Tag: Mastaram Ki Sex Kahaniya

Mastaram ki hindi kahaniya, Mastaram sex stories,mastaram chudai ki kahaniya,guru mastaram sex stories,मस्तराम की सेक्स कहानिया,mastaram ki nayi kahani,chudai stories,antarvasna.com,antarvasna new stories

शराफत की देवी मेरी बहन- 5

बहन मुंह को चूत में दाबने लगी और कहने लगी चाट कुत्ते की तरह और बगल से शहद गिरती थी मुझे जाांघो से लेकर पीछे चूतड़ों पर कई बार लगा कर चूसती रही और मुंह से सिसकियां निकलती रही, दोबारा से मेरा लंड खड़ा हो गया था. बहन बोली अब अपने लंड को चूूत का दर्शन कराओ

कजरी की कजरारे चुत- 1

मैंने बोला कजरी हम कल से तुमको देखे है तब से चोदने का प्लान बना रहे थे. जो फोटो तुम देखी हो ओ भी हम रखे थे. कजरी हसने लगी बोली हम तो आपको अपने चुत देंगे बाबू जी पर आपको भी हमें कोई गिफ्ट देना होगा. मैं मान गया और अपना लंड दे दिया चूसने को पर ओ माना कर दी बस लंड पर चूमा लेके मुस्कुरा के चली गई.

चुदने के लिए बेताब चुत लंड सक करने लगी

मैंने उसके कोमल होठों को चूसना शुरू किया उसे भी बहुत अच्छा महसूस होने लगा। जब हम दोनों एक दूसरे को किस करते तो मुझे बड़ा मजा आता मैंने जब अनीता के कपड़े उतारने शुरू किए तो उसके बदन से एक आग सी निकलने लगी। मेरे शरीर से भी गर्मी निकलने लगी मेरा शरीर तपता जाता।

मेरी मैनेजर ही मेरी कस्टमर निकली

मैंने मन में ठान लिया कि आज तो पलंग तोड़ परफॉरमेंस दूंगा और इसकी चूत फाड़ दूंगा. मेरे पास जोश बढ़ाने वाली गोली रखी थी तो मैंने वो गोली खा ली. अब मैं उसके पास गया और उसको बिस्तर पर धक्का दे दिया. वह बिस्तर पर जा गिरी और मैं अपने कपड़े उतारने लगा पर मेरी बॉस ने मुझे बीच में ही रोक दिया.

नयी नवेली दुल्हन की लोगो से चुदने की चाह

उसने मेरा पूरा का पूरा लंड धीरे धीरे करके अपने मुहं में ले लिया और तभी में उसके इस काम को करते हुए देखकर तुरंत समझ चुका था कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं था कि वो पहली बार किसी का लंड चूस रही है, क्योंकि मैंने ध्यान से देखा कि उसने लंड को अपने मुहं में लेने के लिए कोई भी संकोच किसी भी तरह का डर उसके चेहरे पर मुझे दिखाई नहीं दे रहा था वो तो बड़े मज़े से इस काम को करने जा रही थी.

दूसरे की बीवी की चुदाई की कामुत्तेजना

वो कहने लगी कि चलो अब तुम मुझे पीछे से चोदो. वैसे करने में हमे बड़ा मज़ा आएगा और मुझे यह बात कहते हुए जस्टीना तुरंत उल्टा हो गई और मैंने उसके पीछे से मेरा लंड उसकी चूत में डालने के लिए एक ज़ोर का झटका मारा तो जस्टीना ने दर्द की वजह से कहा कि ऊईईईईइ माँ में मर गई प्लीज थोड़ा धीरे से धक्के मारो ऊउईईईईईईई ना. फिर मैंने उसके सर के बालों को पकड़कर अपने लंड को अंदर डालने का काम लगातार ज़ारी रखा.

निकक्मे पति की बीवी को चोदता

मैंने उसकी टी-शर्ट और जीन्स उतार दी और अब वो मेरे सामने पेंटी और ब्रा में थी. फिर मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और उसे फिर से चूमना शुरू किया. अब वो भी मेरा साथ दे रही थी और वो बीच-बीच में सिसकारियाँ भी ले रही थी. फिर मैंने धीरे-धीरे उसकी ब्रा और पेंटी भी उतार दिए, अब वो बिल्कुल नंगी थी.

मेरा बचपन जवानी मे बदल गया-2

अपनी बीच वाली उंगली मेरी योनि में बाहर भीतर करने लगे। थोडी देर बाद उन्होने अपनी दूसरी उंगली भी डाल दी। मैं दर्द के मारे कराहने लगी। उन्होंने मुझे पुचकारा और धीरे धीरे योनि को सहलाना शुरू किया। मुझे कुछ आराम हुआ। उन्होंने अपनी अंडरवीयर उतार दी। उनका सूसू लंबा तथा कडा दिख रहा था।

शराफत की देवी मेरी बहन

अरे रानी तू  इतना दिन अपने भाई से क्योंं दूर रही चूत 20 मिनट चाटनेेे के बाद लंड को**निकाला बहन की चूत** में डाल दिया फिर धीरे धीरे झटके मारने लगा बहन को झुका कर अपना लंड**पीछे से उसकेेे चूत** में*डाल दिया और झटके देने लगा और अपने दोनों हाथों से पीछे से दोनों चुचियों को पकड़कर पीछे सेेे झटके मार रहा था.

नया साल मे नया माल

मेरा लंड खडा होगया मैंने तुरंत इसकी मुह से लंड निकाला और चुत मे पेल दिया. इसबार लंड असानी से चुत मे चला गया. उसकी चुत सेफच फच की मधुर आवाज से जोशीले होते गया. एक उंगली उसकी gaand के छेद मे डाल के gaand भी मारने लगा. मस्त मस्त चुदाई के माहोल बना रहा .