बड़ी शालीनता से चुत की चुदाई

मुझे एक दिन दीपक फोन करता है और कहता है तुम अभी कहां हो मैं उसे कहता हूं कि मैं तो घर पर ही था तो दीपक मुझसे कहने लगा और सुनाओ क्या चल रहा है मैंने उसे कहा कुछ भी नहीं बस पापा के साथ आजकल काम पर जाने लगा हूँ। वह कहने लगा मनोज तुम्हें भैया की शादी में आना है मैंने दीपक से कहा भैया की शादी कब है तो वह कहने लगा बस कुछ ही दिन बाद भैया की शादी है और तुम्हें जरूर आना है मैं इसीलिए तुम्हे फोन कर रहा था।

मैंने दीपक से कहा ठीक है मैं जरूर भैया की शादी में आऊंगा दीपक का परिवार पहले दिल्ली रहता था परन्तु अब उसके पिताजी ने भटिंडा में अपना बिजनेस शुरू कर लिया और उसके बाद वह लोग भटिंडा में ही रहने लगे। दीपक और मेरी बचपन की दोस्ती है तो मैं दीपक के भैया अमित की शादी में भटिंडा चला गया मैं जब भटिंडा गया तो दीपक के मम्मी पापा और उसके भैया मुझसे मिलकर बहुत खुश हुए हम लोगों के परिवार में बहुत ज्यादा प्यार है।

दीपक मुझे कहने लगा क्या अंकल आंटी लोग नहीं आए मैंने उससे कहा नहीं वह लोग तो नहीं आये क्योंकि पापा को कुछ जरूरी काम था, दीपक मुझे कहने लगा मैं तुम्हें भटिंडा की सैर कराता हूं। हम दोनों दीपक की कार से जा रहे थे तभी ना जाने कहां से एक और कार अचानक से सामने आ गई और हमारी और सामने वाली कार की बड़ी जोरदार टक्कर हुई। कुछ देर तक तो मुझे कुछ समझ नहीं आया जब मैं बाहर उतार तो मैंने देखा कार एक लड़की ड्राइव कर रही थी।

दीपक भी गुस्से में था. दीपक बहुत गुस्से में था लेकिन मैंने दीपक को समझाया और दीपक ने फिर प्यार से बात की मैंने उस लड़की से कहा क्या तुम कार देखकर नहीं चला सकती तुम रॉन्ग साइड से आ रही थी और तुम्हारी वजह से हमारी गाड़ी को कितना नुकसान हुआ है। उसके साथ में उसके मम्मी पापा भी थे उन्होंने कहा बेटा हमारी लड़की ने अभी अभी कार सीखी है इसलिए उससे गलती हो गई आप लोगों का जितना भी नुकसान हुआ है वह सब हम आपको दे देते हैं। वह लोग अच्छे घर से थे इसलिए उन्होंने हमसे बड़ी शालीनता से बात की उन्होंने हमें कुछ पैसे दिए और हम लोग वहां से चले गए।

दीपक कहने लगा पहले तो गाड़ी का काम करवा लेते हैं उसके बाद हम लोग कहीं घूमने के लिए जाएंगे सारा मूड ही खराब हो गया है मैंने दीपक से कहा कोई बात नहीं हम लोग पहले कार का काम करवा लेते हैं उसके बाद हम लोग चलेंगे। हम दोनों वहां से गेराज में चले गए और कार को ठीक होने में करीब तीन घंटे लग गए थे हम लोगों का दिन तो पूरा खराब हो चुका था। दीपक कहने लगा है यार आज तो पूरा दिन ही खराब हो गया है मैंने दीपक से कहा कोई बात नहीं अभी तो मैं तुम्हारे साथ ही हूं और भैया की शादी के बाद ही मैं जाऊंगा उसके बाद हम लोग घूमने का प्लान बना लेंगे। दीपक कहने लगा यार सॉरी आज ना जाने सुबह सुबह किसका मुंह देख लिया था कि सारा दिन ही खराब हो गया है खैर छोड़ो जो हुआ उसे जाने दो हम लोग घर चलते हैं।

हम दोनो वहां से घर लौट आए मुझे दीपक का मूड उस दिन कुछ ठीक नहीं लग रहा था मैंने दीपक से कहा यार अब तो तुम उस बात को भूल जाओ दीपक कहने लगा मुझे दुख इस बात का है कि आज हम लोग कहीं घूमने नहीं जा पाये इतने समय बाद तो तुम मुझे मिले थे और हम लोगों का पूरा प्लान ही चौपट हो गया। मैंने दीपक से कहा कि अब तुम यह बातें छोड़ो तुम मुझे कुछ बता रहे थे वह मुझे कहने लगा मैं कौन सी बात तुम्हें बता रहा था तो मैंने उसे याद दिलाया और कहा तुम किसी लड़की के बारे में मुझसे बात कर रहे थे।

वह मुझे कहने लगा हां कुछ समय पहले ही मेरी फ्रेंडशिप किरन से हुई है और किरन मुझे बहुत अच्छी लगती है मैं सोच रहा था कि आज हम लोग किरन से मिलते लेकिन पूरा मूड खराब हो गया है। मैंने उसे कहा कोई बात नहीं हम लोग कल किरन से मिल लेंगे। अगले दिन हम लोग किरन से मिले किरन और दीपक के बीच बहुत अच्छी दोस्ती है वह दोनों एक दूसरे से काफी बात कर रहे थे लेकिन उन दोनों के बीच में कोई रिश्ता नहीं बना था वह दोनों सिर्फ एक अच्छे दोस्त हैं।

कुछ ही दिनों बाद अमित भैया की शादी हो गई उसके बाद हम लोग एक दिन घूमने के लिए गए लेकिन मैं ज्यादा समय तक भटिंडा में नहीं रुक पाया और मैं दिल्ली लौट आया। मैं दिल्ली आ चुका था मैंने सोचा काफी दिनों से अपने दोस्तों से नहीं मिला हूँ तो अपने दोस्तों से मिलने के लिए जाता हूं मैंने अपनी कार स्टार्ट की लेकिन कार स्टार्ट ही नहीं हो रही थी मैंने सोचा मुझे लेट हो जाएगी तो मैं मेट्रो से ही चला जाता हूं। मैं मेट्रो से अपने दोस्तों से मिलने के लिए चला गया हम लोगों ने उस दिन मूवी देखने का प्लान बनाया था और जब मैं मॉल में पहुंचा तो सब लोग मेरा इंतजार कर रहे थे वह कहने लगे तुम्हें आने में इतनी देर कैसे हो गई।

मैंने उन्हें बताया कि दरअसल मेरी कार आज स्टार्ट ही नहीं हो रही थी जिसकी वजह से मुझे मेट्रो से आना पड़ा। हम लोग मूवी देख रहे थे तभी कुछ लड़कियां बड़ा ही शोर मचा रहे थे अंधेरे में तो कुछ दिखाई नहीं दे रहा था लेकिन जब इंटरवल हुआ तो मैंने देखा की वह तो वही लड़की है जो भटिंडा में कार ड्राइव कर रही थी और जिसने दीपक की कार को टक्कर मार दी थी। उसने मेरी तरफ देखा तो वह मुझ से बचने की कोशिश करने लगी लेकिन मैंने उससे बात की और कहा मैडम क्या आप कार चलाना सीख चुकी है वह मुझे कुछ नहीं कह रही थी और इंटरवल के बाद हम दोनों साथ में ही बैठ गए। मैंने उसे उसका नाम पूछा उसका नाम सिमरन है मैंने भी उसे अपना नाम बताया हम लोग इंटरवल के बाद मूवी देख ही ना पाए हम दोनों एक दूसरे से ही बात करते रहे मुझे इतना तो मालूम चल चुका था कि वह दिल्ली में जॉब कर रही है।

मैंने सिमरन का नंबर ले लिया था और उसके बाद सिमरन से मेरी एक दो बार मुलाकात हुई लेकिन हम दोनों जब भी मिलते तो हमारे बीच में वह कार वाला किस्सा जरूर आ जाया करता था कि कैसे उस दिन सिमरन ने दीपक की कार को टक्कर मारी थी। मैंने सिमरन से कहा की हम लोगों ने घूमने का प्लान बनाया था और तुम्हारी वजह से हमारा पूरा प्लान चौपट हो गया था सिमरन मुझे कहने लगी कोई बात नहीं जब मैं दीपक से मिलूंगी तो हम लोग कहीं घूमने का प्लान बनाएंगे। मैंने एकदम दीपक को फोन किया तो दीपक मुझसे मेरे हाल चाल पूछने लगा मैंने दीपक को सिमरन के बारे में बताया वह कहने लगा तुमने मेरी कार को टक्कर मारने वाली से ही दोस्ती कर ली।

मैंने उसे कहा ऐसी कोई बात नहीं है यार वह इतनी भी बुरी लड़की नहीं है जितना तुम उसे समझ रहे हो उसने जो भी किया वह सब उसने कौन सा जानबुझ के किया था। दीपक मुझे कहने लगा यार मैं मजाक कर रहा हूं दीपक मुझसे कहने लगा तुम भटिंडा कब आओगे मैंने उसे कहा बस कुछ समय बाद आऊंगा तब हम लोग कहीं घूमने का प्लान बनाएंगे। वह कहने लगा हां तुम आ जाओ फिर हम लोग घूमने का प्लान बनाएंगे। कुछ समय बाद मैं भटिंडा चला गया और सिमरन भी भटिंडा में ही थी मैंने सिमरन को फोन किया तो वह मुझसे मिलने के लिए आ गई। दीपक और किरन एक दूसरे से प्यार करने लगे थे हम लोगों ने शिमला घूमने का प्लान बना लिया हम लोग शिमला घूमने के लिए चले गए।

सिमरन और मेरे बीच में ऐसा कुछ भी नहीं था लेकिन दीपक और किरन एक दूसरे के बिना रह ही नहीं पा रहे थे उन दोनों के बीच में सेक्स संबंध बने वह दोनों एक ही रूम में थे। मैं और सिमरन एक रूम में बैठ कर बात कर रहे थे सिमरन को यह तो पता था कि किरन और मनोज एक दूसरे के साथ सेक्स संबंध बना रहे हैं वह भी उत्तेजित होने लगी थी। जब वह मेरे पास बैठी तो वह मुझसे चिपकने की कोशिश करने लगी उसने मेरे हाथ को पकड़ लिया। जब उसने मेरे हाथ को पकड़ा तो मैंने भी उसके गुलाबी होठों को किस करना शुरू किया जब मैं उसके होठों को किस करता तो मुझे बड़ा मजा आ रहा था।

मैंने उसे बिस्तर पर लेटा दिया और उसके कपड़े उतारने शुरू किए। मैंने उसके गोरे बदन को देखा तो मेरे अंदर का जोश और भी ज्यादा बढ गया मैंने जैसे ही सिमरन की चूत के अंदर उंगली डालनी शुरू की तो वह कहने लगी तुम उंगली मत डालो अपने लंड को ही डाल दो। मैंने सिमरन की चूत के अंदर अपने लंड को प्रवेश करवा दिया मेरा लंड जब उसकी योनि के अंदर प्रवेश हुआ तो वह चिल्ला उठी उसकी योनि से खून का बहाव होने लगा था मैं उसे तेज गति से धक्के देने लगा।

मुझे उसे धक्के मारने में बड़ा आनंद आ रहा था वह मेरा पूरा साथ दे रही थी मैंने जब उसके दोनों पैरों को अपने कंधों पर रखा तो वह कहने लगी मनोज मुझे और तेजी से धक्के मारो मुझे मज़ा आने लगा है। उसकी योनि से खून का बहाव हो रहा था मैं उसे तेज गति से धक्के मार रहा था लेकिन उसे जब मैं धक्के मारता तो मुझे बड़ा मजा आ जाता और उसे चोदने में मुझे बहुत आनंद आ रहा था काफी देर तक मैंने उसकी टाइट चूत के मजे लिया, जैसे ही मेरा वीर्य पतन हुआ तो वह मुझे कहने लगी कसम से आज तो मजा आ गया।

मैंने उसे कहा मैंने तुम्हारी सील तोड़ी है मुझे इस बात की बहुत खुशी है और तुम्हारा फिगर वाकई में लाजवाब है। मैंने उसकी चूत दोबारा मारी उसकी बड़ी गांड को मैंने देखा तो मुझे उसे चोदने का दोबारा मन हुआ। मैंने उसकी चूत दोबारा से मारी, दीपक किरन को चोद रहा था और मैं सिमरन को चोद रहा था। वह सफर हम दोनों के लिए ही बड़ा यादगार रहा दीपक और किरन भी एक दूसरे के साथ रिलेशन में है लेकिन मेरे और सिमरन के बीच ऐसा कोई रिलेशन नहीं है।