Tag: hindisexstory

बाबा से चुत चुदवाई- 2

मैं और चूत मसलने लगी और एक उंगली को चूत के छेद में घुसेड दिया। अंदर स्वामीजी का वीर्य बह रहा था। मेरी उंगली अंदर तक चली गयी। मुझे इतना मज़ा आने लगा की मैं उंगली से योनि की चुदाई करने लगी। मेरी आँखों के सामने स्वामीजी की चुदाई घूमने लगी।

माँ की फ्रेंड की चुदाई का मौका

मेरे लंड आंटी की गांड में पूरा चला गया और आंटी तड़पती रही पर मैने कुछ नही सुना और अपना लंड आंटी की गांड के अंदर बाहर करता हुवे झटके मारता रहा। आंटी की आवाज़ भी कम होती जा रही थी और उनको भी मज़ा आने लगा।

नया पड़ोसी भी चोदू निकला

में रोज कभी चूत में खीरा या बैगन डाल कर खुद को शांत करती पर लण्ड की कमी खलती रहती। मेरी नजर बेड के नीचे पड़े कंडोम पे परी । वो वीर्य भी भरा हुआ था। मेरी तो चूत में जैसे कुलबुलाहट शुरू हो गयी। कंडोम को देख लग रहा था कि लण्ड कम से कम 9 इंच से कम नही होगा।

मुठ मारना छोड़ चोदना शुरू कर दिया- 2

रीता सिसकारियाँ लेती हुई बोली- निगोड़ी को चोद दीजिए न ! आज सुबह उठकर आपके लिए ही चिकनी करी है। सामने उसकी पाव भाजी की तरह फूली हुई गुदाज़ बुर दिखने लगी, अब अपने पर काबू रखना मुश्किल था।

मुठ मारना छोड़ चोदना शुरू कर दिया- 1

मैंने उसकी चूचियों की निप्पल उमेठ उमेठ कर खड़ी कर दीं थी। मेरा लोड़ा दबाते हुए राखी बोली- बड़ा मज़ा आ रहा है। इसे बुर में लगाओ न। जल्दी से चोद दो और मत तड़पाओ।

पिता ने चखा कोमल बेटी के यौवन का स्वाद

कोमल के बाल ज़ोर से पकड़े और उसका सर दबा दिया अपने लॅंड पे. कोमल मासूम थी. ये उसका पहला अनुभव था किसी लॅंड के साथ खेलने का. लॅंड उसको गले तक जा चुका था. उसकी सासे दब रही थी. लेकिन थोड़ी ही देर में लॅंड चूसना आ गया.

पदमा पड़ोसन गांड उछाल उछाल चुदवाया

मैंने भी फटाफट अपने कपड़े उतारे और अपना लंड उसके आगे कर दिया। वो उसे लालापॉप की तरह चूसने लगी। मैं भी बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गया था मेरा लंड पत्थर जैसा सख्त हो गया था।

कमलदास और अनुपा की अनोखी चुदास

कमलदास ने अपनी संधन अनुपा की चुदाई की और उनकी चुदाई होते हुये उनकी बेटी और उसके देवर ने देख लिए जिसे देखने के बाद शुभा ने भी अपने देवर से अपनी चुत चुदवाई।