Mastaram.Net

100% Free Hindi Sex Stories - Sex Kahaniyan

Category: सेक्सी बातचीत

फोन पर या इंटरनेट चैट या वट्स ऐप या आमने सामने होकर भी केवल सेक्स की बातें, बातों द्वारा चुदाई का पूरा मजा लेने की कहानियाँ |
Phone ya interent pe Whatsapp pe sex ki baaten aur baaton baton me chudai ka maza lene ki khaniyan.
Stories about Sex-Chat, Sexting on internet, Whatsapp Sex Chat, Latest Sex Chat Stories.

टयूशन लेने जाता और चोद के आ जाता

मैं अभी तक किसी को चोदा नही था सिर्फ पोर्न फिल्म देखा करता था और अन्तर्वासना पेर कहानी पढ़ा करता था फिर किया था मैं भी उनको बोला मुझे भी आपको प्यार करने का बहुत मन करता है और वो मेरे बिल्कुल पास में आकर बैठ गयी और बोली कैसे प्यार करोगें मुझे। मैं बोला बहुत प्यारे करूँगा और सब कुछ करूँगा तो वो हँसने लगी।

टाइट चुत वाली भी इतने मजे से लंड चुसी

ह मुझसे लिपट गई और मेरे होठों को किस करने लगी। मैं भी उसके होठों को बहुत देर तक किस करता जाता। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था जब मैं उसे नरम होठों को अपने होठों में लेकर चूस रहा था। अब मैंने थोड़ी देर बाद अपने कपड़ों उतार दिए और उसके कपड़े भी उतार दिए। उसके गोरे गोरे स्तन मैने मुंह के अंदर ले लिए मुझे बहुत अच्छे लगता जब मैंने उसके पूरे शरीर को चाटते हुए उसकी योनि की तरफ बढ़ा

Apni Bahan Ki Choot Itani Karib Se Dekha

Meri Didi Bilkul Safed Ek Thikhe Nain Naksh Ki Lambe Balon Wali Meri Didi Hare Rang K Dheele Suit Pehne Mere Samne Bathi Thi M Unki Boobs Ka Andaza Hi Laga Rha Thi Kyunki Vo Dheele Se Suit Ke Piche Chhupe Hue The Per Main Dopahar Ke Baad Andaza Lagana Aasan Tha Wo 34 Ke Rahe Honge Or Uske Niche Vo Jannati Choot Ufffff Kya Kehna Uske Bilkul Lajawab Th

लंड के गोटो को चूसते की तरह चुसी

मैंने उसके लंड को अपने मुंह में गले तक ले कर चूसने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे मुंह को चोदने लगा फिर मैंने मेरे दोनो गोटों को भी चूसने लगी और लंड को हिलानी लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां लेते हुए मजे लगा फिर उसने मेरी लेगी को उतार दिया और फिर मेरी पेंटी को भी उतार कर मुझे भी पूरी नंगी कर दिया फिर वो मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरे पैरो को फैला कर मेरी चूत को चाटने लगा।

चुत चोदन के साथ साथ चक्षु चोदन

चूत की गुदगुदी से खिलखिला कर हंस पड़ी। ये वासना भरी किलकारियाँ और हंसी मुझे और उत्तेजित कर रही थी। उसकी गुलाबी चूत पर लण्ड का घिसना उसे भी सुहा रहा था और मुझे भी सुहा रहा था। बीच-बीच में मैं अपना लण्ड धक्का दे कर जड़ तक चोद देता था। फिर वापस निकाल कर उसकी रस भरी चूत को लण्ड से घिसने लगता था। उसकी चूत से पानी टपकने लगा था। उसने मेरा लौड़ा पकड़ पर अपने दाने पर कई बार रगड़ा मारा और फिर मस्त हो उठती थी

पति के सामने ही चुदती रही बीवी- मजेदार कहानी

मारिया जोर जोर से अपनी गांड को मेरी जांघो के ऊपर मार रही थी. और उसकी चूत के अंदर मेरा लोडा जोर जोर से अन्दर बहार होता गया. पांच मिनिट लंड की राइडिंग करने के बाद उसका पानी छुट गया. वो और भी होर्नी हो गई और मेरे लंड को और भी सख्ती से दबा के चुदवाने लगी. एक मिनिट के अंदर अंदर उसने मेरा पानी भी छुडवा दिया. हम दोनों आलिंगन बना के पड़े रहे

बीवी की मौसी की बेरहम चुदाई

मैनें उसे लंड पर बैठने के लिये कहा, मगर वो नकली हैरानी दिखाते हुवे बोली, ” ना ना बाबा ना, इतने लम्बे और मोटे लंड को मेरी कोमल चूत कैसे सहन कर पाएगी, इसे तुम्हारा ये बम्बू जैसा लंड फाड़ देगा,सूजी तो फालतु में नाटक कर रही थी, मैं तो एक बार झड़ चूका था, इसलिए मुझे कोई जल्दीबाजी नहीं थी, मगर सूजी की चूत में आग तब से अब तक उसी तरह लगी हुई थी, वो चुदवाने के लिये बुरी तरह उतावली हो रही थी

अंकल का बीज माँ की चुत मे

अंकल जी ने माँ की चूचियों को मसलना शुरु किया तो उनका जोश और भी बढ़ गया। एक तरफ़ अंकल जी बुर में जोर से झटके लगाने लगे तो दूसरी तरफ़ माँ के चूचियों को जोर जोर से मसलने लगे। अब माँ की बुर में लण्ड जब आधे से ज्यादा चला गया तो माँ के मुंह से आआआआआआहह्हह नहीं आआआआआ आह्हह्ह की आवाज आने लगी। अंकल जी ने माँ के होठों को चूसना शुरु कर दिया। लगभग आधे घण्टे चोदने के बाद अंकल जी का बीज माँ की चूत में गिरा।

माँ बेटी के मम्मे देख भुवन का लंड खड़ा हो गया

मानवी अब भुवन की हरकत और बातो से और सिहर्ती है. वैसे तो पति टूर पे रहने से वो सेक्स के लिए बहुत तड़प रही थी. इतने सालो से उसने अपनी फीलिंग्स पे कंट्रोल रखा था पर आज इस भुवन के सामने वो बेबस थी. मानवी उसे रोकना चाहती थी लेकिन एक तो भुवन ने कविता को मसला और अब उसे टच करके कविता के बारे मे ओपन बात करके वो मानवी को गरम कर रहा था.

रोजाना रात में लेते थ्रीसम सेक्स का मजा

हम तीनो रोज रात को चुदाई किया करते थे | फिर एक दिन मेरे साथ वाला चौकीदार नहीं सोया था और मुझे या लगा था की वो सो रहा है | मैं फिर उन के कमरे गया और हम तीनो ने चुदाई करना शुरू कर दी फिर एक दम से दरवाजे पर दस्तक हुई और हम तीनो डर गए | और जैसे ही दरवाजा खोला तो देखा कि रामलाल और मालकिन दोनों खड़े हैं | फिर क्या था मुझे नौकरी से लात मार कर निकाल दिया गया और मैं फिर बेरोगार हो गया था मेरे साथ साथ उन दोनों लड़कियों को भी निकाल दिया गया था

Page 1 of 1112345...10...Last »

Disclaimer: This site has a zero-tolerance policy against illegal pornography. All porn images are provided by 3rd parties. We take no responsibility for the content on any website which we link to, please use your won discretion while surfing the links. All content on this site is for entertainment purposes only and content, trademarks and logo are property fo their respective owner(s).

वैधानिक चेतावनी : ये साईट सिर्फ मनोरंजन के लिए है इस साईट पर सभी कहानियां काल्पनिक है | इस साईट पर प्रकाशित सभी कहानियां पाठको द्वारा भेजी गयी है | कहानियों में पाठको के व्यक्तिगत विचार हो सकते है | इन कहानियों से के संपादक अथवा प्रबंधन वर्ग से कोई भी सम्बन्ध नही है | इस वेबसाइट का उपयोग करने के लिए आपको उम्र 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए, और आप अपने छेत्राधिकार के अनुसार क़ानूनी तौर पर पूर्ण वयस्क होना चाहिए या जहा से आप इस वेबसाइट का उपयोग कर रहे है यदि आप इन आवश्यकताओ को पूरा नही करते है, तो आपको इस वेबसाइट के उपयोग की अनुमति नही है | इस वेबसाइट पर प्रस्तुत की जाने वाली किसी भी वस्तु पर हम अपने स्वामित्व होने का दावा नहीं करते है |

Terms of service | About UsPrivacy PolicyContent removal (Report Illegal Content) | Disclaimer | Parental Control