चुत में लंड घुसाने में बड़ी मसक्कत करनी पड़ी

हैल्लो दोस्तों मेरा नाम मिहिर है और मेरी उम्र 27 साल की है और में बहुत स्मार्ट हूँ। दोस्तों में आज आपको अपनी एक सच्ची सेक्स स्टोरी के बारे में बताता हूँ। दोस्तों एक बार में मेसेंजर पर चेट कर रहा था। तभी एक लड़की जिसका नाम अपुर्वा है और वो (विशाखापटनम) में रहती है। फिर एक दिन उसने मुझे अपनी फोटो दिखाई लेकिन वो शादीशुदा थी और बहुत ही सेक्सी थी और उसके बूब्स बहुत ही अच्छे थे। फिर एक दिन बातोँ ही बातोँ में मैंने उसे फोन सेक्स करने के लिए कहा और वो जल्दी ही तैयार भी हो गयी।

फिर कुछ देर सेक्स के बारे में बातें करने के बाद उसने मेरा नंबर माँगा और फिर मैंने उसे अपना नंबर दे दिया और फिर उसने कहा कि वो रात को कॉल करेगी। फिर उसी रात ठीक 12 बजे उसका फोन आया और फिर उसने मुझे कहा कि वो अपुर्वा बोल रही है। फिर थोड़ी देर बात करने के बाद हमने सेक्सी बातें करनी शुरू कर दी। उसका पति बाहर जॉब करता है और महीने में दो बार आता है इसलिए वो अपने कमरे पर बिलकुल अकेली थी और बातें कर रही थी। फिर उसने कहा कि मिहिर तुम आज फोन पर मेरी प्यास बुझाओ और फिर मैंने अपना काम शुरू कर दिया।

तभी मेरे कुछ कहने से पहले ही उसने ऑफर दे दिया और फिर में खुश हो गया। मेरे लिए यह बहुत आसान था क्योंकि में पहले भी तीन लड़कियों के साथ ओरल सेक्स कर चुका था। फिर मैंने उससे कहा कि अपुर्वा डार्लिंग क्या में तुम्हे किस कर दूँ? तभी उसने कहा कि हाँ करो ना। फिर मैंने कहा कि तुम्हारे गाल चूम लूँ? फिर उसने कहा कि चूम लो। फिर मैंने कहा कि क्या अब तुम्हारे बूब्स दबा दूँ? तभी उसने कहा कि हाँ दबाओ ना जानू। फिर मैंने कहा कि तुम अपनी पेंटी उतार दो और फिर उसने उतार दी और अब हम दोनों नंगे थे।

फिर मैंने कहा कि अपुर्वा तुम अपने बूब्स दबाओ और आवाज़ निकालो। फिर उसने ज़ोर ज़ोर से दबाना शुरू कर दिया और आवाज़ निकालने लगी कि मिहिर आह्ह्ह जाओ प्लीज आ जाओ मेरी प्यास बुझा दो। फिर वो गरम हो गयी थी। तभी मैंने कहा कि क्या तुम्हारा दूध पी लूँ? फिर उसने कहा कि हाँ पी लो.. यह तुम्हारे लिए ही तो है। फिर वो अपने बूब्स ज़ोर से दबा रही थी और में अपना लंड हिला रहा था। फिर मैंने कहा कि अपनी एक उंगली अपनी चूत में डालकर जोर जोर से हिलाओ और फिर में अपना लंड हिलाने लगा।

फिर वो चूत में अपनी एक उंगली डालकर जोर जोर से हिलाने लगी और उसके एक हाथ में फोन था। तभी उसने आवाज़ निकालनी शुरू कर दी अहह मिहिर में मर जाऊंगी प्लीज आ जाओ.. मुझे चोद दो मेरी प्यास बुझा दो। फिर मैंने कहा और ज़ोर से घुमाओ। फिर मैंने कहा कि क्या मेरा लंड तुम्हारे मुहं में डाल दूँ? तभी वो बोली हाँ डाल दो मुझे चूसना है वैसे भी मैंने कभी किसी का लंड नहीं चूसा। फिर वो अपने आपे से बाहर हो गयी और ज़ोर ज़ोर से अपनी चूत में उंगली हिला रही थी और फिर में भी अपना लंड हिला रहा था। फिर कुछ देर बाद मेरा वीर्य निकल गया। तभी उसने कहा कि मुझे अपना वीर्य पिलाओ ना प्लीज।

फिर फोन पर सेक्स करने के बाद उसने मुझे कहीं पर मिलने को कहा और अपना पता मुझे बता दिया और किस्मत से वो पता भी मेरे घर से कुछ दूरी पर ही था। फिर एक दिन उसने मुझे अपने घर पर बुलाया और फिर में अगले दिन बस पकड़कर उसके घर पर चला गया चला गया और बस स्टेण्ड पर मेरे उतरते ही उसका फोन आया और उसने कहा कि वो घर पर मेरा इंतजार कर रही है। फिर में उसके बताए हुए पते पर पहुंच गया और गली के कोर्नर पर ही मेरा इंतजार कर रही थी।

दोस्तों वो क्या सेक्सी लगती थी मैंने उसे पहली बार देखा था। आज तक उससे बस फोन पर ही बात की थी और आज उसे देख भी लिया। दोस्तों उसके बूब्स बहुत मोटे थे और वो बहुत सुंदर लग रही थी लेकिन दोस्तों शादीशुदा होने के बाद भी वो चहरे से नहीं लगती थी। फिर हम घर पर पहुंचे.. उसका घर थोड़ी ही दूरी पर था लेकिन किस्मत से उस दिन उसके घर पर कोई भी नहीं था और उसने पड़ोस में भी पहले से ही कह दिया था कि मेरे पीहर से कोई आ रहा है। फिर उसने मुझे अंदर बुलाकर सोफे पर बैठाया और फिर ठंडा पानी पिलाया।

तभी मैंने उसे अपनी बाहों में ले लिया और उसकी चूचियाँ दबा दी। फिर वो बोली कि इतनी ज़ल्दी मत करो में तुम्हारी ही हूँ। फिर वो मेरे पास आकर बैठ गयी और मैंने उसको किस करना शुरू कर दिया। वाह क्या होंठ थे उसके एकदम गुलाबी, मुलायम। फिर किस करते करते मैंने अपना एक हाथ उसके बूब्स पर रख दिया और ज़ोर से दबाने लगा। फिर वो भी गरम हो रही थी और उसने अपना एक हाथ मेरे लंड पर रख दिया और फिर पेंट के ऊपर से ही हिलाने लगी। फिर हम दोनों को मज़ा आ रहा था। तभी मैंने उसका ब्लाउज खोल दिया और ब्रा के ऊपर से उसके बूब्स दबाने लगा। दोस्तों आप ये कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है।

दोस्तों क्या साईज़ था बूब्स का मुझे तो मज़ा ही आ गया एकदम बड़े बड़े। तभी मैंने उसकी ब्रा भी उतार दी और अपना लंड निकाल कर उसके मुहं में डाल दिया। फिर उसने बिना समय को बर्बाद किये लंड को मुहं में लेकर चूसना शुरू कर दिया और मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। फिर वो मेरा लंड चूस रही थी और में उसके बूब्स दबा रहा था। तभी मैंने कहा कि अपुर्वा डार्लिंग तुम्हारे बूब्स तो बहुत मस्त है और मुझे इनका दूध पीना है। तभी उसने कहा कि तुम्हे मना किसने किया है मेरे राजा? तुम आज मेरा सारा दूध पी लो।

फिर मैंने उसके और अपने सारे कपड़े उतार दिए और उसको नंगी करके बेड पर लेटा दिया और फिर मैंने उसके गुलाबी गुलाबी होंठो को चूमना शुरू कर दिया। फिर मैंने उसकी चुचियों पर एक किस किया और फिर बड़े आराम से उसका दूध पिया। फिर मैंने उसके मूँह में अपना लंड डाल दिया और फिर उसने चूसना शुरू कर दिया। फिर मैंने उसकी चूत को अपनी जीभ से चाटा और वो पागल हो गयी। फिर 10 मिनट के बाद मैंने अपना लंड उसकी चूत पर सेट किया और एक जोर का धक्का मारा लेकिन लंड चूत में नहीं जा रहा था। फिर मुझे समझ आया कि उसने मुझे बताया था कि उसका पति बाहर कहीं पर जॉब करता है। शायद इसलिए वो कई दिनों से बिना चुदी थी और वो मुझे अपनी प्यास बुझाने के लिये बुला रही थी।

फिर मैंने उसे तेल लाने को कहा और फिर तेल लाने के बाद मैंने थोड़ा चूत पर और थोड़ा अपने लंड पर लगाया और फिर एक जोर का धक्का दिया और पूरा लंड एक बार में ही चूत में उतर गया। तभी वो चिल्ला उठी और उसने मुझे एकदम जोर से पकड़ लिया और कहने लगी कि प्लीज लंड को चूत से बाहर निकालो मुझे बहुत दर्द हो रहा है प्लीज।

फिर दोस्तों उसकी चूत का दर्द होना भी लाजमी था क्योंकि कई दिनों से बिना चुदी चूत सिकुड़ कर छोटी हो जाती है और उसके साथ भी वही हुआ। फिर वो चूत का दर्द सहन नहीं कर पा रही थी। तभी में थोड़ी देर रुका और फिर उसके शांत होने का इंतजार करने लगा। फिर करीब पांच मिनट बाद जब वो थोड़ी ठीक लगी तो मैंने अपने लंड को आगे पीछे करना शुरू किया लेकिन बहुत धीरे धीरे। फिर में चुदाई किये जा रहा था और वो दर्द से सिसकियाँ ले रही थी।

कहानी जारी है ….. आगे की कहानी पढने के लिए निचे लिखे पेज नंबर पर क्लिक करे …..