चाची को अपनी रंडी बना दिया

हैलो दोस्तो कैसो हो मेरा नाम राहुल है. मेरे लंड बहुत बार है ये पूरे 8 इंच का जुगाड़ है ये मेरी पहली कहानी है उमीद करता हु की आप सब को बहुत अच्छी लगेगी ये कहानी नही रियल कहानी है। मेरी चाची का नाम अल्का है वो बहुत सेक्सी है. उनका फिगर लगभग 38 40 48 होगा कहानी  ऐसी है की लड़को व लड़कियो का पानी निकलवा देगी। तो दोस्तो मैंने अंतर्वस्ना पर बहुत कहानिया पड़ी है और कहानी पड़कर मैं मुठ् भी मार लेता हु तो मैं अपनी कहानी शुरू करता हु। ये कहानी मेरी चाची व मेरे सेक्स की है मुझे सेक्स करने मैं बहुत मज़ा आता है। मैंने बहुत से लड़कियो की चुत्त व गांड मेरी हैं पर मेरी चाची जैसे गांडु कोई भी नही मिली मेरा लंड 8 इंच का जो अंदर जाते ही पानी निकलवा देता है।

मेरी चाची भी बहुत ज्यादा अच्छी है ये गर्मियो की होलिडेस् की बात है जब मेरे चाचा तो जयपुर गए थे और उनके बच्चे अपनी नानी के पास गए थे तो रात हो गई थी बारिश आ रही थी व बिजली कड़क रही थी तो मेरी चाची ने कहा मुझे अकेले को डर लग रहा है तुम मेरे पास ही सो जाना मैंने कहा ठीक हैं। मैंने सोचा की आज रात का इंतजाम तो बन गया और मैं सोने जल्दी ही चल गया तो मेरी चाची ने कहा की मेरी पैरो पर थोड़ी सरसों के तेल की मालिश कर दो मैं पैरों पर मालिश करने लग गया. फिर उन्होंने कहा पेट पर भी मालिश का दे मैंने पेट पर मालिश करते मेरी आँख लग गयी व तेल की बोतल गिर गयी।

सारा तेल उनके बेल्यूज के पास से बूब्स से अंदर चल गया और मैंने उस साफ करने लगा तो चाची ने कहा की एडवांटेज मत ले मैं अपने आप साफ का लूंगी पर उन्होंने मज़ाक में कहा। और कमरे मैं जाकर दूसरी ड्रेस पहन आये मैंने उनसे कै चाची अच्छी लग रही हो तो वो आकर लेट गया तो मैने भी कै की मेरे भी पैरों और पेट की मालिश कर दो चाची प्लीज़ तो वो मालिश करने लगी। और उस समय मुझे नींद आ गया और मेरा लंड खड़ा हो गया और चाची ने देख लिया और मैं सोया हु था उन्होंने मेरा लोवर् खोल दिया व मेरे लंड की मालिश करने लगी तो म उठ गया और चाची को कहा की ये का का रही हो आप तो वो बोलने लगे की ये भी मालिश करने के लिए खड़ा हो गया तो सोच इसके भी मालिश का दु।

मैने कहा की आपकी चुत मे नही खुजली हो रही होंगी लो उसकी भी मालिश कर दो कहा की सोच क्या रहा हैं कर दे मैंने कहा की दर्द बहुत होगा देख लो तो चाची ने बोला दर्द ही लेना है।  तो मैने उनकी ड्रेस खोल दि वो सिर्फ ब्रा व पैंटी में ही थी तो मैने ब्रा खोल दि और उनके बूब्स चूसने लग और 10 मिनट तक चाट ही रहा तो चाची बोली सिर्फ चूसे गा य फिर मुझे भी चूसने देगा तो मैने अपनी ट् शिर्ट और लोअर पर खोल दिया और वो लंड चूसने लग और आधे घंटे चुस्ती रही और में उनके कभी बूब्स दाबता तो वो सिसकिया लेती तो माहौल और गरंम् हो जाता।

अब मैं चाची को कहा की चाची 69 की स्थिति में आ जाओ तो वो कहती मुझे तु चाची नही रंडी बोल तो मैने की आजा मेरी रंडि तो म इसकी चूत चाटने लगा और वो मे लंड तो सके बाद में चाची के पैरों के बीच आ गया और लंड चिकना था।  तो न झटके में ही पर 8 इंच का लंड अंदर डाल दिया और वो बहुत्त जोर से चिलायी और थोड़ी डर बाद शांत हो गई तो मैने धीरे से धाके देने लग और फिर झटको की स्पीड अचनाक् बड़ा दि और फास्ट सेक्स स्टार्ट किया चाची चींख रही थी की बाहर निकल पर मैने उसकी एक्क भी ना माणि और धाक देते रहा। वो गंदी गालिया निकल रही थी कहते की भौंसडी के निकाल, मादरचोद छोड़ मुझे, बहन के लौंडे निकल वर्ना तेरे चाचा को के दूँगी तो मैने कहा किसी को जा के केह देने जब तक पानी नही निकल जाता तब तक लंड भी नही निकलेगा भोंसड़ी आ के चोदूँगा साली।

रंडि तो 45 मिनट के बाद तेज झटके मारने के बाद मैने कहा की कहा निकलु तो रंडी ने बोला की चूत मैं ही निकाल दे तो 50 मिनट बाद सी वहीं निकाल दिया और इन में मेरी चाची का 5 बार हो गया था।  तो थोड़ी समय बाद मुह से लंड चाट के साफ किया व वापस से तैयार हो गया। लंड को खडा करके चाची ने कहा की कहा डालेगा तो रंडी को कुतिया बना का गांड में लंड का सुपाडा डाल दिया और 1 घंटे बाद मै चाची की गांड मे के वहीं झड़ गया और हम दोनो साथ में नहाने चल गए। और पूरी रात में हमे वापस 6 बार उसकी चूत क भौंसदा बनाया और सुबाह् तिक सिर्फ सेक्स ही चला और पूरी रात नही सोये और सवेरे तो मेरी चाची चल भी नही पा रही थी। और ऐसे ही हम रोज खेलते थे और ये सेक्स ऐसे ही पूरी पूरी रातों तक 10 दिनों चलो और हम टाइम निकल का रोज दिंन में भी 2-3 राउंड सेक्स के हो जाते थे तो चाची 10 दिनों तक ठीक से चल भी नही सकी।  और जब घर पर कोई नही होता तो सेक्स कर लेते है।

एक बार घर पर कोई नही था तो मेरे दोस्त घर पर आये थे तो घर पर हम 7 लोग थे तो चाची ने मुझे कहा की किसी तरह से 7 लोगो से साथ अपनी मरवाई थी।  तो मैं तो नीचे लेट् गया और इसके गांड मारने लग गया और नरेश और महेंद्र ने दोनो ने साथ न साथ दो लंड न चूत म डाल दिया और अभिषेक इसक मुह में डाल रखा था और दो लंड हाथ में पकड का आगे पीछे का रही थी और विक्रम इसका दूध पि रहा था और में भी इसकी चुचिया दबा रहा था।  कोई भी छेद खाली नही छोड़ और लास्ट में तो इसकी गांड और इसके मुह और इसकी चूत में भी 2-2 लंड दल दिया और 30 मिनट बाद सभी जड़ने वाले थे। तो सारा पानी रंडी ही पि गई और पूरे सेक्स के मजे लिए अब भी कभी मेरे दोस्त घर पर होता ह। तो मौका देख का ग्रुप सेक्स का मज़ा रंडी के देते ह न मेरी चाची भी मुझे के रहने लगी हैं।

।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।दोस्तो बताना स्टोरी कैसे लगी।।।।।।।।।।।।।।।।।।।।