लंड को पहली बार मिली चूत-8

दोस्तों अभी तक अपने लंड को पहली बार मिली चूत-7 में जो पढ़ा अब उसके आगे लिख रहा हु :  ये कहते हुए, उसने विनय के सर को पकड़ कर जैसे ही उसके होंटो को अपनी चुचियों पर झुकाया तो, विनय ने भी अपने गीले होंटो मे ममता के राइट निपल को मूह में भर कर […]

चुदाई का खेल सीमा और हेमा के साथ

प्रेषिका : हेमा आप लोगो ने पिछली कहानी ” मेरी चूत भरने लगी ” पढ़ी अब उसके आगे लिख रही हु ….और आगे की कहानी हेमा की ज़ुबानी :रात के आठ बजे मैंने धरम के लंड को चूसना शुरु कर दिया। सीमा बोली, “हेमा, एक बार मुझे और चुदवा लेने दे।” मैंने कहा, “आज संडे है और मैंने तुझे बताया […]

नौकरी चाहिये तो चुदाना पड़ेगा-12

प्रेषक: राज मित्रो आप लोगो ने नौकरी चाहिये तो चुदाना पड़ेगा पार्ट 11 में जो पढ़ा अब उसके आगे लिख रहा हु : “ओहहहहहह माँ…आँ मर गयी, वो जोर से चिल्लायी, बहुत दर्द हो रहा सर।” “क्या रोकोगे?” प्रीती जोर से हँसते हुए बोली, “एम-डी का लंड मीना की चूत में घुस चुका है। महेश, […]

जमींदार ने कहा- “अब क्या डालूं- Adult Jokes

गाँव का एक जमींदार शादी की सुहागरात को जब बेडरूम में गया तो उसकी बीवी बेड पर घूँघट ओढ़े बैठी थी। उसने घूँघट उठाया, चूमा चाटी की, दुल्हन के एक-एक करके सारे कपड़े उतारे, फिर खुद के कपड़े उतारे। दुल्हन मस्त माल थी। उसकी टाइट चूचियों को मसलते ही जमींदार का लण्ड खड़ा हो गया। […]

मेरी गांड ठुकवाने की आदत

दोस्तों सब से पहले मैं अपने शरीर के बारे मे बता दूं. मेरा रंग सांवला और मेरी हाइट कम है. मगर मेरे मम्मे बहुत भारी भारी. पतली कमर के नीचे फिर से भारी चूतड़. इस तरह मेरा बदन तो सब को सेक्सी लगता था मगर कोई मुझ से दोस्ती नहीं करना चाहता था. जब मैं […]

ससुर का मोटा लंड

एक 16 बाइ 13 की चॉल मे, 5 लोग माँ, बाप, बेटा, बेटी, और बहू है ,रहते हैं सब एक ही छत के नीचे रहते थे. किचन भी उसी में था और किचन की तरफ, एक खिड़की थी. दिन में वो लोग दरवाजा खुला ही रखते और रात में खिड़की खुली रखते थे. कहते हैं की […]

दीदी की प्यासी चूत

मेरे पति एक सफ़ल व्यापारी हैं। अपने पापा के कारोबार को इन्होंने बहुत आगे बढ़ा दिया है। घर पर बस हम तीन व्यक्ति ही थे, मेरी सास, मेरे पति और और मैं स्वयं। घर उन्होंने बहुत बड़ा बना लिया है। पुराने मुहल्ले में हमारा मकान बिल्कुल ही वैसे ही लगता था जैसे कि टाट में […]

चाची की चूत के साथ चुदाई की सुरुवात

प्रेषक: कमलेश मेरा नाम कमलेश है और मैं १८ साल का हूं. मैं अपने मम्मी पापा के साथ मुंबई में रहता हूँ. बात उन दिनों की है जब मेरे चाचा जी की तबीयत खराब हो गयी थी और वो मुंबई के हॉस्पिटल में भरती थे. इधर मेरी चाची जी को गाँव से लाने का काम मुझे […]

चाचू का मोटा लौड़ा

प्रेषिका: रिया ये बात उस समय की है.. जब मैं 12वीं में पढ़ती थी। इस बार.. वो 2 साल बाद आ रहे थे और अब मेरे जिस्म में भी जवानी का उभार आ गया था। जब से मेरे जिस्म में उभार आया था.. तब से सभी अंकल और भैया लोग मेरी फूली हुई छाती पर […]