रंडी ने ग्रुप में चुदवाया

दोस्तों यह बात तब की है जब मै इंजीनियरिंग के बाद जॉब पर लगा था अभी तक मुझे चुदाई का मौका नहीं मिला था | मै कंपनी के काम के सिलसिले में अहमदाबाद गया था काम होने के बाद मुझे वापिस ऑफिस जाना था | अभी मै अहमदाबाद बस स्टैंड पर पंहुचा था की एक लड़की जिनसे मिनी स्कर्ट पहना हुआ था उसकी गांड उभरी हुयी थी देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया |

अब मेरे मन में आया की काश अगर ये मिल जाती तो कितना मज़ा आता पर थोड़ी देर में मेरी आखो से ओझल हो गयी अब मै एक दुकान पर गया और चाय पिने लगा और सोचने लगा अगर मै कोई रंडी चोद लेता तो मेरी इच्छा पूरी हो जाती फिर मैंने चाय वाले को पैसे दिया और वो चाय वाला नौजवान लड़का था मैंने उसी से पूछ लिया भाई इधर कही लडकिया मिलती है | वो समझ गया बोला हां क्यों नहीं वह ऑटो वाले खड़े है उनसे पता करो वो दिला देंगे मैंने वही पास में खड़े ऑटो वाले से पूछा भाई कोई माल मिलेगा क्या तो उसने बोला आओं बैठो मैंने पहले ही पूछ लिया कितना लगेगा तो बोला मेरा १०० रुपये होगा आगे का खुद ही बात कर लेना | मै तैयार हो गया और ऑटो वाले ने एक जगह लेजाकर ऑटो रोका तब तक दूसरी तरह से एक ऑटो आकार रुका उसमे एक लड़की बैठी थी उसका पूरा शरीर भरा हुआ था एकदम गोरी चिट्ठी थी मासल बदन था मेरे मन में गुदगुदी होने लगी |

उस ऑटो वाले ने मेरे ऑटो वाले को इशारा किया वो लड़की आके मेरे ऑटो में बैठ गयी तो मेरे ऑटो वाले ने पूछा चलेगी क्या मैंने बोला हां अब वो हमें एक लाज में लेकर गया |

मुझे डर लग रहा था पर आज ठान चूका था की आज असली चुत देख के ही रहूँगा | अब वो लेजाकर लाज के पास रोका मैंने उसका पैसा दिया और वो लड़की मुझे लेकर अन्दर कमरे में गयी और कमरे में पहुचते ही अपने कपड़े खोल दी और ब्रा और पैंटी में हो गयी अब मेरा लंड भी खड़ा हो चूका था मै भूखे शेर की तरह उसके बदन पर टूट पड़ा और उसके बूब्स को चुसाने लगा और एक हाथ उसकी चुत पर लगा दिया और धीरे धीरे सहलाने लगा उसने मेरे लंड को हाथ में पकड़ लिया और हिलाने लगी |

मुझे पहली बार मिला था मै जल्दी जल्दी चुत देखना चाहता था मैंने ६९ पोजीशन में आकर अपना लौड़ा उसके मुह में डाल दिया और अपनी जीभ उसकी चुत में डाल दी अब उसकी सिसकारी निकलने लगी करीब 5 मिनट तक उसकी चुत चाटा की वो झड़ गयी उसकी चुत अभी बहुत टाइट दिख रही थी |

एकदम क्लीन सेव थी अब मुझे नहीं रहा गया मैंने अपना लौड़ा उसकी चुत पर टिकाया मेरा लंड भी ७.5 इंच का था और धीरे से लंड का सूपाड़ा उसकी चुत में डाल दिया और धक्के मारने लगा 10-15 धक्के के बाद वो मेरे ऊपर आकर धक्के मारने लगी मै उसके बूब्स को दोनों हाथो में पकड़ लिया और सहलाने लगा अब उसके धक्को की स्पीड तेज हो चुकी थी | और मेरा होने वाला था मै बोला अब मेरा होने वाला है और मै तेज आह आह करके झड़ गया शायद उसका भी साथ में ही हो गया |

अब हम दोनों बाते करने लगे थोड़ी देर में बातो बातो में वो गर्म हो गयी बोलने लगी तुम बोलो तो एक और बुला लू फिर साथ में चोदना मै मान गया उसने फोन कर एक और आदमी बुला लिया वो लगभग २८-30 साल का रहा होगा उसके आते ही इसने उसका लौड़ा मुह में भर लिया और चुसने लगी मेरा लंड एक हाथ में पकड़ कर हिलाने लगी |

थोड़ी देर में उसने मुझे निचे लिटा दिया और मेरा लंड को अपनी चुत में डलवा के ऊपर बैठ गयी और दुसरे आदमी ने पीछे से उसकी चुत में घुसा दिया अब उसके मुह से आवाज आ रही थी आह्ह आह आह येस्स हा और तेज मै निचे से धक्के मार रहा था वो आदमी बेड के निचे खड़ा होकर धक्के मार रहा था | आप यह हॉट हिंदी सेक्सी कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है | बिच में रंडी खूब आवाजे कर रही थी अब धीरे धीरे हमें चोदते चोदते 10 मिनट हो गया इतनी में वो रंडी तेज आवाज की आह्ह्ह अह्ह्ह्हह्ह बस उसका शरीर पूरा अकड़ गया और मुझे कश के पकड़ ली मै समझ गया |

ये साली झड़ गयी पर मै अभी भी धीरे धीरे धक्के मार रहा था और वो आदमी भी धक्के मार रहा था अब मेरा भी होने वाला था तब तक दुसरे आदमी ने भी धक्को की स्पीड तेज कर दी मै भी और रंडी भी गर्म हो चुकी थी वो फिर से हिलने लगी थी इस बार हम तीनो का साथ में हो गया और लेट गये हम दोनों आजू बाजू और रंडी बिच में और हमने १ घंटे बाते किया और फिर अपने में एक दुसरे से पहचान किया वो जो आदमी था उस रंडी का पति थी |

उसे ग्रुप में चुदाई का शौक था और वो रंडी कोई रंडी नहीं थी उन दोनों को बस ग्रुप में चुदाई करना था उन्हें ग्रुप से करने में मज़ा आता था इस लिए वो बताई की हफ्ते में एक बार हम जरुर करते है वो बोली आगे जब अहमदाबाद आना तो मुझे या मेरे पति को कॉल करके आना और डायरेक्ट मेरे घर पर आकर रुकना मै बहुत खुश हो गया | अब दोस्तों जब भी अहमदाबाद जाता हूँ ग्रुप चुदाई का खेल जरुर खेलता हूँ |

और ये बात मैंने अपने दोस्त को बताई जो मेरी ही कंपनी में साथ है वो भी कुवारा ही है फिर उस रंडी से बात किया की कहो तो मेरे दोस्तों को इस बार साथ में लेकर आऊ तो उसने बोला पहले उसके लौड़े का फोटो भेजो फिर बताती हु |

अपने पति से पूछ के मैंने उसे बताया और रंडी का व्हाट्सअप्प का नंबर दिया उसका लौड़ा देख वो बहुत खुश हो गयी और हम दोनों को साथ में आने के लिए बोला अगले हफ्ते हम जाने वाले है |

दोस्तों आगे की कहानी चुदाई के बाद बताऊंगा अगर मेरी रियल स्टोरी पसंद आई तो शेयर करे कमेंट करें और अपने दोस्तों को बताये |

धन्यवाद !