बिना मर्द के अपनी चुदास मिटाई

बिना मर्द के अपनी चुदास मिटाई ( Bina Mard Ke Apani Chudas Mitai )

हेल्लो कैसे है आप सब आशा करती हूँ ठीक ही होंगे आज मै आप सभी को चुदास की भूख कैसे मिटाई मैंने वो भी बिना किसी मर्द के बताने जा रही हूँ आशा है आप सभी को बहुत पसंद आएगी | दोस्तों मै पंजाब से हूँ मेरा नाम जसमीत कौर है | मेरी उम्र 22 इयर है मै अभी LLB की पढाई कर रही हूँ | मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है इसका एक बहुत बड़ा कारन है वो है मेरे पापा और भाई दोनों बहुत ही प्रसिध्द है अपने इलाके में अपने हरामीपन के लिए मेरे पापा और भाई को कोई आख उठा के देखने की जुर्रत नहीं करता है |

यही वजह है की कोई लड़का मुझे पटा नहीं पाया अगर मै कुछ बात करती तो वो पहले ही पीछे हट जाते है और मुझे दीदी बोल देते है दीदी आप तो हमारी दीदी है हम ये काम कैसे कर सकते है | यही सिलसिला बहुत दिनों से चलता आ रहा था मै बहुत परेशान हो चुकि थी मेरी सहेलियों ने दो दो बॉयफ्रेंड बदल लिए और मैंने एक भी नहीं पाया मुझे जलन होती थी | और साथ में मेरी चुत में खुजली भी बढ़ती गयी |

मै अपनी चुत रगड़ रगड़ के परेशांन हो चुकी थी अब मुझे कोई रास्ता नहीं दिख रहा था की मै क्या करू किसे पटाऊ कोई सामने आने का नाम भी नहीं लेता अब मै रात में ब्लू फिल्मे देख कर अपनी चुत रगड़ रगड़ कर अपनी चुत की प्यास बुझाती रही आखिर मिटाऊ भी क्यों ना आप लोग नहीं तो जो लड़कियां मेरी ये कहानी पढ़ रही है उनसे समझ में आ रहा होगा की जब चुदाई की गर्मी चढ़ती है तो कैसा लगता है एसे लगता है की कुछ भी मिल जाए चुत में डाल के झड़ जाऊ | मै मस्ताराम डॉट नेट की कहानी तो बहुत जमाने से पढ़ती आ रही हूँ | जब मै 10th में पढ़ती थी तब से मस्ताराम की कहानियां पढ़ रही हूँ |

मैंने बहुत कहानियां पढ़ पढ़ कर अपनी चुत रगड़ी एक रात की बात है मैंने केले का छिलका निकाल के अपनी चुत में डाली और रगडती रही करीब १५ मिनट के बाद मेरी चुत से पानी निकला पर केला का एक छोटा सा टुकड़ा मेरी चुत में घुस गया मै परेशां हो गयी फिर मैंने बोथ्रूम में जाकर अपनी चुत में थोड़ा सा हाथ घुसाया और फिर जाके केला का टुकड़ा बाहर निकला अब मै डर चुकी थी कही अगर किसी दिन ज्यादा कुछ हो गया तो घर के सारे लोग समझ जायेंगे | यह कहानी आप मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है | फिर मैंने इन्टरनेट पर ढूढ़ लिया एक चीज जो की मेरी प्यास बुझाने के काम में लेती हूँ वैसे तो विदेशो में इसे डिल्डो कहते है पर अपने इंडिया में जल्दी नहीं मिलता है सो मैंने मसाजर फॉर पैन रिलीफ ख़रीदा जो की ज्यादा कुछ महागा नहीं था | मैंने ऑनलाइन ऑर्डर कर दिया और घर पर पैकेट भाई के हाथ में आया भाई ने पूछा ये क्या है तो मैंने बोल दिया लिखा तो है पढ़ लो खुद ही भाई ने पापा और मम्मी के सामने ही पढ़ा उसपर कही भी डिल्डो का नाम नहीं

लिखा था पैकेट पर पैन रिलीफ मसाजर लिखा था इतना पढ़ के भाई ने पैकेट मेरे हाथ में दे दिया मै बहुत खुश हो गयी | मैंने रात में अपने बिस्तर के अन्दर ले लिया और उसे चालु किया और अपनी चुत पर जब पहली बार लगाईं एसे लगा जैसे किसी ने मेरी चुत को रगडा मुझे इतना मज़ा आया जितना मेरी पूरी जिंदगी में हाथो से रगड़ के नहीं आया था | उस दिन रात मै करीब 7 बार झड़ी मसाजर से अपनी चुत की हवस मिटाती हूँ किसी की जरुरत नहीं है | मै तो ये कहूँगी की जो लड़कियां बॉयफ्रेंड नहीं बनाना चाहती वो इसका इस्तेमाल करें ना किसी को पता चलेगा और काम भी हो जाएगा और मै शादी शुदा भाभियों को भी सलाह देना चाहूंगी की अगर आपका पति आपको वो सुख नहीं दे पा रहा है तो आप भी इसे खरीद कर मजे करो जैसे मै बिना शादी किये कर रही हूँ | आप चाहे तो यहाँ क्लिक कर इसे खरीद सकते है |

और हां एक और बात बताना तो भूल ही गयी जो लड़के अपनी गर्लफ्रेंड को इस वेलेंटाइन पर कुछ गिफ्ट देना चाहते है वो पैन रिलीफ मसाजर / डिल्डो को जरुर गिफ्ट करें आशा करती हूँ अपनी गर्लफ्रेंड को जरुर पसंद आएगा |

अगर आपको मेरी कहानी अच्छी लगी तो इसे शेयर करें ! कमेंट करें ! अपने दोस्तों सहेलियों को भी बाताये इसके बारे में |

आप यह भी पसंद करेंगे :-