बिहारी स्टाइल में देसी बुर की चुदाई

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम टिंकू है और मैं सासाराम का रहने वाला हूँ | मुझे सेक्स स्टोरीज पड़ने का बहुत शौक है इसीलिए मैंने सोचा की क्यों ना मैं भी अपनी जिन्दगी की एक सच्ची घटना को आप तक पहुचाऊ | ये मेरी पहली स्टोरी है अगर कोई गलती हो तो माफ करना दोस्तों अब मैं आप सब को ज्यादा बोर ना करते हुए अपनी कहानी पर आता हूँ |

मेरी उम्र 26 साल है ये स्टोरी आज से चार साल पहले की है | और ये कहानी जिसके बारे में है उसका नाम हुटीया है | तब उसकी उम्र 20 साल थी | क्या मस्त माल थी | उसका फिगर लगभग 30-28-34 होगा | उसकी चूचियां देखकर मेरा लंड खड़ा होने लगता था | मैं हमेशा उसको स्कूल टाइम से ही लाइन मरता था | क्यूंकि वो हमारे गाव की सबसे क्यूट और सेक्सी लड़की थी | पर वो किसी को भाव नहीं देती थी ना मुझे ही |

एक बार मैंने और मेरे दोस्तों ने मिलकर एक फंक्सन ओर्गेनाईज किया जिसमे बहुत से लडको ने सोंग्स पर परफोर्म किया | मैंने भी एक सोंग्स पे डांस किया था | जब सब ख़तम हुआ तो हम मिलकर केक काट रहे थे | तो मैंने नोटिस किया की वो मुझे बड़े गौर से देख रही थी | मैंने उसको एक प्यारी सी स्माइल दी वो भी मुझे देख के मुस्कुराने लगी फिर मैंने केक कटा और उसके पास जाकर हेप्पी न्यू इयर बोला | उसने भी मुझे मुस्कुराते हुए सेम टू यू बोला फिर उसने मुझसे कहा की आप डांस बहुत अच्छा करते है | मैंने उसे थैंक्स बोला और फिर वही से हमारी बात सुरु हो गयी हम दोनों ने नंबर एक्सचेंज किये | एक दो महीने में हम दोनों काफी क्लोज हो गए और हमारी फोन पर रोज बातें होने लगी |

एक दिन हम दोनों फोन पर बातें कर रहे थे | हम दोनों सेक्स के टॉपिक पर बातें करने लगे | बातो ही बातो में हम ना जाने कब फोन सेक्स करने लगे हमें पता ही नहीं चला | उसके बाद वो फोन कट करके सो गयी | उसके बाद मैं भी उसके नाम की मुठ मार के सो गया | अगले दिन से हम चैट में बाते करने लगे और हम रोज सेक्स चैट करने लगे एक दिन उसने दोपहर में फोन किया और मुझसे कहा की उसके मम्मी और पापा कही जाने वाले है और कल सुबह लौटेंगे | उसने मुझसे कहा की क्या तुम रात को मेरे घर आ सकते हो |

बस फिर क्या था मैं ख़ुशी से उचल पड़ा | मैं तो यही चाहता था जैसे ही रात हुई मैंने अपने घर वालों से कहा की मैं अपने दोस्त के घर जा रहा हूँ और सुबह घर लौटूंगा | फिर मैं उसके घर पंहुचा | उसने दरवाजा खोला उसने ब्लू कलर का नाईट सूट पहन रखा था | मैंने उसको हग किया वो मुझे किस करने लगी | मैं उसके मम्मो को धीरे- धीरे मसल रहा था और उसके होंठों को चुसे जा रहा था | वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी | मैंने अपना एक हाँथ उसके चूतडों पर रखा और उनको दबाने लगा वो धीरे-धीरे गरम होने लगी थी | फिर मैंने उसको अपनी गोदी में उठाया और उसके बेडरूम में ले गया | तभी मैंने उसके कपडे उतार दिए उसने गुलाबी कलर की ब्रा और पैंटी पहन रखी थी | वो ब्रा और पैंटी में और भी मस्त लग रही थी |

मैंने उसकी ब्रा निकाल दी और उसके गुलाबी निपल्स को अपने मुहँ में लेकर चूसने लगा | वो एक दम छटपटाने लगी मैंने उसके निपल्स को मसलकर लाल कर दिया | उसके बाद उसने मेरी टी-शर्ट निकाल दी और मेरी बेल्ट खोलकर मेरी जींस को नीचे किया | मैंने अपनी जींस निकाल दी अब मैं उसके सामने सिर्फ अंडरवियर में था | उसने अपना हाँथ डाल कर मेरे लंड को बाहर निकाला मेरे लंड को देखकर उसकी आँखों में चमक सी आ गयी | फिर मैंने उसकी पैंटी उतार दी जो की पूरी तरह से भीग चुकी थी | फिर हम बेड पे लेट गए और मैंने उसकी चूत को अपनी जीभ से चाटना सुरु किया | तो जेसे वो पागल सी हो गयी और मेरे बाल नोचने लगी | तभी एक दम मेरे मुहँ पे कुछ गरम-गरम सा महसूस हुआ | मैं समझ गया की वो झड चुकी थी | मैंने अपना लंड उसको चूसने के लिए कहा पहले तो वो मना करने लगी पर मेरे बहुत कहने पर वो मान गयी | फिर वो मेरा लंड चूसने लगी मुझे बहुत मज़ा आ रहा था |

फिर मैंने उसको चूत में लंड लेने को कहा वो मेरे लंड को देख कर कहने लगी नहीं ये बहुत बड़ा है मैं इसे अपनी चूत में कैसे लूंगी बहुत दर्द होगा | मैंने कहा की थोडा दर्द होगा पर उसके बाद में बहुत मज़ा आयेगा | मेरे बहुत कहने पर वो मान गयी | पर उसने कहा की लंड पे तेल लगा लो नहीं तो मैं नहीं डालने दूँगी | फिर वो तेल लेकर आई और मेरे लंड पे तेल लगाया | मैंने अपना लंड उसकी चूत के मोहरे पर रखा | और उसको किस करने लगा और अपने हांथो से उसके बूब्स मसलने लगा |

मैंने धीरे से धक्का लगाया मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया वो चीख पड़ी पर मैंने उसकी आवाज़ नहीं निकलने दी और उसको जोर से किस करने लगा साथ में उसकी चुचियों को मसलने लगा | मेरे लंड में भी दर्द हो रहा था | उसकी चूत बहुत टाइट थी | मैंने फिर एक धक्का लगाया और उसकी चूत में अपना पूरा लंड पेल दिया | वो मुझको अपने ऊपर से हटाने की कोशिश करने लगी | उसे बहुत दर्द हो रहा था | उसकी आँखों से आंसू निकलने लगे और उसकी चूत में खून आ गया था |

मैंने धक्के लगाने बंद कर दिए और उसको जोर से किस करने लगा | थोड़ी देर रुकने के बाद वो कुछ शांत हुई | और मैंने धीरे-धीरे धक्के लगाने सुरु किये | कुछ देर बाद वो भी मेरा साथ देंने लगी | मेरे लंड में भी दर्द हो रहा था | इस वजह से मैं अभी तक नहीं झडा वो इतनी देर मैं दो बार झड चुकी थी | मैं उसको लगभग 20 मिनट तक चोदता रहा | मैं झड़ने वाला था मैंने उससे पूछा की अन्दर छोड़ दूं | वो कुछ नहीं बोली बस ना में सिर हिला दिया | मैंने अपना सारा माल उसके पेट पर निकाल दिया | वो मेरे लंड पे लगे खून को देख कर डर गयी फिर मैंने उसे समझाया की पहली बार में ये खून सब लड़कियों के निकलता है तब जाकर वो कुछ शांत हुई फिर हम दोनों बाथरूम में गए हम दोनों ने एक दुसरे को साफ़ किया |

उसके नंगे बदन को देखकर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था | उसने हलकी से स्माइल की और मेरे लंड को पकड़ कर हिलाने लगी फिर उसने मेरा लंड अपने मुहँ में ले लिया और चूसने लगी | मुझे जोश आ गया मैंने उसके सिर को पकड़ा और उसके मुहँ को चोदने लगा | मैं उसके बूब्स को मसलने लगा और फिर मैंने उसको खड़ा किया और उसकी चूत में अपनी उँगली डाल दी उसके मुहँ से आह्ह ओह्ह्ह इस्श्ह की सिस्कारिया निकलने लगी | वो फिर से गरम हो चुकी थी | मैंने उसको घोड़ी बनने को कहा और उसकी चूत में पीछे से लंड डाल दिया | और उसकी कमर पकड़ कर धक्के लगाने लगा |

मैंने उसके चूतड़ों को अपने हाँथों से पीट कर लाल कर दिया | वो भी अपनी कमर चला-चला कर मेरा पूरा साथ दे रही थी | उसे बहुत मज़ा आ रहा था | वो जोर से आह्ह्ह ओह्ह्ह येह्ह्ह की  मादक सिस्कारिया निकाल रही थी और कह रही थी और कह रही थी की चोदो मुझे और जोर से अह्ह्ह चोदो उम्ह्ह फाड़ दो मेरी चूत को | मैंने जोर से उसको चोदे जा रहा था और उसके मम्मो को मसले जा रहा था | लगभग 20 मिनट उसको चोदने के बाद वो झड गयी | पर मैं धाक्के लगता गया और 10 मिनट के बाद मैं भी झड गया |

फिर हम दोनों ने साथ में स्नान किया | फिर उसने खाना लगाया और हम दोनों ने खाना खाया और जाकर लेट गए | मेरा मन उसकी गांड मारने को कर रहा था | मैं उसके बूब्स को फिर सहलाने लगा और उसकी पैंटी में हाँथ डालकर उसकी चूत को सहलाने लगा फिर मैंने अपना हाँथ उसकी गांड तक पहुचाया और उसकी गांड में उँगली डाल दी | वो एकदम उछल पड़ी फिर उसने अपने सारे कपडे निकाल दिए और मुझे भी नंगा कर दिया |

फिर उसने मेरा लंड चूसकर खड़ा किया | मैंने उसे अपने लंड पर बैठने को कहा उसने मुझे धक्का देकर लिटा दिया फिर मेरे लंड को पकड़कर अपनी चूत पर सेट किया और मेरे लंड पर बैठ गयी | मैं उसकी चूत में लंड अन्दर बाहर करने लगा | वो भी कमर चला के पूरा मज़ा ले रही थी | लगभग 15 मिनट उसकी चुदाई करने के बाद वो झड गई | मैंने उसकी गांड मारने को कहा पहले तो उसने मना किया |

फिर वो मान गयी उसके बाद मैंने उसको घोड़ी बनाया और अपने लंड पे थोडा तेल लगा के उसकी गांड में अपना लंड डाल दिया | उसे दर्द हो रहा था उसने मुझसे लंड बाहर निकालने को कहा पर मैं कहा सुनने वाला था | मैं धक्के लगाता रहा अब उसे भी मज़ा आने लगा वो भी अपनी गांड चला के मेरा साथ दे रही थी उस रात मैंने उसकी तीन बार चुदाई की | हमें उस दिन बाद जब भी मौका मिलता था | हम सेक्स किया करते थे |