सर ने मौका देख मेरी चुत भर डाली

गतांग से आगे …..

सर बोले कुतिया बन मैं उठ कर एकदम कुतिया बन गई सर बोले तू तो बड़ी एक्सपर्ट हैं पहले भी गांड़ मरवाती थी क्या मैं बोली आज तक किसी ने खुली गांड मेरी देखी नहीं छुआ नहीं तो मारने का सवाल ही नहीं उठता सर, नीलांजना मैं बहु लकी हूं कि तुम्हारी गांड आज जबरदस्त चोदूंगा और ऐसे कहते हुए सर ने मेरे गांड को चूमने लगे और अपनी जीभ मेरी गांड में डाल दी ,नीलांजना सच में पागलपन है तेरी गांड आज तुम्हारी गांड की प्यास बुझाऊंगा इस तरह सर ने मेरे उपर कुत्ते की तरह चढ़ और मेरे गांड में अपना लौड़ा रख दिया पीछे से दूध पकड़ कर बोले नीलांजना अब डाल दूं अपना लंड तेरी गांड में मैं बोली सर अभी घुसा दो पुरे जोर से रगड़ना मेरी गान्ड मुझसे रहा नहीं जा रहा, अब बस चोदो या कुछ भी करो मेरी आग मेरे अंदर की प्यास बुझनी चाहिए।

सर ने कहा प्यास तेरी बुझ जाएगी पर दर्द बहुत होगा सह लेगी, मै बोली चाहे जितना भी दर्द हो आप बिल्कुल चिंता नहीं करो सर बोले फिर ले साली कुतिया रंडी नीलांजना, तभी सर ने थूंक लगाया मेरी गान्ड में और जोर से अपना लंड घुसा दिया एक झटके में ऐसा लगा मैं मर गई बेहोश हो गई इतना दर्द कभी नहीं हुआ मैं जोर से चिल्लाई बचाओ, छोड़ दो सर प्लीज छोड़ दो , मैं मर जाऊंगी निकाल अपना लंड मादरचोद मैं गाली भी दे रही थी और और बहुत जोर जोर से चिल्लाई बचाओ कोई मार डाला इस हरामी ने निकाल अपना लंड कुत्ते मम्मी बचाओ पापा बचाओ मुझे छोड़ दो सर हांथ जोड़ती हूं मेरी गान्ड में मैंने हाथ लगाया तो मेरे हाथ में खून लगा हुआ था मैं अब जोर जोर से रोने लगी पर सर को कोई फर्क नहीं पड़ा।

और वो मेरी गान्ड को चोदते रहे तभी दो उंगलियां मेरी चूत में डाल दी और अंदर-बाहर करने लगे बोले नीलांजना साली रण्डी क्या जबरदस्त तेरी गांड है आज तेरी गांड की सुहागरात है नीलांजना आज मैंने तेरी जबरदस्त गांड की शील तोड़ दी। मेरे से किस्मत वाला कोई नहीं ।सर अब जोर-जोर से मुझे चोदने लगे पूरा लंड मेरी गांड में अंदर करते थे फिर बाहर निकालते इस तरह जबरदस्त मेरी गांड की चुदाई करने लगे, पता नहीं कैसे कब मेरा पूरा दर्द अब गायब हो गया और मुझे एक दम से बहुत जोश आ गया, और मैं सर से बोली ओहहहहह मेरे राजा और चोदो, जोर से मेरी गांड में डालो पूरा लंड मुझे बहुत मजा आ रहा है, हमेशा मेरी गान्ड चोदते रहना ऐसे ही मस्त, और डालो सुधीर तेरी नीलांजना तेरे लिए कुछ भी करेंगी।

बस मुझे अपनी रंडी बना कर ऐसे ही चौबीस घंटे मेरी गान्ड चोदते रहना। मैं कसम खाती हूं जो बोलेगे करूंगी,और चोदो जोर जोर से तभी सर ने फुल स्पीड से पूरा लौड़ा अंदर बाहर बहुत मस्त करने लगे, मैं पागल हो रही थी करीब 40 मिनट तक ऐसे ही मेरी गान्ड को चोदते रहे, सर बोले सोच नीलांजना तेरे दो दो लंड घुसे हैं एक तेरी चूत में इमेजिन कर जो ऊंगली तेरी चूत में घुसा दिया है वो भी लंड है।और एक लंड गुदामैथुन यानि गांड को चोदने में लगा है।। मैं सच में वही सोचने लगी कि एक लंड मेरी चूंत को चोद रहा है और एक मेरी गान्ड को अब मेरा जोश हजार गुना बढ़ गया मैं बोली सर मेरी चूत को जोर से चोदो बहुत जोर से ऊंगली रूपी लंड चलाओ।

मेरी गांड को भी आज फाड़ ही दिया है। नीलांजना को अपनी बीवी समझ कर चोदो आज मेरी पहली सुहागरात है सर , और चोदो तभी मेरे चूत से बहुत तेजी से गरम गरम पानी निकलने लगा मैं अकड़ गई, सर बोले नीलांजना तू तो झड़ गई तेरी चूत तो बह चली जोर से, सर ने बोला नीलांजना अपनी गान्ड और ऊपर उठा मैं एक बार पूरा तेरी गांड की जड़ तक अन्दर घुसा दूं लंड को मैंने तुरंत अपनी गान्ड ऊपर उठा दी और बोली हां सर पूरा पेल दो अपना लौड़ा वोहहहह और सर ने फचाक से अंदर कर दिया मैं चींख उठी ओहहहहह मेरे कुत्ते तुमने आज मुझे जन्नत का मजा दे दिया है। आज से हमेशा मुझे ऐसे ही चोदना आप अपना लौड़ा मेरी चूत में भी डाल दो।

तभी सर जोर-जोर से हांफने लगे और बोले मेरी रंडी नीलांजना मेरा लन्ड रस तेरी गांड में जा रहा है, और सर अकड़ के मेरे दोनों दूध जोर से दबाते हुए पूरा फच फच अपना लंड मेरी गांड में घुसा के पूरा गरम-गरम रस लंड का अपने मेरी गांड में भर दियऔर मेरी प्यास बुझने लगी मैं तड़प रही थी इस पल के लिए। सर बोले नीलांजना आज तक तुम कच्ची कली थी आज से तू छिनाल बन गई है। और पूरा लंड अंदर तक मेरी गान्ड में घुसेड़ कर लंड रस भर दिया और फिर मुझे सामने लिटा कर के मेरी टांगे फैलाकर मेरी चूंत का बहता हुआ रस चूसने लगे, मुझे बहुत मजा आया मैं बोली सर आप बेस्ट हो, पर मुझे पेशाब आने लगी, तो मैंने सर से बोला सर पेशाब आ रही है।

सर बोले कर दो नीलांजना प्लीज कर दो मुझे पीना है तुम्हारी चूंत से निकली मस्त पेशाब, मैं बोली छि छि नहीं सर, सर बोले नहीं बहुत मस्त होता है नीलांजना प्लीज करो पेशाब मेरे मुंह में और मैं वही करने लगी, सर ने मेरी चूत से निकली हुई पेशाब को बड़े मस्त तरीके से पीने लगे, एक एक बूंद मेरी पेशाब को पी लिया और चाट चाट के मेरी चूत को भी साफ कर दिया । फिर उठकर अपनी रूमाल से मेरी गान्ड को साफ किया, सर बोले थोड़ी देर बाद पीछे गांड में दर्द हो होगा, उसके लिए मैं ये टेबलेट लाया हूं, और हल्की गांड में ब्लाडिंग हुई है इसलिए इसे गांड की होल में लगा लेना चिंता नहीं करनी है। सब दर्द दो तीन दिन में गायब हो जायेगा। यह कहानी आप मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है।

अब दोबारा कितना भी गांड़ चुदाई करवाती रहोगी दर्द नहीं होगा, सिर्फ मजा आयेगा। सर अपने कपड़े पहने और मै भी अपने कपड़े पहन ली, और फिर सर मेरे होंठों को चूमने लगे और बोले तुम्हारी चूंत अभी भी वर्जिन है।अब तीन चार दिन नहीं आऊंगा।सच में चार पांच दिन मुझे बहुत दर्द हुआ फिर सब ठीक हो गया। ये मेरे साथ मेरे जीवन का पहला सेक्स था वो भी पीछे ही हुआ। एक एक शब्द मैंने पुरा सच लिखा है भरोसा करियेगा एक शब्द भी बनावटी या मनगढ़ंत नहीं है।