चौकीदार के साथ मैंने भी मम्मी को चोद दिया- 2

चौकीदार के साथ मैंने भी मम्मी को चोद दिया- 1

आज मैं आपको अपनी कहानी’ चौकीदार के साथ मम्मी की चुदाई की.’ केआगे की कहानी बताता हूँ .अब मैं और सूरजपाल चौकीदार ,अक्सर मम्मी के साथ एन्जॉय करते थे .मैं मम्मी की चुत को चाट कर सूरजपाल के लिए तैयार करता था.फिर सूरजपाल मेरी मम्मी की जमकर चुदाई करता था.उसके बाद मैं, मम्मी और सूरजपाल का ताज़ी जूस मम्मी की चुत से चाट जाता था .एक दिन अचानक पापा का ट्रांसफर आर्डर दिल्ली के लिए आ गया. अब मैं और मम्मी बहुत परेशान हो गए. क्योंकि मम्मी को चुदाई पार्टनर की कमी हो गयी थी हम लोग दिल्ली आ गए.

मैंने मम्मी से कहा कि अब आप की चुदाई कैसे हो पाएगी. मम्मी ने कहा कि अब तुम ही कोई तरीका निकालो.मेरे दिमाग मे एक विचार आया की क्यों नहीं मम्मी को जिस्म के धंधे मे उतार दिया जाये.इससे मम्मी की रोज नए नए लंड से चुदाई भी हो जाएगी और पैसा भी कमाने का इंतज़ाम हो जायेगा.मैंने अपना यह विचार मम्मी को बताया तो मम्मी बोली वह तो ठीक है.लेकिन अगर तेरे पापा को कहीं पता लग गया तो क्या होगा?

मैंने कहा तुम उसकी चिंता मत करो यह काम केवल दिन मे होगा. जब पापा बैंक मे होंगे. अगले दिन मैं दिल्ली के जी.बी. रोड इलाके मे गया और वहां मैंने देखा कि एक आदमी के आस पास काफी भीड़ थी मालूम करने पर पता लगा कि वह वहां का फेमस दलाल था फ़िरोज़ .थोड़ी देर बाद जब भीड़ कम हुई .तब मैंउसके पास गया और कहा कि मुझे अकेले मे बात करनी है.वह मुझे पास की बिल्डिंग मे ले गया.मैंने उसे बता दिया की मेरी मम्मी इस धंधे मे उतरना चाहती है और उसे दिन मे केवल एक ही ग्राहक चाहिए और वह भी सुबह 11 बजे से शाम को 5 बजे तक.!वह समझ गया कि मम्मी अपने हसबैंड की नामौजूदगी मे धंधा करेगी.

मैंने फ़िरोज़ से जानना चाहा कि एक बार की चुदाई का कितना पैसा मिलेगा तो फिरोज बोला मुझे पहले अपनी मम्मी दिखाओ उसके बाद ही मैं बता सकता हूं कितना पैसा मिल पाएगा. उसकी चूत, चूची और गांड चेक की जाएगी.उसके बाद ही उसका रेट तय हो पाएगा.मैंने फिरोज से कहा की मम्मी घर से ही धंधा करेगी.उसने कहा ठीक है.और उसने अगले दिन आने का वादा किया.घर जाकर मैंने सारी बात मम्मी को बता दी.मम्मी डर रही थी.

मैंने कहा डरने की कोई जरुरत नहीं है.मैंने सारा काम कर दिया है.अगले दिन फिरोज़ 11 बजे हमारे घर आ गया.मैंने घर का दरवाज़ा खोला और उसे मम्मी के कमरे में ले गया. मम्मी बाल बना रही थी.हम दोनों को देख कर उसने अपना चेहरा नीचे कर लिया. मैंने फिरोज़ से कहा,जाओ जाकर अपना माल चेक करो. वह मम्मी के पास चला गया और मुझसे बोला कि अब तुम कमरे से बाहर जाओ.मैंने कहा कि जो भी करो मेरे सामने करो. मैंने कहा पहले 3-4 लोगों को मेरे सामने ही चुदाई करनी होगी.फिर मम्मी को एक्सपीरियंस हो जाएगा.

फिर वह मम्मी के चेहरे पर हाथ फेरने लगा.और फिर उसने धीरे धीरे मम्मी की साडी उतार दी. अब मम्मी केवल ब्लाऊस और पेटीकोट मे थी. उसने ब्लाऊस के ऊपर से ही मम्मी की दोनों चूचीयो को दबा दबा के देखा. वह मम्मी के चूचीयो को देखकर खुश दिखा. फिर उसने मम्मी केे पेटीकोट का नाडा खोल दिया . मम्मी का पेटीकोट एक झटके में नीचे गिर गया. फिर उसने मम्मी का ब्लॉउस भी उतार दिया. मम्मी का चेहरा मारे शर्म केे उठ नहीं रहा था. उसने मम्मी को उल्टी तरफ पलट दिया और उनकी गाँड पर तीन चार हाथ मारके उसकी गांड की टाइटनेस चेक की.

फिर उसने मम्मी की पेंटी और बरा भी निकाल दी. अब मम्मी पुरी तरह से नंगी थी. मम्मी की चूत शीशे की तरह चमक रही थी. उसने मम्मी की चूत में एक ऊँगली डाल के आगे पीछे करना शुरू किया तो थोड़ी ही देर में मम्मी की सिस्कारी निकलने लगी. वह बोला तेरी मम्मी है तो एकदम टिप टॉप माल. अब चुदाई से पता चलेगा कि यह बिैस्तर पर कितनी देर टिक पाती है.मैं मम्मी के पास गया और उसकी चूत चाटने लगा. फिरोज़ बोला यह क्या कर रहे हो?

मैंने कहा जब यह गरम हो जाएगी तो और ज्यादा मजा देगी.मम्मी अब गरम हो चुकी थी.अब तक फिरोज़ ने अपने कपडे उतार दिए थे. उसने मम्मी के मुँह को पकड़कर अपना लंड मम्मी के मुँह में दे दिया और मैं मम्मी की चूत को चाट चाट कर चिकना कर रहा था. फिर फिरोज़ ने अपना लंड मम्मी के मुँह से निकाल कर उसकी चूत पर लगा दिया. उसका लंड टोपी दार था. उसने पहले झटके में ही आधे से ज्यादा लंड मम्मी की चूत में डाल दिया. मम्मी की चीख निकल गयी. मैं फ़ौरन मम्मी की चूची मुंह में लेकर चूसने लगा. अब मम्मी शांत हो गयी थी. अब फिरोज़ ने आगे पीछे कर करके अपना पूरा लंड मम्मी की चूत में उतार दिया था. मम्मी सिसकारीया ले रही थी.

मुझे मम्मी को चुदवाते देख कर बड़ा मजा आ रहा था. थोड़ी देर बाद दोनों की गति बड गयी. फिरोज़ केे तेज शॉट मम्मी की चूत पर पड़ रहे थे.और मम्मी भी अपनी चूत को उठा उठा केे चुद रही थी.फिर थोड़ी ही देर बाद मम्मी ने फिरोज़ को कस कर चिपका लिया और तेज सिस्कारी के साथ ढिली हो गयी. उसकी चूत से हल्का हल्का माल निकलना शुरू हो गया. फिर फिरोज़ ने तेज तेज 8-10 शॉट मारे और उसने भी मम्मी की चूत में ही अपना माल निकाल दिया.

अब मम्मी की चूत से हिन्दू मुस्लिम एकता का रस निकल रहा था. मैंने मम्मी की चूत से सारा रस चाट लिया.वह बोला तेरी मम्मी का एक बार का रेट 5000 है. अगर कभी दो आदमी एक साथ चुदाई करेंगे तो 8000 मिलेंगे और गांड चुदाई के 3000 अलग से मिलेंगे. यह कह कर वह चला गया.अब मम्मी बोली की मैंने तो कभी गांड मरवाई नही है, तो अब क्या होगा? मैंने कहा चिंता मत करो.और मैं मम्मी के पास जाकर उसकी चूत चाटने लगा. वह बोली अब क्यों चाट रहे हो. मैंने कहा तुम देखती रहो. फिर वह गरम हो कर सिसियाआने लगी. मैंने अपना लंड निकाल कर उसकी चूत पर लगा दिया और उसको चोदना शुरू कर दिया.

आज पहली बार मम्मी की चूत चुदाई का मौका मिला था. थोड़ी देर बाद मम्मी की चूत ने पानी छोड़ दिया. फिर मैंने मम्मी को घोड़ी बना दिया और उनकी गांड में तेल लगा दिया और फिर उसकी गांड मारी. अब मम्मी की गांड का रास्ता भी खुल गया था. अगले दिन से ही मम्मी केे यार आने शुरू गए हो. एक दिन दो निगरो भी आये. यह अगली कहानी में बताऊंगा कि निगरो ने कैसे मेरी मम्मी की चूत का बाजा बजाया. यह कहानी आपको कैसी लगी प्लीज कमेंट कीजियेगा.