पहली बार सेक्स अपने घर की लड़की साथ किया

उसके बूब्स को उसकी ब्रा से आजाद किया और उन्हें पकड़ कर सहलाने लगा और चूमने लगा क्या मस्त बूब्स थे उसके.. एकदम सेक्सी बड़े बड़े.. फिर में धीरे धीरे उसकी पेंटी तक पहुंचा और मैंने उसे भी खोलकर दूर हटा दिया और उसकी चूत को देखने लगा। तभी वो बोली कि क्या देखते ही रहोगे या कुछ करोगे भी? और फिर में अपने मुहं को उसकी चूत के पास ले जाकर मैंने अपनी जीभ से उसकी चूत को चाटना शुरू किया और जीभ से चोदने लगा

मामी की चुत से निकलता सैलाब

मैंने दरवाजा खोला तो देखा वो पेटीकोट पहनी थी और दोनों बूब्स को तौलिया से ढक राखी थी, क्या बताऊँ दोस्तों कैसी हॉट लग रही थी मैं साबुन लगाना सुरु किया पर मेरा लंड नहीं मान रहा था, खड़ा हो गया, पर किसी तरह से मैंने मन इधर उधर दौड़ाया और फिर साबुन लगा के बाहर आया, अब तो मुझे उनका शरीर ही आँखों के आगे नाच रहा था, लंड भी बार बार खड़ा हो रहा था

पड़ोस मे रहने वाली मादरचोद की चुत मारा

जैसे ही मैंने उनके स्तनों को दबाया तो वह नीचे गिर गई। मैं उनकी चूत को भी दबाने लगा उनसे भी कंट्रोल नहीं हुआ और मैंने तुरंत अपनी पैंट से अपने लंड को बाहर निकाल लिया। जैसे ही मैंने अपने लंड को बाहर निकाला तो वह उसे देखकर कहने लगी तुम्हारा तो मेरे पति से भी ज्यादा मोटा है। उन्होंने अपने हाथ में उसे लेते हुए हिलाना शुरू किया और बड़े ही प्यार से मेरे लंड को हिला रही थी

चाची की चुत से पानी और मुठ

उन्होंने मेरे लण्ड में थोक लगया मुह में ले लिया मेरा लण्ड उनके मुह में समां हु नही रहा , मेने कहा चाची पूरा लो न अंदर तक लो ना ,मेने अपना एक हैट उनके सर पर रख के जोर से लण्ड पूरा उनके गले तक चल गया उन्होंने लण्ड को बाहर निकल दिया अपने हाथो से मेरे सर को चुत में दबाने लगी मेने दो ऊँगली चुत में डाल दी, जोर से ऊँगली से चची की चुत चुदने लग गया चाची इईईईईई ऊऊऊऊऊ ईईईईई ऊऊऊऊऊ में निकालेने वाली हु चुसो मेरी चुत को हठठठठठठठठठह दददद चाची मेरे मुह में ही जड़ गयी

मेरी टीचर माँ को सेक्स करना सिखाया

मेने कहा अब में आपके चुत को चाटना चाहता हु, मम्मी बोली सेक्स में चुत को नही चाटते , तेरे पापा ने कभी मेरी चुत नही चाटी सेक्स एजुकेशन में ये नाही अता हे, मेने मन में सोचा मम्मी  सेक्स के रे में नही पता और एडुकेेेशन देने चली में आज माँ को सेक्स असली सेक्स करना सीखता हु. मेने कहा मम्मी आप लेट जाओ मुझे आपकी चुत चटनी हे, अगर आपको अच्छा नही लगे तो बोल देना मेने जैसे ही मेरि जीभ चुत में लागए वो वो…

चाची के साथ मजे लेने का सपना पूरा हुआ

मैंने एक हाथ की दो अंगुलियों को उनकी चूत में डाल कर अंदर बाहर करने लगा उनके बूब्स दबाने लगा और उनकी चूचियां भी दबाने लगा लगा अब वो तेजी से सिसकियां ला रही थी उहहहहहहह अहहहहह ईईईईईई अउउउउउउउ की आवाज़ आने लगी रूम में अब उनको छोड़ दिया और मेरे 9 इंच के लन्ड को उनके मुंह में डाल दिया और मुंह से चूसने लगी मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

एक अधूरी सेक्स कहानी

ब्युटि के ब्रेस्ट दबाता दूसरा आगे से सेक्स करता तीसरा पीछे से सेक्स करने लगा एक साथ यह सब होने से ब्युटि बहुत थकने लगी तब अभिसेक ने कहा एक काम करो तुम इसे पियो तब उसे धीरे धीरे दारू पिने की भी आदत दाल दी और उसे कहा की मुंबई से खबर आयी है की दारू पीते हुए और सिगरेट पीते हुआ फोटो भेजोअब ब्युटि को यह सब करने में बहुत मजा आने लगा

माँ को पटाया और मजे से चोदा भी

मम्मी की चुत में जूस के आगे सब जूस फेल हे, में मम्मी की चुत को चटाते जा रहा था , मम्मी सेक्सी आवाज में सिसकिया निकल रही है ह्ह्ह्ह्ह्यः हहहह ह्ह्ह्ह्ह्यः ऊऊऊऊ ईऊऊ मेरे सर को  आने हाथो से आने चुत पर दबाने लगी, मेने अपनी दो ऊँगली उनकी चुत में डाल दी , उनकी सी नीचे वाले चुत में लागड़ने लग गया , ऊपर वाली छेद को जीभ से चूसने लग गया,  मम्मी बोली में जड़ने वाली हु में मेरे मुह को चुत में दबा दिया

दीदी के तड़पते जिस्म की मुह से चुदाई

दीदी की पावरोटी जैसी फूली हुई चुत नंगी मेरे आँखों के सामने थी. मैं बूर को चूसने लगा दीदी की आँहो की आवाज गुजने लगी. दीदी की बूर काफी गीली हो गयी थी उईईई ओह्ह् भाई जल्दी घुसा अपना लंड अब सही मौका था दीदी को चोदने का मैंने अपना लंड दीदी की बूर में पेल दिया दीदी को काफी दर्द हुआ पर धीरे धीरे लंड पूरा बूर में घुस गया उईईई माँ भाई तूने फाड़ दिया रे मेरी चुत दीदी चिल्लाने लगी ओह्ह्ह्ह मेरी जानेमन आज तो तेरा बूर का भोसड़ा बना दूंगा

दोस्त की माँ की चुत मे गरम वीर्य भर दिया

आंटी में आपके चुत के अंदर लण्ड नही डालूंगा, ऊपर ऊपर से ही करूँगा, वो बोली ओके, मेने अपना लण्ड उनके चुत पर लगाड़ने लग गया वो भी ऊऊऊऊ करने लगी, मेने कहा आंटी तोड़ा सा लण्ड को चुत में डालने दो, आंटी बोली अंदर मत डालना मेने अपना लण्ड का टोपा आंटी चूतड़ जैसे ही डाला आंटी ऊऊईईईईईई दददद की सिसकिया निकलने लगी, में धीरे धीरे धक्के मारने लगा, मुझसे अब रहा नही गया