Tag: hindi sex story

बहन को चोदने की कहानी

मेरी बहन का फिगर मस्त है, उसके बूब्स बड़े और उसकी गांड भी उठी हुई और सेक्सी है | पता नही उस दिन क्या हुआ, मेरा मन डोल गया अपनी बहन के सेक्सी बदन को देखकर | मैंने उसे जगाया नही और ऐसे ही देखता रहा |

चोद चोद गांड पर वीर्य गिराते जाता

मोनीका के बदन के मजे लिए जब उसकी चूत से पानी बाहर छूटने लगा तो मैं भी झडने वाला था मैंने अपने वीर्य को मोनीका की गोरी गांड पर गिरा दिया। हम दोनों ने अपने कपड़े पहन लिए हम लोग काफी देर तक बात करते रहे

मौसी की चुदाई कर मैंने लंड चुसवाया

मैं मौसी की चूत को जीभ और होंठों से चूसता रहा और वो आह…उमहँ… आह… आह… ऊह… की आवाज़ निकलती रही. कुछ देर में मौसी का बदन अकड़ने लगा और वो अपने दोनों हाथों से मेरे सिर को अपने चूत पर कस के दबाने लगी.

एक्स बॉयफ्रेंड से शादी के बाद चुदवाने का मजा

मैंने अनिकेत और पिंटू दोनों से उनके रस को बाहर निकालने के लिए बोली, पर उन्होंने ध्यान नहीं दिया और बिना लंड को मेरी चूत और गांड से बाहर निकाले, मुझे बेड पर ले गए. जैसे तैसे मुझे बेड पर लेटाकर फिर से मेरी चूत और गांड को चोदने लगे.

देसी गर्ल की चुदाई विदेशी लौड़े से

मैंने चुदाई का गन्दा खेल शुरू कर दिया | मैंने उसकी चूत जो एक दम गुलाबी थी उसमे अपना लंड घुसाया और वो सिसकियाँ लेने लगी | उसके बाद मैंने उसे रफ़्तार के साथ चोदना चालू किया और उसकी चूत पे अपने लंड से वार करने लगा |

शराफत की देवी मेरी बहन- 8

उसकी बड़ी-बड़ी चूचियां हिमालय के चोटियों के समान मेरेेे लंड को सलाम कर रहे थे, बहन पहले मां के ब्लाउज के बटन खोल दिए मुझे इशारा करके चूूची चूसने को कहा को कहा, बहन दूसरी चूची चूसने लगा.

अजनबी मेरी चुचिया पकड़ मसलने लगा

उस पूरी रात वो लडक़ा मेरे घर पर ही रुका और पूरी रात उसने मेरी और माया की कई बार चुदाई की और साथ में मेरी गांड भी मारी । गांड मारवाने में बहुत दर्द हुआ पर अच्छा भी बहुत लगा अब जब भी मेरी चुदाई करवाती हूँ तो गांड जरुर मारवाती हूँ .

चुत ने लंड की सवारी की

वह अपने लंड को मेरी योनि के अंदर तक डाल रहे थे जिससे कि उनके अंदर एक अलग ही बेचैनी जाग जाती। जब उन्होंने अपने वीर्य को मेरी बड़ी चूतडो के ऊपर गिराया तो मैंने उन्हें कहा मुझे तो बहुत मजा आ गया।

भाभी को अपनी बीवी बना चोदा

इतनी टाईट चूत को रगड़ना किसी लंड के लिए भी आसान काम नहीं था और करीब 15 मिनट तक हम दोनों सम्भोग के मज़े लेते रहे, जिसमें उसने मेरा पूरा साथ दिया और फिर मैंने आखरी में धक्के देते हुए अपना पूरा वीर्य उसकी चूत में डाल दिया

सेक्स के बिना हर प्यार अधूरा है

मैं उसकी बाहों में गई तो उसने मेरे स्तनों को दबाना शुरू किया और मेरे होठों को चूसना शुरू किया मेरे अंदर की गर्मी बढ़ने लगी थी, मैं अपने आप को काबू में ना रख सकी। उसने मेरे स्तनों को चूसना शुरू किया तो मेरे शरीर से गर्मी अधिक मात्रा में बढने लगी।