मेरी पहली क्लाइंट जब मैं जिगोलो बना

हाय अगर आप सभी मजे लेना चाहते है और साथ ही आसानी से पैसे कमाना चाहते है तो ये बेस्ट आईडिया है आप सोच भी नहीं सकते कितनी चुदासी लड़किया होती है एक से बढ़कर एक लड़की मिलेगी आपको चुदवाने के लिए और अच्छी से अच्छी पार्टी भी मिलेगी जो आपको आपके औकात से ज्यादा पैसा देगी.

हेलो फ्रेंड, मेरा नाम मनदीप है और मैं खड़गपुर से हूँ. मैं एक कॉल बॉय हूँ. अब तक मैं जितने भी क्लाइंट्स को चोदा है, ‘चाहे वो आंटी हो, भाभी हो,न्यूली वेड हो या गरम लड़की हो’ मैंने उनको उनकी चरम सीमा तक पंहुचा कर सन्तुष्ट किया है.

ये मेरी पहली स्टोरी है और अगर मुझसे कोई गलती हो जाए, तो मुझे माफ़ कर देना. अब मैं सीधे स्टोरी पर आता हूँ. मेरे लंड का साइज़ 7 इंच है. ये स्टोरी तब की है, जब मैं कॉल बॉय बनने के बाद पहली बार लड़की को चोदने गया था.

मुझे एक लड़की का कॉल आया था और उसने मुझे अपना एड्रेस दिया. मैंने पूछा कि कब आना है? तो उसने कहा, “मैं कॉल कर के बता दूंगी कि कब आना है.” मैंने ‘ओके’ कहा और फिर फ़ोन कट गया. दो दिन बाद उसका कॉल आया और उसने मुझे अपने घर आने के लिए कहा. फिर मैं उसके दिए हुए पते पर पहुंच गया और उसके घर की डोरबेल बजायी. तब एक मस्त गरम माल लड़की ने दरवाजा खोला.

माफ करना दोस्तों, मैं उसका नाम तो बताना ही भूल गया. उसका नाम प्रीत था. उसे देख कर मैंने पूछा कि प्रीत आप ही हो?

उसने कहा – हाँ. और तुम जीशान हो ना? मैंने कहा – हाँ.

फिर उसने मुझे स्माइल देते हुए कहा, “जानू, अन्दर आ जाओ.” उसने उस टाइम ब्लैक गाउन पहन रखा था. वह उसके घुटनों से ऊपर तक था. उस गाउन में क्या माल लग रही थी वो, बता नहीं सकता. उसके घर के अंदर जाने के बाद उसने मुझे अपनी बाहों में ले लिया और पागलों की तरह किस करने लगी.

अब मैंने कहा, “घर में कोई नहीं है क्या?” तो उसने कहा कि मेरे हसबैंड टूर पर गये हैं और 5 दिनों के बाद वापस आयेंगे. अब तुम्हे 5 दिनों तक यहाँ पर रहना पड़ेगा. मैंने ओके कहा और फिर हम एक – दूसरे में ही खो गये.

मैं उसे पागलों की तरह किस करने लगा और वो मेरे लंड पर हाथ फेरने लगी. अब मेरा लंड पूरा टाइट हो गया था. फिर मैं उसके बूब्स को गाउन के ऊपर से ही दबाने लगा.

प्रीत का फिगर 32-30-36 का था. फिर मैंने उसे सोफे पर गिरा दिया और उसके ऊपर चढ़ गया. अब मैं उसके पूरे बदन पर किस करके उसके बदन के साथ खेलने लगा. फिर मैंने उसका गाउन उतार दिया. अब मेरे सामने एक अद्भुत नज़ारा था. उसे देख कर मैं तो जन्नत में पहुंच गया था.

उसने नेट वाली ब्रा और पैन्टी पहनी हुई थी. उसकी ब्रा और पेंटी तो बस नाम की ही थी. फिर प्रीत ने मेरी शर्ट उतार दी और अगले ही पल उसने मेरी जीन्स भी उतार दी. जिससे मेरा लन्ड उसके सामने आ गया. मेरे लंड को देखते थे, वो उसे पकड़ कर पागलों की तरह चूसने लगी.

मेरे लन्ड को वो करीब 5 मिनट तक चूसती रही और फिर मैंने उसकी ब्रा और पेंटी को भी उतार दिया. मेरे सामने उसके नंगे बूब्स थे. उन्हें देख कर मैं पागल हो गया और पागलों की तरह चूसने लगा.

दूसरी तरफ मैं उसकी चूत को भी सहला रहा था. करीब 10 मिनट तक चूत सहलाने के बाद मैंने उसे अपनी गोद में उठा लिया और फिर उसे उसके बेडरूम में ले गया. मैंने वहां पर उसे बेड पर लिटा दिया और फिर हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गये.

अब वो मेरा लंड चूसने लगी और मैं उसकी चूत को चाटने लगा. 10 मिनट बाद उसकी चूत का पानी निकल गया और मैंने उसकी चूत का पूरा पानी पी लिया. कुछ देर बाद मेरा भी पानी निकल गया था. उसने भी मेरा पूरा पानी पी लिया.

फिर उसने कहा, “अब रहा नहीं जा रहा है. डाल दो अपना मोटा लंड मेरी चूत में.” तो मैंने कहा, “ठीक है. डाल
देता हूँ.” अब मैंने अपना लंड उसकी चूत पर सेट करके
उसे धक्का मारने लगा. मेरा लंड धीरे – धीरे उसकी चूत के अन्दर जा रहा था और वो चिल्ला रही थी.

उसे चिल्लाते देख कर मैंने पूछा, “प्रीत डार्लिंग, कभी चुदी नहीं हो क्या?” तो उसने कहा, “मेरा हरामी हसबैंड मुझे ज्यादा चोदता ही नहीं है.” यह सुन कर मैंने कहा, “परेशान न हो, आज मैं दूंगा तुम्हें वो पूरा सुख.” इतना कह कर फिर मैंने एक जोरदार धक्का मारा, तो मेरा पूरा लंड प्रीत की चूत में घुस गया. मैंने देखा कि उसकी चूत से खून आने लगा है और वो चिल्ला रही थी. अब उसने मुझे कस कर पकड़ लिया.

फिर मैंने लंड को उसी जगह पर 2 मिनट के लिए रोके रखा और फिर धीरे – धीरे धक्के देने स्टार्ट कर दिया. अब वो चिल्ला रही थी. वो ‘फक मी…फक मी… अहह अहह अह्ह्ह्ह आऐईईईई’ जैसे कामुक आवाजें निकाल रही थी. उसकी ये कामुक आवाजें मेरा जोश बढ़ा रही थी. और मैं
भी पूरे जोश के साथ प्रीत को चोद रहा था.

करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद, प्रीत की चूत का पानी निकल गया था. फिर मैंने अपने लंड को उसकी चूत से बाहर खींच लिया और उसके मुंह में डाल दिया. मैंने उसे अपने लंड को चूसने को कहा.

अब उसने मेरे लंड को अपने होंठों के बीच में दबा लिया. और बड़ी ही मस्ती से चूसने लगी. उसकी मस्त लन्ड चुसाई से 5 मिनट के बाद ही मेरा पानी भी निकल गया.

अब हम दोनों थक गये थे पर थकने से पहले मैंने अपने लंड को उसकी चूत में डाल दिया था और फिर ऐसे ही उसके ऊपर लेट गया था. रात को 2 बजे जब मेरी हल्की सी आँख खुली, तो मैंने देखा कि प्रीत मेरे लंड को चूस रही थी.

यह देख मैंने कहा कि क्या हुआ डार्लिंग? चुदने का मूड है क्या? तो प्रीत ने कहा, “हाँ जानू.” तो हमने दोबारा चुदाई स्टार्ट कर दी और पूरी रात चुदाई करते रहे. हमने पूरी रात अलग – अलग तरीके से चुदाई की. सुबह 5 बजे तक चुदाई करने के बाद हम फिर सो गये.

फिर सुबह 11 बजे प्रीत उठी, तो उसने मुझे उठाया और अपने कपड़े पहने लगी. उठने के बाद मैंने कहा, “कोई नहीं है क्या घर में?” तो उसने कहा कि उसने सारे नौकर को छुट्टी दे दी है और घर पर सिर्फ हम दोनों ही हैं चुदाई करने के लिए.

यह सुन कर मैंने कहा, “तो कपड़े क्यों पहन रही हो? अगले 5 दिनों तक हम दोनों में से कोई भी कपड़े नहीं पहनेगा.” इस पर उसने कहा, “ठीक है.” और फिर वो ब्रेकफ़ास्ट बनाने चली गयी.

अगले 5 दिनों तक हमने कपड़े नहीं पहने और पूरे नंगे रहे. इस दौरान हमने बहुत चुदाई की और जब 5 दिनों बाद, मैं जाने लगा, तो प्रीत ने मुझे 30000 रूपये दिए और एक जोरदार किस भी दी.