’ ‘जल्दी क्या है?’ ‘मुझे है। सॉरी अब कल मुलाकात होगी। ‘मर्जी तुम्हारी।’—फिर रितेश को भी उठने का उपक्रम करते पाकर […]