Tag: antarvasnasexstory

बाबा से चुत चुदवाई- 2

मैं और चूत मसलने लगी और एक उंगली को चूत के छेद में घुसेड दिया। अंदर स्वामीजी का वीर्य बह रहा था। मेरी उंगली अंदर तक चली गयी। मुझे इतना मज़ा आने लगा की मैं उंगली से योनि की चुदाई करने लगी। मेरी आँखों के सामने स्वामीजी की चुदाई घूमने लगी।

माँ की फ्रेंड की चुदाई का मौका

मेरे लंड आंटी की गांड में पूरा चला गया और आंटी तड़पती रही पर मैने कुछ नही सुना और अपना लंड आंटी की गांड के अंदर बाहर करता हुवे झटके मारता रहा। आंटी की आवाज़ भी कम होती जा रही थी और उनको भी मज़ा आने लगा।

मुठ मारना छोड़ चोदना शुरू कर दिया- 5

अगर प्यार और सहमति से चोदे और हमारी मदद भी करे तो चुदने में कोई बुराई नहीं है, बुर तो चुदने के लिए ही होती है पर अपने खुद के मर्द भी बुर का मज़ा पूरा लेते हैं और उसके बाद दो प्यार भरे शब्द भी नहीं बोलते.

शेरो शायरी: मालाबाई मालती

माला बाई मालती चूतड़-चूत उछालती अचका-मचका दे-दे धचका नाभि कुंडली लचका-फचका वाह वाह, आहआह क्या कहने – – – – -? लंड खड़ा कर डालती! माला बाई नहीं अकेली, लिए फिरे वो सात सहेली सात सहेली खड़ी-खड़ी चूतड़ मचके घड़ी-घड़ी सात सहेली न्यारी-न्यारी मस्त माल सब प्यारी-प्यारी एक भोसवती ,दुजी मरालिनी तीजी शालिनी, चौथी मालिनी […]

मुठ मारना छोड़ चोदना शुरू कर दिया- 3

सकी गांड चोदने के बाद मेरा लण्ड-रस उसकी गांड में बह गया।
रीता निढाल होकर नीचे गिर गई। गरीबी और मज़बूरी आदमी के वाकयी दो सबसे बड़े रोग होते हैं। रीता की गांड भी इस रोग का शिकार हो गई थी।

मेरी बीवी की चुत की चुदाई

आदमी मेरी बीवी की गांड को शहला रहा था और कह रहा था तुम्हारी गांड बहुत-बहुत मस्त है गांड में डलवा दो मेरी बीवी कहने लगी गांड नहीं मरवानी वह कहने लगा प्लीज एक बार थोड़ा सा ही डालूंगा पर मेरी बीवी मना कर करती रही।

भाभी के बेड़े बडे चूतड़

अब भाभी भी गांड उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी चूत से ज्यादा भाभी की गांड मारने में मज़ा आ रहा था. थोड़ी देर बाद भाभी झड़ गई. मेने भी लैंड की स्पीड बाढ़ा दी और उनकी गंड में ही झड़ गया. फिर 2 मिनट तक ऐसे ही भाभी की गंड में लैंड डाले पड़ा रहा.

शराफत की देवी मेरी बहन- 10

मम्मी को चोदने के लिए ज्यादा इंतजार कर रहा था मुझे मम्मी की विशालकाय चूचियों को दबाने का और चूसने का मन कर रहा था, उनकी चूत का स्वाद चखने का मजा ही कुछ और है

नरम चुत मे कडक लंड से चुदाई

मैंने अपने लोड़े का टोपा उसकी योनि में प्रवेश करवा ही दिया जैसे जैसे वह धीरे-धीरे अंदर जा रहा था वहां से खून निकलने लगा था। वैदिता बहुत तेज चिल्लाने लगी थी मुझे लगा कहीं बेहोश ना हो जाए किंतु मैंने उसे दबोच कर रखा।

जवानी की निशानी चुदाई करवा के ली

मैं घूमने के लिए शिमला जा रहा था मुझे अकेले ही घूमने का शौक है मैंने दिल्ली से बस लिया और मैं शिमला के लिए निकल पड़ा मैं जिस सीट पर बैठा था उसी सीट में एक लड़की बैठी हुई थी मैंने उसे कहा मेरी विंडो वाली सीट है तो वह कहने लगी आप यहां […]