अजनबी मेरी चुचिया पकड़ मसलने लगा

हैलो दोस्तो मेरा नाम रजनी सेठ है और मैं पंजाब की रहने वाली हूँ.. मुझे हिंदी सेक्स स्टोरी पढ़ना बहुत अच्छा लगता है। मैं अपनी कॉलोनी का सबसे हॉट और सेक्सी माल हूँ आज मैं आपके सामने अपनी चुत चुदाई की सच्ची कहानी प्रस्तुत कर रही हूं यह मेरी पहली कहानी है जो एकदम सच्ची घटना है बात तब की है जब मैं 12 क्लास का एग्ज़ाम दे रही थीं वैसे तो मैं सिर्फ 18 साल की लड़की थीं पर मेरा शरीर किसी 22 साल की औरत जेसा था मेरे मम्मे बड़े और चुतड़ गोल मटोल थे और जब मै स्कूल जाती थीं तो बहुत से लोग मुझे घुरते और मुझ पर लाईन मारते मुझे भी अच्छा लगता और मैं भी खुब गांड मटकाती हुईं चलने लगती।

उस दिन मैं अपने घर पर गणित की परीक्षा की तैयारी कर रही थी कि मेरे गांव से फ़ोन आया कि मेरी दादी का ऐक्सीडेंट हो गया है और वो हॉस्पिटल में है तो मेरे माता पिता और मेरा भाई तो गांव के लिए रवाना हो गये पर मेरा ऐग्जाम होने के कारण मैं अपने घर पर अकेली ही थी तो मुझे भी कुछ मस्ती करने का मौका मिल गया और मेने अपनी सहेली माया को अपने घर पर बुला लिया। माया थोड़ी बिंदास और आवारा टाईप की लड़की है जो कि किसी को भी पटा कर अपना काम करवा लिया करती है ।

उस शाम हम दोनों बाजार घूमने के लिए रवाना हो गई भीड़-भाड़ वाले इलाके के बिच एक लड़के ने मेरा मम्मा दबा दिया मै एकदम चौंक गई पर भीड़-भाड़ में किसी को भी कुछपता नही चला अक्सर लोग भीड़-भाड़ का मौका देखकर कभी मम्मे तो कोई चुतड़ छू लेते है तो मुझे भी कुछ ज्यादा बुरा न लगा और मैं फ़िर से सामान खरीदने में लग गई पर इस बार वो मेरी गांड पर हाथ फेरते हुए पास से निकल गया पर मुझे कोई आपत्ति नहीं करते देख उसकी हिम्मत बढ़ गई और वो मेरे शरीर से चिपक कर खड़ा हो गया और मेरी टाँगों पर हाथ फेरना शुरू कर दिया.

मै घबरा गई और माया को बताया की कैसे वह लडक़ा मुझें छेड़ रहा है तो उसने उसको ड़ाटने के बजाय एक स्माईल दे दी और लगे रहो और मज़े करो कहतीं हुईं दूर हट गई इससे उसकी हिम्मत ज्यादा बढ़ गई और वो अपना हाथ मेरी कुर्ती में डालकर मेरा पेट सहलाने लगा मेरे तो पूरे बदन में आग लग गई मुझे भी कुछ मस्ती चढ़ने लगीं और मैंने उसका लौड़ा पेंट के ऊपर से ही पकड़ लिया और उसे सहलाने लगी ये सब देख मेरी सहेली ने हमें टोका सारी मस्ती यहीं करोगी क्या? मैंने उसे खुद से अलग किया और अपनी सहेली को साथ लेकर उस लड़के के साथ अपने घर पर आ गई ।

फिल्म देखते हुए भी वो मेरे शरीर से खेल रहा था और मेरा भी मस्ती करने का मूड बन गया यह देख माया दूसरे कमरे में चली गई और उसके जाते हीं उस लड़के ने मेरे शरीर पर चूमना शूरू कर दिया मेरा कोई अंग ऐसा नहीं था जिस पर उसने किस न किया हो मुझे तोअब सही गलत का हौश ही नहीं था बस चुदाई की खुमारी चढ़ी थी तो मैंने भी अपनी कुर्ती उतार कर फेंक दी और उसका साथ देने लगी. उसने मेरी लेगी भी उतार दी मै सिर्फ काली ब्रा और गुलाबी पेंटी में थी जिसमें में किसी से भी कम न लग रही थीं उसने अपनी पेंट की जिप खोलीं और अपना 8 इंच का लौड़ा मेरे मुहँ के आगे कर दिया मेरी तो आँखे फटी की फटी रह गई बाप रे बाप इतना बड़ा ये इन्सान हैं या घोड़ा ।

उसके लण्ड पे चमडी चढ़ी हूई थी मेने अपने हाथों से उसकी लौडे की चमडी हटायी और उसे मुह में लेकर चूसना शुरू कर दिया मुझे बहुत अच्छा लग रहा था जैसे कि आज मुझे अपनी फेवरिट कुल्फ़ी मिल गई है मै मजे ले लेकर चूस रही थी और वो भी मेरा मुख चोदन कर रहा था जैसे कि वो मेरी चुत हो और मुझे अपने गले तक उसका लौड़ा महसूस हो रहा था कि अचानक उसके मुँह से एक आह निकली और वो मेरे मुँह में ही झड़ गया और मेरा मुँह अपने माल से भर दिया उसका माल बहुत टेस्टी था तो मैं भी पुरा पी गई और चाट चाट कर उसका लौड़ा भी साफ़ कर दिया ।

उसने अपने पूरे कपड़े उतार दिये और मेरी ब्रा भी उतार दी अब मेरे शरीर पर सिर्फ पेंटी बाकी थी उसने अपने दोनों हाथों से मेरे मम्मे सहलाने शूरू कर दिये वो बारी बारी से मेरे दोनों मम्मो को चूसने लगा मेरे चुचे कड़क होकर खड़े हो गये उसने मेरी चुचियाँ पकड़ कर मसलने लगा और मैं मस्त होकर सिस्कारीयाँ भरने लगी मेरी पेंटी गीली हो गई थी उसने मेरी पेंटी को भी नीचे खींच लिया और मुझे पूरी तरह से नंगी कर दिया उसका लौड़ा फिर से खड़ा होकर सलामी दे रहा था.

उसने मुझे उठा कर बिस्तर पर पटक दिया और मेरी टाँगे चौड़ी कर दी फिर अपना मुँह मेरी चुत से लगाकर मेरी चुत का रसपान करने लगा उसकी जुबान मेरी चुत में खलबली मचा रही थी और मेरी चुत में गुदगुदी हो रही थी। मुझे आज तक इतना मज़ा कभी नहीं आया था मैं उसका मुँह अपनी चुत पर दबा रही थी अचानक मेरा शरीर ऐठने लगा और मेरी चुत से रसधार छुट गई और उसने सारा चुतरस पी लिया ।

उसने मेरी टाँगे उठा कर अपने कन्धों पर रख दी और अपना लौड़ा मेरी चुत पर टिका दिया मेने भी अपनी टाँगे पूरी चौड़ी कर दी और उसे चोदने का इशारा किया उसने मेरी चुत पर अपना लौड़ा दबाना शुरू किया मुझे अपनी चुत पर उसके लौड़े का दबाव महसूस हो रहा था तभी उसने एक जोरदार झटका लगाया और उसका लौड़ा मेरी चुत फाड़ता हूआ अन्दर घुस गया मेरी छुट्टी फट गई और मेरी चुत से खुन निकलने लगा मै घबरा गई और दर्द से चिल्लाते हुए खुद को छुड़ाने की कोशिश करने लगी पर उसने मुझे अपनी औरों खींच लिया और मुझे अपनी बाँहो में भर लिया और मुझे कस के पकड़ लिया ताकि मैं छुट न सकूं।

आखिरकार मेने हार मान लि और उसने मुझे होठों पर किस करना शूरू कर दिया और धीरे-धीरे मेरा दर्द भी कुछ कम हो गया और मुझे भी अच्छा लगने लगा और मैं भी गांड उठा उठाकर उसका साथ देने लगी तो उसने अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से शॉट लगाने लगा हर एक शॉट में उसका लौड़ा मेरी पूरी चुत में गहराई तक उतर जाता और मैं भी टाँगे ऊंची उठा कर अपनी चुदाई का पूरा मज़ा ले रही थीं पूरा कमरे में मेरी सिसकियाँ गूँज रही थीं मेरे मुँह से आ आह आईई आईईसी ऊऊई माँ अरे मर गई रे फाड़ ड़ाली मेरी माँ चोद ड़ाली मेरी रे आह आआह आआऊऊईई ।

तो वो और भी जोश के साथ मेरी चुदाई करने लगा और मुझे गालियां देने लगा “ले भेंन की लौड़ी । ले मेरा लौड़ा ले । मादरचोद साली आज तेरी चुत फाड़ दूँगा साली रन्डी बहुत गर्मी है तेरी चुत में साली आज सारी गर्मी निकाल दूँगा तेरी चुत का आज तो भौसड़ा बना दूँगा रांड । मुझे भी चुदते हुये गालियां देने से मज़ा आ रहा था मैंने भी चोद साले भड़वे बना दे मेरी चुत का भौसड़ा बना साले हरामी मादरचोद उसे गालियां बकने लगी उसने मेरी गांड पर चपत लगाई और मुझे गालियां देते हुए हचक के चोदने लगा मैं उसके लौड़े के आगे ज्यादा देर टिक नहीं पाई और मेरी चुत पानी छोड़ने लगी और मैं झड़ गई पर वो अभी भी टिका हुआ था और मेरी चुत की गहराई तक चुदाई कर रहा था अचानक उसने अपना लौड़ा मेरी चुत से बाहर निकाल लिया और मुझे घुमाकर कुतिया बना दिया और अब वो मेरी चुत में पीछे से घमासान चुदाई करने लगा।

मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था वेसे भी डॉगी स्टाइल में चुदाई में मुझे बहुत मज़ा आता है वो मेरी चुत पर झटके पे झटके लगा रहा था और हर झटके के साथ मेरा मज़ा दुगुना हो जाता मेरी इतनी जोरदार तरीके से चुदाई हो रही थी की मेरा पूरा पलंग हिलने लगा था । आज तो पलंग तोड़ चुदाई का मेरी इच्छा पूरी हो गयी थी और मेरा पूरा शरीर फ़िर ऐठने लगा और वो भी अपने पूरे चरम पर था अचानक उसके झटकों की स्पीड़ बढ़ गई उसका भी बदन ऐठ्ने लगा शायद वो भी झड़ने वाला था और कुछ जोरदार झटकों के बाद हम दोनों साथ में झड़ गये ।

उसने अपना लौड़ा मेरी चुत से बाहर निकाल लिया और मेरे पास चिपक कर लेट गया । मैं उठकर बाथरूम गई और अपने शरीर को साफ़ किया । मेरे पूरे शरीर पर काटने के निशान मेरी जबरदस्त चुदाई की गवाही दे रहे थे मेरी चुत फट गई थी । मैं फिर कमरे में जाकर उसके पास बिस्तर पर लेट गई थकान के कारण मुझे जल्दी ही नींद आ गई और मैं सो गयी ।

रात को जब मेरी नींद खुली तो वो लडक़ा कमरे में नहीं था मुझे लगा वो चला गया है तो मैं वापस सोने लगी तभी मुझे पड़ोस के कमरे जिसमे मेरी सहेली माया सो रही थीं से कुछ आवाज़ सुनाई दी मैंने ध्यान से सुना तो वो आवाज़ मेरी सहेली की सिसकियाँ गूँज रही थीं उस कमरे में कोई मेरी सहेली की जबरदस्त चुदाई कर रहा है तो मैं चुपचाप उठी और उस कमरे के पास जाकर उसमें झाँक कर देखा तो मेरी आँखे फटी रह गयीं वो लडक़ा लेटा हूआ था और मेरी सहेली उस के ऊपर चढ़ कर कूद कूद कर अपनी चुत चुदवा रही थीं ।

मैं भी कमरे में चली गई और उनसे पूछा कि क्या हो रहा है तो वो थोड़े घबरा गये पर मैं मुस्करा दी और उनका साथ देने लगी वो भी फिर अपने चुदाई प्रोग्राम में लग गये मेरी सहेली उसके ऊपर कूद कूद कर अपनी चुत चुदवा रही थी और मैं उसके रसीले होंठों का रस पी रही थीं उसके मम्मे दबा रही थीं इस तरह उसका मज़ा डबल हो गया और वो मज़े से चिल्लाते हुए चुदवाने लगी तभी उस लड़के ने माया की चुत से लण्ड बाहर निकाल लिया और मुझे चूसने का इशारा किया तो मैं भी घुटने टेक के बैठ गई और उसका लण्ड चूसना शुरू कर दिया मुझे लण्ड चूसना बहुत अच्छा लग रहा था।

मैंने चुस चुस कर उसका लण्ड गीला कर दिया फिर उसने माया की चुत बजानी शुरू कर दी और मैंने उसके बाहर लटक रहे आण्ड़ चूसना शुरू कर दिया तभी उसने अपना लण्ड माया की चुत से बाहर निकाल लिया और मेरे पीछे आकर अपना लण्ड मेरे चुतडौ पर रगड़ने लगा मुझे भी मस्ती चढ़ने लगी और मैं माया की चुत चाटने लगी वो भी मज़े में चुत चटवा रही थीं….

इसी बीच उस लड़के ने मेरी गांड को पकड़ कर चौड़ी कर दी और गांड चाटने लगा मैं मस्ती में झूम उठीं और अपना मुँह माया की चुत पर दबा दिया उसने भी चाट चाट कर मेरी गांड गीली कर दी फिर अपना लण्ड मेरी गांड पर दबा कर एक जोरदार झटका लगा दिया उसका लण्ड का टोपा मेरी गांड के अन्दर घुस गया मेरी तो चीख निकल गई । आह मर गई । मार ड़ाला हरामी ने । फाड़ ड़ाली मेरी मादरचोद । गांड फाड़ दी भौसड़ीवाले ने पर उस ने मुझे नहीं छोड़ा बल्कि एक और जोरदार झटका लगा कर बाकी लण्ड भी मेरी गांड में घुसेड़ दिया और मेरी गांड पर एक के बाद एक शॉट लगाने लगा ।

धीरे-धीरे मुझे भी दर्द कम होने लगा और मैं भी गांड उठा उठा कर उसका साथ देने लगी अब वो पूरे ज़ोश के साथ मेरी गांड मार रहा था और मैं भी मज़े से आआऊऊईई आह्ह आह्ह्ह मार मेरे राजा ओर ज़ोर से मार । फाड़ डाल मेरी गांड । ऐसे ही चोद मुझे आह्हह्ह रन्डी बना के चोद मुझे । आईईएउउउ चो चोद मुझे । मुझे भी गांड मारवाने में मज़ा आ रहा था । मैं माया की चुत को अपने मुँह से चुस चुस कर चोद रही थीं और वो लडक़ा मेरीगांड चोद रहा था तभी माया की चुत पानी छोड़ने लगी और वो झड़ गई थोड़ी देर बाद वो लडक़ा मेरी गांड में छुट गया और झड़ कर अलग हो गया मैं भी पूरी तरह संतुष्ट हो गई थी ।

हम तीनों साथ में बाथरूम गये और एक दूसरे को नहला कर अच्छी तरह साफ़ किया और वापस आकर साथ में ही सो गये । उस पूरी रात वो लडक़ा मेरे घर पर ही रुका और पूरी रात उसने मेरी और माया की कई बार चुदाई की और साथ में मेरी गांड भी मारी । गांड मारवाने में बहुत दर्द हुआ पर अच्छा भी बहुत लगा अब जब भी मेरी चुदाई करवाती हूँ तो गांड जरुर मारवाती हूँ तो दोस्तों आपकों मेरी चुदाई की यह सच्ची घटना कैसी लगीं मुझें कमेन्ट करके जरुर बताएँ ।