गर्लफ्रेंड को बेस्ट फ्रेंड से चुदवाया

दोस्तों आज मै आपको लोगो को सच्ची कहानी बताने जा रहा हु अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में. मेरा नाम विजय है और मै जयपुर का रहने वाला हु मै बीकॉम का स्टूडेंट हु मै कॉलेज के लिए हॉस्टल ले कर पढ़ाई करता हु और  मेरी गर्लफ्रेंड का नाम सुचिता है जो मेरे ही गांव की है  हम लोग रोज़ फोन पर बात करते है जब भी मिलने के लिए बुलाती है तो मै इवनिंग में मिलने चला जाता हु वो पास के गार्डन में मिलने आ जाती है हम लोग साडी रात वही चुदाई करते और सुबह होने से पहले चले जाते है मेरे क्लास मेट सुमित था जो मेरे ही रूम में रहता है और हम लोग बेस्ट फ्रेंड भी है तो जब भी सुचिता का फ़ोन आता था तो सुमित भी बात कर लेता था की भाभी कैसी हो क्या हो और कैसे, मन कर रहा हो तो बोलो विजय को भेजू. तो मैंने भी इग्नोर कर देता था क्योकि वैसे भी ये हमेसा का मज़ाक था .

जब मै सुचिता से मिलने जाता तो पोर्न मूवी का कलेक्शन ले के जाता था जिसे हम लोग मज़े से देखते थे और नए नये तरीके आजमाते थे  एक दिन मैंने सुचिता को थ्रीसम की मूवी दिखाई और पूछा मस्त है क्या, तो वो बोली हा पर ऐसा विदेशो में होता है , फिर मै मैंने कहा ऐसा नहीं है यहाँ भी लोग करते ह तो बोली नहीं अगर ऐसा है तो यहाँ का दिखाओ  तो मैंने उसको देसी थ्रीसम की ऑनलाइन वीडियोस दिखाई जिससे वो बोली सच में, तो मैंने पूछा तुम्हे भी करना है तो बोलो , सुचिता ने कहा नहीं देखना अलग बात है पर करना नहीं है

फिर मैंने ओके बोल दिया और फिर रूम पर आ गया लेकिन मुझे इतना मालूम था की इसको थ्रीसम पसंद ह और कर भी सकती बस बोल न रही है तो मै सोचा क्यों न सुमित को इसमें शामिल करता हु काम इजी हो जायेगा. तो मेरे पास सुचिता की कुछ हॉट पिक्स भी थी तो एक दिन मैंने सुचिता से बोलै यर मोबाइल मै रख के चला गया था तो सुमित ने तुम्हारी न्यूड वाली पिक्स देख ली. ये सुनते ही वो बोली क्या, वो क्या सोचेगा मैंने कहा कुछ न उसे मालूम तो है पर देख कर बोल रहा था यार सुचिता के बूब्स   बहुत मस्त है मन करने लगा सेक्स के लिए,  तो सुचिता ने बोला यर अब मै उससे बात नहीं करूंगी.

फिर मैंने कहा की अगर मन हो तो बोलो इस बार लेकर आउ थ्रीसम देखने से अच्छा करते है , तो बोली नहीं, फिर मैंने फ़ोन रख दिया.

फिर मै मोबाइल में सुचिता के पिक्स देख रहा था की सुमित आ गया बोला क्या हो रहा पोर्न देख रहा क्या, मैंने बोला नहीं यार सुचिता की कुछ न्यूड पिक्स ह वही देख रहा हु , तो वो बोला अच्छा मुझे भी दिखा न, मैंने बोला नहीं यार तो वो बोला कोई चुदाई थोड़े कर दुगा देख के, दोस्त को अब गर्लफ्रेंड की पिक्स भी नहीं दिखायेगा तो मैंने दिखा दी, पिक्स देख कर सुमित पागल हो गया बोला यार क्या मस्त मॉल है कसम से मज़ा आ गया तो यार तू तो बहुत लकी जो ऐसी मस्त गर्लफ्रेंड मिली है. मेरी तो साला किस्मत ही ख़राब ह कोई मिलती ही नहीं.

तो मैंने बोला चल मै पटवा दूंगा कोई न कोई टेंशन मत ले तप वो बोला लेकिन सुचिता के ही जैसी पटवाना तो मैंने बोला की बोलो तो सुचिता को ही पटवा दू वो सुमित बोला यार मज़ाक मत कर, मैंने बोला यार मज़ाक क्या गर्लफ्रेंड है दोस्त से बढ़ कर थोड़े ही है दोनों मिलकर करेंगे.

वो वो बोला क्या सुचिता मानेगी मैंने कहा टेंशन मत ले मै मनाता हु तो नेक्स्ट वीक जब मै सुचिता से मिलने गया तो मैंने सुमित की कुछ न्यूड पिक्स ले ली और सुचिता से बात कर रहा था और उसको कॉलेज की पिक्स दिखा रहा था मैंने उसी कलेटिन मे सुमित की भी पिक्स डाल  दी थी जैसे  ही सुमित की पिक्स सुचिता ने देखा  तो मैंने तुरंत  बैक कर लिया  तो वो बोली की क्या है और बैक  क्यों  किये  मैंने बोला कुछ नहीं यार वो  सुमित की पिक्स है उसने  निकली  होगी  ऑनलाइन चैट में किसी  को भेजा  होगा  साले ने तो लगता  है डिलीट  करना भूल  गया .

तो सुचिता ने बोला तो क्या हुआ  तो दिखाओ मेरी पिक्स तो दिखा दिया तुमने सुमित को तो  मैंने कहा कोई बात नहीं देख लो तो पिक्स देख कर सुचिता बोली अच्छा है मैंने कहा अच्छा है तो बोलो नेक्स्ट टाइम बुलाता हु तो फिर वो न न बोलने लगी तो मैंने कहा कोई बात न जाने दो.

फिर जब मै रूम पर गया तो सुमित ने बोलै क्या हुआ तो मैंने बोलै यार बात की पर मान नहीं रही है तो मै सुमित को बताया की मैंने तुम्हारी पिक्स दिखाई तो बोली अच्छा है, तुम्हारी भी पिक्स देख ली है अब तुम बात करना मज़ाक मज़ाक में. तो सुमित ने बोला ठीक है और जब सुचिता का फ़ोन आया तो सुमित ने फ़ोन उठाया तो सुचिता ने पूछा विजय कहा है तो सुमित ने बोला यही था लगता है सामान लेने गया है  तो सुमित ने बोला और भाभी कैसी हो?

सुचिता: बढ़िया है तुम बताओ क्या चल रहा.

सुमित: सब बेकार है यार बहुत परेशान हु.

सुचिता: क्यों क्या हुआ .

सुमित:- कुछ नहीं आपकी पिक्स जब से देखा हु मन नहीं लगता कही पर भी….

सुचिता: तो कोई गर्लफ्रेंड बना लो .

सुमित :- गर्लफ्रेंड आपके जैसे अब कहा मिलेंगी इतनी हॉट गर्लफ्रेंड .

सुचिता: ओह्ह मै हॉट नहीं हु मुझसे भी हॉट हॉट लड़किया है, और तुम भी तो हॉट हो कोई भी पट जाएगी .

सुमित:- अच्छा, आपको कैसे पता की मै हॉट हु .

सुचिता : विजय के मोबाइल में सब पिक्स मैंने देख ली तुम्हारी, तुम लोग रूम पर यही सब करते हो क्या ?

सुमित :- क्या मेरी पिक्स ओह्ह्ह्ह, वैसे कैसी लगी पिक्स और मेरा वो ?

सुचिता :- अच्छा है.

सुमित :- मै भी आ जाऊ क्या इस बार विजय के साथ.

सुचिता: नहीं तुम्हे नहीं आया है .

सुमित:- कोई बात नहीं, आज तक कोई लड़की रियल में न्यूड नहीं देखा आपको देखा तो बहुत अच्छा लगा, अच्छा एक बार सामने दिखा तो दो.

सुचिता : नहीं न यार, पिक्स के बाद सामने से देखने को बोल रहे हो फिर बोलोगे  एक बार करने  भी दो .

सुमित : नहीं बोलूंगा कसम से .

सुचिता: ठीक है सोचूंगी .

फिर सुमित ने इसारा कर दिया और और बोला लो विजय आ गया .

मैंने फ़ोन लिया बोला क्या जान क्या बात कर रही तो वो बोलो पूछो अपने फ्रेंड से बोल रहा की एक बस आपसे मिलने आना है .

तो मैंने बोला तो क्या हुआ मिलने ही आ रहा कोई चुदाई करने तो नहीं आ रहा न .

तो सुचिता ने बोला ठीक आ जाओ दोनों पर मै तुम्हारे साथ भी सेक्स नहीं करूंगी बस बाते करेंगे हम लोग मैंने कहा ठीक है कोई बात नहीं जान .

अगले ही दिन मै और सुमित मिलने के लिए निकल गए और रात के ११ बज रहे थे तो मैंने फ़ोन किया की कहा हो तो वो बोली तुम पहुंच के फ़ोन करना मै आ जाउंगी.

मैंने बोला की मै आ गया हु तो वो बोली ५ मिंट रुको आ रही हु .

कुछ टाइम बाद सुचिता आई आते ही मैंने उसे गले लगा लिया और किस करने लगा तो उसने मुझे हटा दिया और सुमित से हाथ मिलाया और बोली आज टच भी मत करना बोली हु ना.

फिर हम लोग वही बैठ गए और कॉलेज की बाते चालू हो गई सुमित सामने बैठा था और सुचिता मेरे बगल में , फिर मैंने सुचिता को बोला किश तो दो सुचिता बोली नहीं, मैंने बोला कुछ और नहीं कर रहा हु बस किश तो सुचिता ने ही किश करना सुरु कर दिया उसके बाद मैंने एक हाथ से सलवार का नाडा खोल दिया फिर सुचिता ने तुरंत मुझे हटा के सलवार पहनने लगी मैंने बोला कोई बात नहीं यार वैसे भी विजय ने तुम्हे न्यूड देखा है तो सुचिता ने कहा की तो क्या सुमित के सामने ही करू क्या मैंने बोला करो  कोई फर्क नहीं पड़ता मज़ा ही आएगा.

फिर मैंने सुचिता के पुरे कपडे निकल दिए और किश करने लगा और सुमित बैठ कर देख रहा था मैंने कहा यार सुमित से सेक्स मत करो पर उसका सिर्फ हिला देना तो सुचिता ने कहा की वो खुद हिला ले देख लिया वही बहुत है.

फिर मै सुचिता को लिटा कर किस करने लगा और सुमित ने भी कपडे निकल कर हिलने लगा तो मैंने कहा की देखो सुमित कैसे हिला रहा रहा .

तो सुमित ने कहा की भाभी बूब्स बस टच कर सकता हु क्या तो सुचिता ने कुछ सोचा फिर बोली ओके कर लो टच .

फिर मैंने सचिता की छूट में अंगुली करना सुरु कर दिया सुचिता पागल होने लगी और पास में ही सुमित भी बैठ का कर लैंड हिला रहा था तो सुचिता ने उसका लंड पकड़ कर हिलने लगी .

मैंने सुमित को कहा की सुचिता को खड़ा करो उसने सुचिता को खड़ा और पीछे  से चपक कर बूब्स दबाने लगा . सुचिता ने कुछ नहीं बोला फिर मैंने बोला की तुम सामने आ जाओ मै बूब्स डाला लेता तो सुमित ने सुचिता की छूट से लंड लगा दिया बोला की भाभी  डाल दू क्या तो सुचिता ने बोला की जैसा तुम दोनों की मर्ज़ी.

फिर क्या सुमित ने लंड सुचिता की चुत में एक ही धक्के में डाल दिया और चुदाई सुरु कर दी.

मैंने चोदना सुरु कर किया और ऐसा करते करते ४ बजे तक ३-३ बार हम लोगो ने सुचिता को चोदा.

उसके बाद सुचिता बोली वाकई बहुत मज़ा आया और उसके बाद हम लोग रूम पर चले गए और जब भी मैंने सुचिता से मिलने जाता तो थ्रीसम ही करता था.

अब तक मैंने उसे सुमित कई बार और राजेश के साथ एक बार मिलकर सुचिता की चुदाई की है .

दोस्तों राजेश के साथ केस एचोड़ा था जानने के लिए मेल करे और स्टोरी कैसी लगी बताये जरूर.

[email protected]