मामी की लड़की को चोदा

हैलो दोस्तों मेरा नाम सोनू है आपको तो पता ही होगा। आज मैं एक नई सच्ची चुदाई की कहानी बता रहा हूं। दोस्तों ये घटना एक साल पहले जून की है जब मेरी मामी की लडकी छुट्टियों में हमारे घर आई हुई थी। तो दोस्तों मेरे बारे में तो आप जानते ही हैं कि मेरा लंड सात इंच लंबा और तीन इंच मोटा है जो किसी भी लडकी की चीख निकाल सकता है। दोस्तों मेरे मामी की लडकी अनामिका है। जो बीस साल की है और एकदम सेक्सी शरीर की मालकिन है। उसके चूचे एकदम उभरे हुए हैं और वो एकदम सेक्सी माल चोदने के लिए तैयार है। वो एकदम गोरी है और उसका फिगर 32-28-32 का है। दोस्तों वो हमारे घर एक महीने के लिए आई थी ।

मै और मामी की लड़की एक ही बिस्तर पर सोते थे और हो गया कांड

मैं और वो एक ही बिस्तर पर सोते थे। एक दिन की बात है वो बिस्तर पर लेटी हुई थी तभी मेरी नजर अपनी बहनसकी फूली हुई गांड पर पडी और मैं नजदीक जाकर उसकी गांड को सूंघने लगा । क्या खुश्बू थी मैं तो पागल हो रहा था उसकी गांड की खुश्बू सूंघकर।  ऐसा कई दिनों तक चलता रहा। अब मैं उसकी चूत देखना चाहता था। लेकिन कभी मोका नहीं मिला और मुझे मजबूरी में मुठ मारनी पडी। उसके  चूत को चोदना मेरा  मकसद था। तो जब भी रात को सोते तो मैं उसको चूची दबा देता था।

लेकिन कभी चोदने की हिम्मत नहीं हुई। मुझे डर था कि कहीं कुछ गलत न हो जाए। लेकिन काफी दिनों के बाद हिम्मत करके मैंने मेरी बहन को चोद ही दिया। एक दिन रात को मैं उसके कमरे में गया और उसकी गांड सूंघने लगा। फिर मैंने उसे उत्तेजित करना शुरु कर दिया। पहले तो उसने मना किया फिर मेरा साथ देने लगी ।  दोस्तों आप यह हिंदी सेक्स कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है | मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। अब मैं उसे नंगा करने में लग गया। जब वो नंगी हो गई तो मैं उसकी गांड सूंघने लगा । मुझे मजा आने लगा।  और उसकी गंध मुझे मदहोश करने लगी ।

मैंने उससे कहा कि तेरी गांड तो बहुत खूबसूरत है। मरवाएगी क्या । वो बोली कि नही तो मैंने कहा कि तुम्हारी चूत को चोदना चाहता हूं । वो बोली ठीक है भैय्या ।  बस अब मैं उत्तेजित हो गया था। मैंने अपने कपडे उतार दिए और उसे टिस करने लगा और जोर जोर से होठ चूसने लगा। फिर मैं उसके स्तन चूस रहा था । वो भी मुझे किस करने लगी। दोस्तों वो पतली थी इसलिए उसका फिगर भी बहुत अच्छा था। मैं अब उसे धीरे धीरे चुदने के लिए गरम कर रहा था। क्योंकि उसे चोदने में बहुत मजा आने वाला था । वो एकदम कच्ची कली थी।  फिर मैंने उससे कहा कि  मैं तुम्हारे चूतड में सुई लगाउंगा तो वो डर गई और बोली कि दर्द होगा।

मैंने कहा कि कुछ नहीं होगा। फिर वो मान गई। मैंने सिरिंज निकाली और उसमें पानी भरकर उसके चूतड पर लगा दिया । वो बोली उई मां दर्द हो रहा है तो मैंने कहा कि तुम भी  मेरे चूतड पर लगाओ। तो उसने भी मेरे चूतड पर सुई लगा दी। अब मैंने उसके बूब्स का दूध पीना शुरु कर दिया। वो अब तक बहुत भीग चुकी थी। उसकी चूत बहुत गीली हो चुकी थी।  अब मैं उसकी चूत को चाटने लगा और अपना लंड उसके मुंह में दे दिया। हम दोनों एक दूसरे को बाहों में जकडने लगे। फिर मैंने अपने हाथ से उसके चूतड पर मारा। अब मैंने अपना लंड निकाला और उस पर तेल लगा दिया और उसकी चूत पर भी तेल लगा दिया। वो बहुत घबरा रही थी तो मैंने उसे रिलैक्स किया और कहा कि कुछ नहीं होगा।  मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रख दिया ।

मामी की लड़की की चूत बड़ी टाइट थी यार

उसकी चूत बहुत टाइट थी। मैंने धीरे से धक्का लगाया और लंड आधा इंच चला गया। अब मैं धीरे धीरे लंड को और अंदर डालने लगा लेकिन मेरा लंड बडी मुश्किल से उसकी चूत में जा रहा था।

फिर मैंने उसे बिना चेतावनी देते हुए जोर से लंड का झटका उसकी चूत में दे दिया ।वो बोली उई मां ममररर गई । मेरी चूत फट गई। मैंने उसे शांत किया और धीरे धीरे चोदने लग गया। अब मेरा लंड उसकी खून से भरी चूत में अंदर बाहर कर रहा था। फच्च फच्च की आवाज से कमरा गूंज रहा था। और वो आह आह उई उई  सीईईईसीईई जैसी आवाजे निकाल रही थी। मैं अब उसके बोबे दबा के उसे चोद रहा था। मेरा मोटा और लंबा लंड उसकी चूत को  आराम से पेल रहा था ।

अब वो शांत पडी चुदवा रही थी। मैंने फिर तेल निकाला और उसकी चूत और अपने लंड पर लगाया । वो बोली कि तेल लगाकर चुदवाने में मजा आ रहा है। मुझे ऐसे ही चोदो मेरे राजा और मेरी चूत का भोसडा बना दो। मैं अब बहुत तेज स्पीड में उसकी चुदाई करने लगा। और वो अब तक पांच बार झड चुकी थी। मैं भी झड गया और सारा वीर्य उसकी चूत में चला गया। करीब आधे घंटे के बाद मैंने उसे कहा कि मैं तेरी गांड मारना चाहता हूं तो वो बोली कि नहीं मुझे दर्द होगा । मैंने उसे समझाया कि नहीं होगा ।  दोस्तों आप यह हिंदी सेक्स कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है | वो मान गई मैंने उसकी गांड में खूब  सारा तेल लगाया और फिर उसकी गांड में अंगुली डाल दी । फिर मैंने अपने लंड पर भी सरसों का तेल बहुत लगाया और उसे  कुतिया बना दिया। अब मैंने उसकी गांड को उंगली से चौडा कि और उसे शांत और रिलैक्स होने को कहा । फिर मैंने उसकी गांड में लंड टिका दिया और अंदर डालने की कोशिश करने लगा। मगर उसकी गांड उसकी चूत से भी ज्यादा कसी हुई थी। लेकिन मैंने अपना लंड उसकी गांड में डालकर जोर से झटका मारा । उसकी चीख निकल पडी ।वो बोली मां मररर गई। मेरी गांड में दर्द हो रहा हे ।

चुदाई के वक्त मामी की लड़की की मजेदार चीखे जो पूरा शारीर में जान डाल देती थी

अपना लंड निकालो । लेकिन मैंने नहीं निकाला और लंड उसकी गांड में पेलता रहा।  हालांकि मुझे भी दर्द हो रहा था लेकिन उसकी गांड को चोदने में जो मजा आ रहा था उसे देखकर मेरा दर्द गायब हो गया था। उसकी गांड भी खून से लाल है गई थी। वो रोने लगी और बोली आराम से करो । मैंने फिर तेल लगाया और फिर उसकी गांड मारने लगा। दस मिनट बाद मैंने अपना वीर्य उसकी गांड में छोड दिया । और फिर  मैं उसे उठाकर बाथरूम में ले गया वहां भी मैंने उसे चोदा और नहाकर बाहर आ गए। फिर हम दोनों ने कपडे पहने और सो गए। अगले दिन वो चल भी नहीं पा रही थी। मैंने उसे कहा कि चुदाई कैसी लगी कल रात की । वो बोली बहुत मजा आय। दोस्तों उसके बाद मैंने उसे डागी स्टाइल में कई बार चोदा ।

वो भी अब जब भी हमारे यहां आती है तो मुझसे जरुर चुदवाती है और जब वो नहीं होती तो उसकी याद में कभी कभी मुठ मार लेता हूं। दोस्तों कैसी लगी मेरी कहानी आपको । कमेंट जरूर करना।