Tag: antarvasnasexstories

antarvasnasexstories.com, antarvasna.com, antarvasna sex stories, antarvasna.net, antarvasna sex kahani, antarvasna hindi sex stories, अन्तर्वासना, अन्तर्वासना हिंदी सेक्स कहानी, अन्तर्वासना की चुदाई, अन्तर्वासना सेक्स, हिंदी अन्तर्वासना etc.

सुधा के साथ वो रात- 2

सुधा के साथ वो रात- 1 आप लोगो ने मेरी सुधा के साथ वो रात कहानी के कई मेल और रिप्लाइ किये. आप सभी का में आभारी हु माफ़ करना बहुत दिनों के बाद दूसरा भाग लिखा रहा हु. मेरी कहानी अच्छी लगे तो रिप्लाइ करना। चलिये तो अब कहानी कि ओर चलते हैं। रूम […]

मुठ मारना छोड़ चोदना शुरू कर दिया- 3

सकी गांड चोदने के बाद मेरा लण्ड-रस उसकी गांड में बह गया।
रीता निढाल होकर नीचे गिर गई। गरीबी और मज़बूरी आदमी के वाकयी दो सबसे बड़े रोग होते हैं। रीता की गांड भी इस रोग का शिकार हो गई थी।

ब्रेकअप से उदास बहन की चुदाई

मैंने दीदी की चड्डी उतार दी. अब दीदी पूरी नंगी मेरे सामने खड़ी थी, मैंने दीदी को बिस्तर पर लेटाया और उनकी चिकनी बूर चूसने लगा. थोड़े ही देर में दीदी की चुत गीली हो गयी और वो चुदने की भीख मांगने लगी.

पिता ने चखा कोमल बेटी के यौवन का स्वाद

कोमल के बाल ज़ोर से पकड़े और उसका सर दबा दिया अपने लॅंड पे. कोमल मासूम थी. ये उसका पहला अनुभव था किसी लॅंड के साथ खेलने का. लॅंड उसको गले तक जा चुका था. उसकी सासे दब रही थी. लेकिन थोड़ी ही देर में लॅंड चूसना आ गया.

मेरी बीवी की चुत की चुदाई

आदमी मेरी बीवी की गांड को शहला रहा था और कह रहा था तुम्हारी गांड बहुत-बहुत मस्त है गांड में डलवा दो मेरी बीवी कहने लगी गांड नहीं मरवानी वह कहने लगा प्लीज एक बार थोड़ा सा ही डालूंगा पर मेरी बीवी मना कर करती रही।

गाँव की देसी भाभी की सेक्स लाइफ- 2

मैंने उन्हें लिटाकर उनकी टांगें अपने कन्धों पर रखी और गीला लण्ड उनकी चूत में उतार दिया।
फिर उनकी ठुकाई शुरू हो गई, पूरा कमरा हम दोनों की आवाजों से गूजने लगा, चूत और लण्ड एक-दूसरे को हराने में लगे हुए थे।

चचेरे भाई की जवान बेटी की चुदाई

उसकी चूत में अपना माल गिरा कर मुझे जो सुकून मिला, वो मैं बयान नहीं कर सकता. थोड़ी देर उसके ऊपर पड़े रहने के बाद मैंने लंड उसकी चूत के बाहर निकाल लिया. लंड बाहर निकालते ही उसका और मेरा रस उसकी चूत से बाहर आने लगा.

तीन गोरो से मेरी महराष्ट्रियन चुत चुदी

एक गोरे ने अपना मुँह मेरी चूत में डाल दिया और चूसने लगा और साथ में मेरी चूत में उंगली भी डालने लगा। दूसरा मेरे बगल में खड़ा हो गया और अपना खड़ा लंड मेरे मुँह में डाल कर मेरे मुँह को चोदने लगा। उसका लंड इतना कड़क था कि मेरे दांत उसके लंड को रगड़ रहे थे। वो बराबर मुझे अपना मुँह और खोलने के लिए कह रहा था।

पड़ोसी भाभी की चुदने की बेताबी

चुत मे से पहले से ही रस का दरिया बह रहा था, उन्हीं की पैन्टी से चूत साफ की और जीभ से चूत चाटने लगा, उन्हें मजा आने लगा। फिर हम 69 अवस्था में आ गए और वो भी मेरा लण्ड चूसने लगी।

सील तो अपने बॉयफ्रेंड से तुडवानी थी

मेरा नाम तृप्ति है मैं अपने जीवन में कुछ करना चाहती थी लेकिन मेरे पिताजी हमेशा मुझे कहते कि तुम एक लड़की हो और तुम कभी कुछ नहींकर पाओगी। वह मुझे हमेशा ही कम आंका करते थे और कहते कि तुम पढ़ने में भी ठीक नहीं हो लेकिन उसके बावजूद भी मैं अपनी पढ़ाई पूरे […]