सेक्सी भाभीजी की चुदाई की हिंदी कहानी

हेल्लो दोस्तों कैसे हैं आप सभी ? मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी अपनी जिन्दगी में खुश होंगे और चुदाई के लिए समय तो निकाल ही लेते होंगे | मेरा नाम अभिजित चटर्जी है और मैं आजमगढ़ का रहने वाला हूँ हम लोग बंगाली है पर मेरे दादा जी यही नौकरी करते थे और हम यही के हो के रह गये | मेरे मेरी उम्र २६ साल है और मैं नौकरी करता हूँ | मैं दिखने में सांवला हूँ और मेरी कद काठी बॉडी बिल्डर माफिक है | मेरे लंड का साइज़ 6 इंच लम्बा और 4 इंच मोटा है | मस्ताराम डॉट नेट पर ये मेरी पहली कहानी है तो | अगर आप लोगो को इस कहानी  में कोई गलती नजर आये तो मुझे माफ़ करना | आज जो मैं ये कहानी लिखने जा रहा हूँ ये मेरी जीवन की सच्ची कहानी है | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी जरुर पसंद आयगी और इसे पढ़ कर आप को बहुत मजा भी आयगा | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय नही लेते हुए अपनी कहानी शुरू करता हूँ |

मेरे घर में मेरे अलावा मम्मी और पापा हैं और एक भैया हैं जिनकी शादी हो चुकी है और वो अभी मुंबई में नौकरी करते हैं | मेरी भाभीजी दिखने में दूध जैसी गोरी हैं और उनका फिगर बहुत ही सेक्सी है | उनके दूध काफ़ी बड़े हैं और भरे बदन के साथ वो एक बड़ी और चौड़ी गांड की मल्लिका भी हैं | जब से भैया नौकरी पर गये हैं तब से ही मेरी नजर भाभीजी के मम्मो और गांड पर रहती थी | मैं भाभीजी को रोज लाइन देता था और मौका मिलने पर कहीं भी छु देता था | भाभीजी मुझे कभी भी कुछ नही बोलती थी जिस वजह से मेरी हिम्मत और बढ़ गयी | अब मैं भाभीजी को मजाक मजाक में उनकी गांड पे हाँथ मार देता और भाभीजी मुझे मुस्कुरा कर जवाब में आँख मार देती | एक दिन की बात है मम्मी और पापा बाजार गये हुए थे | मैं और भाभीजी अकेले थे घर में | भाभीजी उस समय किचन में पोहा बना रही थी | मैं भी बोर हो रहा था तो मैंने सोचा कि चलो भाभीजी से ही मस्ती मजाक किया जाए | फिर मैं भाभीजी के पास गया और भाभीजी से कहा कि भाभीजी एक बार कहू | तो भाभीजी ने कहा कि हाँ बोल क्या बोलना है ? तो मैंने भाभीजी से कहा कि भाभीजी आप मुझे बहुत अच्छे लगते हो | तो उन्होंने कहा अच्छा जी और वो क्यू ? तो मैंने कहा कि भाभीजी मैं आप से बहुत प्यार करता हूँ और आपको बहुत प्यार करना चाहता हूँ | तो भाभीजी ने कहा कि तू तो मेरा देवर है फिर भी | तो मैंने कहा कि भाभीजी क्या करू ? प्यार उम्र रिश्ते देख कर और उम्र देख कर थोड़ी होता है | आप यह कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है | मैं बस आप से प्यार करता हूँ और मैं बस आपको अपना बनाना चाहता हूँ | तो भाभीजी ने कहा कि अगर हमारे रिश्ते के बारे में किसी को पता चल गया तो आफत हो जायगी | तो मैंने भाभीजी से कहा कि भाभीजी किसी को भी हमारे रिश्ते के बारे में किसी को भी नही पता चलेगा | भाभीजी भी लगभग लगभग पट ही चुकी थी मुझसे | अब मौका मिलते ही बस हम किस ही कर पाते थे | कभी कभी मैं भाभीजी के दूध दबा देता था | फिर भाभीजी ने मुझे कहा कि अभिजित इतना सब करने से कुछ नही होगा मुझे कुछ और भी चाहिये | तो मैंने कहा भाभीजी अपने पास मौका भी तो नही मिल रहा है नहीं तो मैं आपको इतना प्यार दू कि आप सोच भी ना पाओगे | फिर तभी एक दिन हमे मौका मिल गया | मेरे मम्मी और पापा दोनों किसी पापा के दोस्त के फंक्शन में गए हुए थे | वो लेट आने वाले थे तो मैंने भाभीजी से कहा कि भाभीजी आज मौका है तो भाभीजी खुश हो गयी | उसके बाद मैंने भाभीजी को पानी बांहों में जकड़ा लिया |

फिर मैंने भाभीजी के होंठ में अपने होंठ रख दिए और उनके होंठ को चूसने लगा दूध दबाते हुए | वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसने के साथ साथ मेरे लंड को भी अपने हाँथ से पेन्ट के ऊपर से सहला रही थी | कुछ देर किस करने के बाद मैंने उनकी साड़ी उतार दिया | साड़ी उतारने के बाद मैंने उनके ब्लाउज को भी उतार दिया और ब्रा के ऊपर से ही उनके मस्त बड़े दूध को अपने हाँथ से मसलने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया लेने लगी | फिर मैंने ब्रा को भी उर्तार दिया और दूध को अपने मुह में ले कर चूसने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी | मैं उनके दूध को मसल मसल कर चूस रहा था और साथ में निप्पलस को भी अपने होंठ में दबा कर चूस रहा था और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे सिर के बालो को सहला रही थी | फिर उन्होंने मेरे कपडे उतार कर मुझे नंगा कर दिया | फिर नीचे अपने घुटने के बल बैठ गयी और मेरे लंड को चाटने लगी तो मेरे मुंह से आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ की सिस्करिया निकलने लगी |

ये भी पढ़े : पहली बार प्रेग्नेंट भाभी की चूत मारी

भाभीजी मेरे लंड को बहुत अच्छे से चाट रही थी और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया ले रहा था | वो मेरे लंड को चाटने के बाद मुंह में भर ली और आगे पीछे करते हुए चूसने लगी | मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए उनके मुंह की चुदाई करने लगा | वो मेरे लंड को ऐसे चूस रही थी जैसे लोलीपोप हो | आप यह कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है | फिर मैंने उन्हें बेड पर लेटा दिया और टाँगे चौड़ी कर दिया पेंटी को उतार कर | अब मैं अपनी जीभ उनकी चूत में रख कर रगड़ने लगा और चाटने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मचलने लगी | फिर मैंने उनकी चूत चाटते हुए चूत में ऊँगली डाल कर चोदने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे सिर को अपनी चूत में दबाने लगी | फिर मैं उनकी चूत को चाटते हुए चूत की झिल्ली को भी होंठ से दबा कर चूस रहा था और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चूत चटवा रही थी |

ये भी पढ़े : भाभी की मस्तानी चूत

फिर मैंने अपना लंड उनकी चूत में टिकाया और एक ही शॉट में अन्दर डाल दिया और धक्के मारते हुए चोदने लगा तो वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मदमस्त होने लगी | फिर मैंने अपनी चुदाई की रफ़्तार बढ़ा दिया और जोर जोर से धक्के मारते हुए चोदने लगा | वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदवा रही थी | फिर मैंने उन्हें घोड़ी बना दिया और उनके पीछे जा कर अपना लंड उनकी चूत में डाल दिया और फिर से धक्के मारते हुए चोदने लगा |

ये भी पढ़े : बहन की चिकनी चूत की एक झलक

वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदवाने लगी | फिर मैं उनके दोनों दूध को पकड कर मसलते हुए जोर जोर से धक्के मारते हुए चोदने लगा और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी  | कुछ देर ऐसे ही आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने अपना माल उनकी चूत के ऊपर ही निकाल दिया | अब हम दोनों रोज ही चुदाई करते हैं और एक बार मैंने उनकी गांड चोदने की भी कोशिश किया पर वो हो नही पाया उन्हें दर्द होने लगा था | तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी जरुर पंसद आई होगी | आप सभी का मेरी कहानी पढने के लिए धन्यवाद |